डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्तत की देखभाल
-- स्वप्ना किशोर
जब किसी व्यक्ति िो डिमेंशशया (मनोभ्रंश) हो जािा है, िो पररवार वाले,...
2
©2014, Swapna Kishore. All rights reserved. (©2014, स्वप्ना किशोर. सब अचििार सुरक्षक्षि)
पररवार वाले यह भी सो िे हैं कि ...
3
©2014, Swapna Kishore. All rights reserved. (©2014, स्वप्ना किशोर. सब अचििार सुरक्षक्षि)
डिमेंशशया िे िारण व्यक्ति अपनी ...
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×

Hindi: Caring for someone with dementia

1,904

Published on

This short Hindi article is meant for family members, friends, and colleagues who want to someone with dementia but don't know what they should do. The article provides a simple and helpful introduction on how to approach the overwhelming role of a dementia caregiver. इस संक्षिप्त लेख में डिमेंशिया (मनोभ्रंश) से ग्रस्त व्यक्ति की देखभाल का एक सरल व उपयोगी परिचय है.

देखभाल के अनेक पहलू हैं. इनपर विस्तृत चर्चा के लिए इस लिंक पर अनेक पृष्ठ देखें: http://dementiahindi.com/caregivers/

Published in: Education
0 Comments
0 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

  • Be the first to like this

No Downloads
Views
Total Views
1,904
On Slideshare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
9
Actions
Shares
0
Downloads
0
Comments
0
Likes
0
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Hindi: Caring for someone with dementia

