Blogger's Park Presentation (Blogging)

1,991 views

Published on

Things you need to know about blogging, making it popular and earning some bucks out of it. My Presentation for Web2.0 Community in Mindtree Ltd

Published in: Technology
2 Comments
1 Like
Statistics
Notes
  • its good explained
       Reply 
    Are you sure you want to  Yes  No
    Your message goes here
  • हमारा शरीर जल , वायु, आकाश , पृथ्वी और अग्नि

    इन पञ्च तत्वों से मिलकर बना है

    और इन्ही तत्वों में विलीन हो जाता है !

    इन सभी तत्वों का अपना अपना महत्व है !

    इन तत्वों में रोज काम आने वाला तत्व अग्नि है !

    पैदा होते ही अग्नि से हमें सेका जाता है !

    जीवन के अंतिम सास तक हमारे शरीर में

    विभिन्न रासायनिक क्रियाओ के कारण अग्नि पैदा होती है !

    जिसे हम उर्जा कहते है !

    यह उर्जा ५-१५ साल तक न्यूनतम, १५-४० साल तक

    अधिकतम और इसके बाद धीरे धीरे हो कर नष्ठ हो जाती है!

    मैक्सिमम उर्जा के सालो में शरीर से जैसा चाहे काम लिया जा सकता है !

    कुछ लोग इस उर्जा से सकारात्मक कार्य करते है !

    ऐसे लोग ऐसे लोग समाज का भला करते है ! समाज को उनका

    स्मरण रहता है ! इनमे से कुछ लोग नेता बन जाते है !

    नेता बनने के बाद इनकी उर्जा कहा लगती है, बताने की आवश्यकता नहीं है !

    कुछ लोग नौकरी पेशा में अपनी उर्जा की खपत करते है !

    जो अपनी सारी उर्जा अपने पेशे में झोक देते है !

    वे सफल पेशेकार सिद्ध होते है !

    कुछ लोग अपनी जिन्दगी के स्वर्णिम सालो का उपयोग नकारात्मक कार्यो के लिए करते है !

    जिससे ना तो समाज का भला होता है और नहीं व्यवस्था को कोई लाभ मिलता है !

    अपने सुख के लिए दुसरो को परेशान करना, किसी को चिंता में डालना , किसी का भला नहीं सोचना

    और टांग खिचाई करने में ही अपनी उर्जा व्यय कर देते है !

    ऐसे लोगो ना तो समाज और नाही अपने घर के लिए उपयोगी है !

    इन लोगो में से ही नक्सल वादी , आतंकवादी, दहशत वादी और ब्लैक मेलर पैदा होते है !

    'नंगे से खुदा डरता है ' वाली कहावत इन पर सटीक बैठती है !

    जिनको तंग किया उनकी सारी बददुआ इनके साथ जीवन के अंतिम साँस तक रहती है !

    खल नायक के रूप में लोग इन्हें याद रखते है !

    यदि ये लोग कटोरा ले कर भीख मांगना शुरू कर दे तब भी ये बददुआ से बच सकते है !

    वैसे भी ये महलो में रहने वाले भिखारी है !

    कुछ लोग इन स्वर्णिम युग का इस्तेमाल ना तो सकारात्मक रूप में करते है

    और नाही नकारात्मक रूप में !

    ऐसे लोग निकम्मों की जाति में आते है !

    ऐसे लोग पृथ्वी के लिया भार है !

    इनका जीना या मरना कोई मायने नहीं रखता !

    ' अब पछताए क्या होत है जब चिडिया चुन गयी खेत '

    यह कहावत इन्ही लोगो के लिए बनी है !

    कहा गया जो अपनी उर्जा का जितना उपयोग

    सकारात्मक कार्य में करेगा उसको उतनी ही उर्जा भगवान देगा !

    उर्जा के सही सकारात्मक उपयोग से ही देश , समाज और हमारा भला होगा !

    'सर्वेपि सुखिनः सन्तु , सर्वे सन्तु निरामयाः

    सर्वे भद्राणि पश्यन्तु , माँ कश्चित् दुःख माप्नुयात '
       Reply 
    Are you sure you want to  Yes  No
    Your message goes here
No Downloads
Views
Total views
1,991
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
227
Actions
Shares
0
Downloads
8
Comments
2
Likes
1
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Blogger's Park Presentation (Blogging)

  1. 1. Blogger’s Park Things, you can start with blogging Rohan Chandane 22 August 2008 © 2008 MindTree Consulting
  2. 2. Why blog? Write and publish articles About technology, life-style, experiences, interests Create a own online diary Personal or public diary. Allowing particular viewers. Community discussion place Shared blog among bunch of people Business blogging Regular communication with customer and employees. Informing them about new products and services. Self-Help Build up a portfolio. Slide 2
  3. 3. Creating your first blog Crate an online account with Google Create an online account or Host your blog site with it Its CMS, set up a site with blog Its another CMS, set up a site with blog Slide 3
  4. 4. Creating blog with Slide 4
  5. 5. Writing and publishing a blog Labels: Based on the content that you have just written Slide 5
  6. 6. Reaching to your audience Layout > Page Manager > Add a Gadget Slide 6
  7. 7. Feeds A web feed (or news feed) is a data format used for providing users with frequently updated content. Content distributors syndicate a web feed, thereby allowing users to subscribe to it. RSS Atom Indicated by this symbol Slide 7
  8. 8. Slide 8
  9. 9. Feed Count & Aggregators Chicklet Email subscription Slide 9
  10. 10. Earn some bucks AdSense is an advertisement serving program run by Google. Website owners can enroll in this program to enable text, image, and more recently, video advertisements on their websites. These advertisements are administered by Google and generate revenue on either a per-click or per-impression basis. Google is also currently beta-testing a cost-per-action based service. Slide 10
  11. 11. Steps to start using AdSense - Website Information - Contact Information - Policies Other ads media Slide 11
  12. 12. Continued… Putting ad script in page Slide 12
  13. 13. Blog traffic analysis Sign up for the account Go to Dashboard Slide 13
  14. 14. Continued… Create New Website Profile Slide 14
  15. 15. Continued… Copy the tracking code block into every webpage you want to track immediately before the </body> tag. At Dashboard you will see After tracking code activation, click on ‘View Reports’ for detail analysis for the website Slide 15
  16. 16. Analytics Dashboard for Blog/Website Slide 16
  17. 17. Little bit on SEO Goto Webmaster’s Dashboard Add site to Webmaster Verify by tracking code Slide 17
  18. 18. Continued… What you can find out Slide 18
  19. 19. Continued… Slide 19
  20. 20. Imagination Action Joy www.mindtree.com © 2008 MindTree Consulting

×