  1. 1. डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्तत की देखभाल -- स्वप्ना किशोर जब किसी व्यक्ति िो डिमेंशशया (मनोभ्रंश) हो जािा है, िो पररवार वाले, शमत्र, सहिमी, और अन्य शुभच ंिि उस व्यक्ति िी मदद िरना ाहिे हैं, पर समझ नह ं पािे कि तया िरें और तया न िरें. इस लेख में डिमेंशशया देखभाल िा एि छोटा व उपयोगी परर य है. पहले यह समझें कक डिमेंशिया के कारण व्यक्तत को ककस प्रकार की ददतकतों हो रही हैं अचििांश लोग सो िे हैं कि डिमेंशशया अन्य बढ़िी उम्र िी ििल फों जैसा है. इसमें खास तया है? आखखर सभी बुज़ुगग िो यह भूलिे रहिे हैं कि ाबी िहााँ रखी है, और हहसाब िरने में उन्हें पहले से ज़्यादा समय लगिा हैं. आमिौर पर लोग यह नह ं पह ानिे कि डिमेंशशया िे लक्षण सामान्य बुढापे से फ़िग हैं और मक्स्िष्ि िे किसी रोग िे िारण होिे हैं. वे यह नह ं जानिे कि डिमेंशशया िा असर व्यक्ति िी क्षमिाओं पर सामान्य बुढापे से िह ं ज़्यादा गंभीर और च ंिाजनि होिा है. डिमेंशशया से सो ने-समझने और िाम िरने िी क्षमिा िम हो जािी है. व्यक्ति िो सामान्य, दैननि िायग िरने में भी हदतिि होने लगिी है. बेट दोपहर िा खाना बना िर रख गयी है, पर अम्मा िो याद नह ं रहिा कि खाना िैयार रखा है, इसशलए वे भूखी रह जािी हैं. खाना देख भी लें, िो उन्हें यह नह ं याद कि उसे िै से गरम िरें और िै से परोसें. एि िोखेबाज दादाजी िी सार जमा पूाँजी हड़प िर लेिा है तयोंकि डिमेंशशया िे िारण दादाजी पैसों से सम्बंचिि बािें नह ं समझ पािे और बबना पढ़े फॉमग पर दस्िखि िर देिे हैं. पापा घर िा पिा और रास्िा भूल जािे हैं. नानी िो याद नह ं कि बाथरूम िा नल िै से खोलें. पररवार वाले इस बदले और अजीब व्यवहार िो आलस या लापरवाह समझिे हैं तयोंकि वे यह नह ं जानिे कि यह व्यवहार समझने और िाम िरने िी क्षमिाओं िी चगरावट िी वजह से है. उलटा जब अम्मा शमलने-जुलने में संिो िरने लगिी हैं िो पररवार वाले सो िे हैं कि अम्मा निारात्मि हो गयी हैं, उन्होंने क्जंदगी से हार मान ल है. और यहद अम्मा उत्िेक्जि हो जािी हैं या िु छ क्ज़द्द िरिी हैं िो वे सो िे हैं कि अम्मा िो उम्र िे साथ सनिी और स्वाथी हो गयी हैं, और उनिा स्वभाव रूखा हो गया है. परन्िु जब पररवार वाले समझ पािे हैं कि शायद यह डिमेंशशया िा असर है, िब वे व्यक्ति िी मदद िे शलए उच ि और िारगर िर िे ननिाल पािे हैं. अजीबोगर ब व्यवहार से परेशान नह ं होिे, बक्कि वे इस व्यवहार िे ज़ररये व्यक्ति िो हो रह हदतििों िा अंदाज़ा लगा पािे हैं. डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्तत तया कर सकते है और तया नहीीं, इसका अनुमान वास्तववकता पर आधाररत होना चादहए, बेबुननयाद आिाओीं पर नहीीं पररवार वाले अिसर इस उम्मीद िो पिड़े रहिे हैं कि व्यक्ति िा डिमेंशशया उप ार से पूर िरह दूर हो जाएगा, पर स िो यह है कि दवाई और अन्य िर िों से संभव फायदा अत्यंि सीशमि है.
  2. 2. 2 ©2014, Swapna Kishore. All rights reserved. (©2014, स्वप्ना किशोर. सब अचििार सुरक्षक्षि) पररवार वाले यह भी सो िे हैं कि व्यक्ति अगर िोशशश िरेंगे िो कफर से सामान्य हो सििे हैं, बस व्यक्ति िु छ िोशशश िो िरें! अफ़सोस, यह आशा गलि है. व्यक्ति से अनुच ि उम्मीदें रखने से अचिि समस्याएाँ पैदा होिी हैं. उदाहरण िे िौर पर, पररवार वाले डिमेंशशया से ग्रस्ि व्यक्ति पर जोर िालिे रहिे हैं कि व्यक्ति अपने िाम ठीि से और िेज़ी से िरें, हालााँकि यह व्यक्ति िी िाबबल यि िे बाहर है. वे व्यक्ति िे िाम में गलनियााँ ननिालिे हैं, टोिाटािी िरिे हैं, और िाम ठीि नह ं हुआ है, इस बाि िो लेिर गुस्सा या ननराशा हदखािे हैं. पर व्यक्ति िो पहले ह िाफी हदतििों िा सामना िर रहे हैं और अपनी िरफ से िोशशश िर रहे हैं. पररवार वालों िा यह रवैया उन्हें परेशान िरिा है. फलस्वरूप व्यक्ति या िो िाम िरने में और भी ढ ले पड़ जािे हैं या वे उत्िेक्जि हो जािे हैं. यह देख िर पररवार वाले अचिि परेशान हो जािे हैं और अपनी प्रनिकिया हदखािे हैं. इस दुश् ि से ननिलने िे शलए पररवार वालों िो डिमेंशशया िी सच् ाई िो स्वीिारना होगा, व्यक्ति से अपनी उम्मीदों िो उसिे अनुसार ह रखना होगा, और क्स्थनि िे अनुसार मदद िरनी होगी. देखभाल करने वाले ऐसे तरीके ढींढ सकते हैं क्िन से व्यक्तत सुरक्षित भी रहें और सींतुष्ट भी. अगर देखभाल िरने वाले डिमेंशशया िा व्यक्ति पर असार समझने लगें िो वे देखभाल िे उच ि िर िे सो पािे हैं. बाि ीि िा ह ववषय ल क्जए. हो सििा है कि डिमेंशशया से ग्रस्ि व्यक्ति आपिो ठीि से न सुन पा रहे हों, या उन्हें िु छ शब्दों िे अथग याद नह ं हों. या बाि ीि पर वे ध्यान न रख पािे हों, और लंबे वातयों और पे ीदा सवालों िे बी वे बाि िा शसर खो देिे हों. देखभाल िरने वाले अगर जानिे हों कि व्यक्ति िो इस प्रिार िी समस्याएाँ हैं, िो यह भी स्पष्ट हो जाएगा कि बाि ीि िे हटप्स तयों िारगर शसद्ध होिे हैं: जैसे कि, व्यक्ति िे सामने आिर, आाँख शमलािर बाि िरना, सरल शब्दों और छोटे वातयों िा इस्िेमाल िरना, स्पष्ट उच् ारण िरना, शांि रहना, पे ीदा प्रश्न न िरना. यहद व्यक्ति वस्िुओं िे नाम न पह ान पा रहे हैं, िो वस्िु िी ओर संिे ि िरना. यह और अन्य ऐसे सुझाव पर अम्ल िरने से व्यक्ति िे साथ बाि ीि में बहुि सुिार हो सििा है. या घर में बदलाव िो ह लें. बाथरूम िहााँ है, इसिे शलए अगर जगह जगह साईन लगे हों, िो िराए हुए व्यक्ति िो मदद हो सििी है. िमरों में बेिार िा सामान न फै ला हो और िार न लटिे हों, िो व्यक्ति लिे वति ज़्यादा सुरक्षक्षि महसूस िरेंगे. द वारों पर लगे ग्रैब बार से लने में आसानी हो सििी है. घर में ऐसे अनेि पररविगन संभव हैं क्जन से व्यक्ति सुरक्षक्षि भी महसूस िरें और उन्हें अपने िाम िरने में भी िु छ आसानी हो. डिमेंशशया िे असर िी समझ हो िो व्यक्ति में अ ानि बदलाव िे िारण समझने में भी आसानी होगी. मान ल क्जए कि व्यक्ति एि हदन बहुि सुस्ि नज़र आएाँ. यहद यह याद िरें कि
  3. 3. 3 ©2014, Swapna Kishore. All rights reserved. (©2014, स्वप्ना किशोर. सब अचििार सुरक्षक्षि) डिमेंशशया िे िारण व्यक्ति अपनी ििल फें बिा नह ं पािे हैं िो शायद आप जकद सो पायेंगे कि यह ेि िर लें कि व्यक्ति िो बुखार या पैर में मो िो नह ं. यूं िहहये, आप व्यक्ति िी समस्या समझने िे शलए उनिे व्यवहार िो एि सुराग मानें, और कफर हल ढूाँढें. डिमेंशशया से ग्रस्ि व्यक्ति िा हर हदन हदतििों से भरा होिा है. उनिा एि ननयशमि हदन याग िय हो िो उन्हें िम िनाव होगा तयोंकि उन्हें अंदाज़ा रहेगा कि किस वति तया िरना है. पर सब लोगों िी िरह, डिमेंशशया वाले व्यक्ति भी रुच िर गनिववचियां पसंद िरिे हैं. वे भी ाहिे हैं कि वे उपयोगी िाम िरें, बेिार न हों. उनिे हदन ये में िु छ रो ि गनिववचियां और खेल शाशमल िरें. ऐसे भी िु छ िाम शाशमल िरें क्जन से उन्हें लगे कि उनिा िु छ महत्त्व है. इससे व्यक्ति अचिि संिुष्ट और प्रसन्नच त्ि रहेंगे, और बािी वति भी, अन्य िामों िे शलए, ज़्यादा सहयोग देंगे. देखभाल व्यक्तत की क्स्िनत के अनुकल होनी चादहए देखभाल िे शलए िोई एि फामूगला नह ं है जो सब डिमेंशशया से ग्रस्ि व्यक्तियों पर लागू िरा जाए. हर व्यक्ति अलग है, और उनिी क्स्थनि भी. याद रखें कि किसी भी व्यक्ति पर डिमेंशशया िा असर इस बाि पर ननभगर है कि उनिे मक्स्िष्ि िे किस भाग में कििनी हानन हुई है, और समय िे साथ हानन किस प्रिार बढ़िी है. व्यक्ति पर उनिी बदलिी क्षमिाओं, व्यक्तित्व, इनिहास, स्वास््य, पसंद-नापसंद, िाबबल यि, रूच यााँ, पररवार और सामाक्जि माहौल, विगमान क्स्थनि, इन सब िा असर होिा है. इन सब िे अनुसार ह देखभाल िो ढालना होिा है. डिमेंशशया से ग्रस्ि व्यक्ति िी देखभाल एि बड़ी क्जम्मेदार है. यह मेहनि और लग्न िा िाम है. किसी अपने िी हालि इस िरह हदन-ब-हदन बबगड़िे देखना हदल िो नन ोड़ िर रख देिा है. देखभाल िरने वाले थि जािे हैं और अिसर गलनियााँ भी िरिे हैं. वे िई बार खुद िो िोसिे हैं, पछिावा महसूस िरिे हैं, या हिाश और उदास हो जािे है. वे अवसाद िा शशिार हो सििे हैं. पर देखभाल में िु छ मिुर पल भी होिे हैं, खासिौर पर जब देखभाल िरने वाले इस बाि पर िें हिि रह पािे हैं कि व्यक्ति डिमेंशशया िे बावजूद िई ीज़ें िर पािे हैं और िई गनिववचियों में आनंद उठा पा रहे हैं. जब देखभाल बहुि थिा रह हो और व्यक्ति िी चगरावट देखना हदल पर बहुि भार पड़ रहा हो, िो इन साथ बबिाए पलों िी सुखद यादों िा सहारा रहिा है और यह यादें देखभाल िरने िे शलए हहम्मि और दृढ़िा देिी हैं. (डिमेंशशया और सम्बंचिि देखभाल पर अचिि जानिार िे शलए देखें हमारा हहंद वेबसाइट Dementia Hindi और अंग्रेज़ी वेबसाइट Dementia Care Notes. अंग्रेज़ी और हहंद ववडियो भी उपलब्ि हैं, यहााँ क्तलि िरें, इन सब सािनों में संदभग है भारि में घर में हो रह डिमेंशशया देखभाल.)

×