HINDI

7,083 views

Published on

1 Comment
4 Likes
Statistics
Notes
No Downloads
Views
Total views
7,083
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
5
Actions
Shares
0
Downloads
170
Comments
1
Likes
4
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

HINDI

  1. 1. राजभाषा िहदी के क्षे म आधुिनक ौ ोिगकी का योग कवल कृ ंण े वर तकनीक िनदे शकई-मेल : kewal.krishan@nic.in 1
  2. 2. क यूटर पर हं द तथा भारतीय ं भाषाओं क ूयोग क िलए मानक े ेइनको डं ग, मानक कजीपटल ले-आउट ुं तथा मानक फ टस क ूयोग क े आवँयकता य ? 2
  3. 3. Proprietary Code Softwareजैसे – कृ ित दे व, अ र फॉर वंडोज, ए.पी.एस.,लीप ऑ फस, इ म, ौीिल प, वंक , आकृ ित आ द • इन सॉ टवेयर से आप अपने कायालय का अंमेजी क तुलना म कवल 10-15% काय ह हं द म कर सकते ह । े • हं द म तैयार फाइल का आदान-ूदान आसानी से नह ं कर सकते । http://rajbhasha.nic.in/ordershin.htm http://rajbhasha.nic.in/orderseng.htm 3
  4. 4. भाषायी क यूटर करण ंयूनीकोड क ूयोग से े• आप 100% काय हं द म कर सकते ह । जैसे – वड ूोसेिसंग, डाटा ूोसेिसंग, ई-मेल, वैबसाइट िनमाण आ द।• यह अंतरा ीय मानक है• यह अंमेजी क तरह ह काय करता है ।• हं द म बनी फाइल का आसानी से आदान-ूदान कर सकते ह ( कसी भी ऑपरे टं ग िसःटम तथा ॄाउजर म)• हं द क -वड पर गूगल या कसी अ य सच इं जन म सच कर सकते ह ।• िन:शु क
  5. 5. भाषा ूौ ोिगक मानक Application New Standard componentCharacter Encoding यूिनकोडFont ओपन टाइप फ टस Operating System Independent & Browser Independent Open Type Fonts 5
  6. 6. यूिनकोड या है ? यूिनकोड ू येक अ र क िलए एक वशेष न बर ूदान करता है , े चाहे कोई भी लेटफॉम हो, चाहे कोई भी ूोमाम हो, चाहे कोई भी भाषा हो।•यूनीकोड मानक म व क लेखनीब भाषाओं क िलए सब करै टर क े ेइनकोड करने क मता है ।• यूनीकोड 16- बट इनको डं ग का ूयोग करता है जो 65000 करै टर से भीएयादा (65536) क िलए कोड- वाइं ट उपल ध कराते ह। े• यूनीकोड ःटडड ू येक करै टर को एक वल ण सं या मक मान औरनाम दे ते है ।• भारतीय भाषाओं क िलए Unicode Encoding क िलए UTF-8 का े ेूयोग होता है । 6
  7. 7. क -बोड ले-आउट• इनस ब ट (standardized by DOE in 1986)• रे िमं टन• फोने टक वजुअल फोने टक ले-आउट 7
  8. 8. INSCRIPT क -बोड ले-आउट 8
  9. 9. INSCRIPT टाइ पंग सीखने क िलए – ेwww.ildc.in साइट से वक प न: 12 िहन्दी एवं अं ेजी के िलए आसान टंकण िशक्षक 9
  10. 10. संघ क राजभाषा : हं द रा य क राजभाषाएं छतीसगढ़ हमाचल ूदे श अ णाचल ूदे श कनाटक करल े म य ूदे श हं द हं द असमी क नड़ मलयालम हं द उ ड़सा महारा म णपुर िमजोरम नागालड पंजाब िमजो, अंमेजी अंमेजी उ ड़या पंजाबी मराठ म णपुर (मेतई) िस कम तिमल नाडू आ ी ूदे श च ड गढ़ ऽपुरा राजःथान हं द नेपाली, अंमेजी तिमल बंगाली तेलूगु पंजाबी अंमेजी, Kokborok उद ू हं दLanguages गोवा गुजरात ह रयाणा झारखंड ल प मेघालय क कणी हं द हं द मलयालम अंमेजी गुजराती मराठ हं द पंजाबी संताली अंमेजी Khasi, Garo प म बंगाल बहार दादर एवं नगर उ र ूदे श असम हवेली दमन एवं व हं द बंगाली असमी मैथली गुजराती गुजराती उद ू नेपाली बंगाली हं द मराठ अंमेजी बोडो उद ू हं द मराठ ज मू एवं अंडमान एवं द ली पां डचेर उतराखंड काँमीर िनकोबार प हं द उद ू तिमल हं द हं द पंजाबी कँमीर मलयालम संःकृ त बंगाली उद ू तेलूगु उद ू तिमल, तेलूगु
  11. 11. यूिनकोड enable करने क ू बया ( हं द तथा अंमेजी वजन) आपराजभाषा वभाग क साइट http://rajbhasha.gov.in तथा http://rajbhasha.nic.inक मेन पेज से ई - उपकरण / e – Tools े1. क यूटर म यूिनकोड को स बय कसे कर ? - ं ै लक करपर लक करक ले सकते ह । े 11
  12. 12. 12
  13. 13. 13
  14. 14. 14
  15. 15. Intelligent Keyboard solution Virtual Keyboard solution (Microsoft Indic Language Input Tool) 15
  16. 16. Virtual Keyboard solution(Microsoft Indic Language Input Tool) 16
  17. 17. वंडोज ए स पी म रे िमं टन, इन ःब ट तथा फोने टक क -बोड स बय करने क िलए े1. Go to Start-> Control http://bhashaindia.com Panel > Regional & साइट पर जाए Language Options Click on Tools >> Downloads >Click on Languages Tab >> Hindi Download Tick the Check box to (Vista/Windows 7 32 bit) Install files for complex A zip file will be downloaded. scripts... and click OK. Unzip the folder and Run or2. Click OK double click Hindi Indic Input 23. You will be required to Setup. Once the installation place the Windows XP process is complete, Hindi CD in the CD drive to Indic Input 2 has been enable Indic languages successfully installed will be including Hindi displayed.Reboot the System 17
  18. 18. वंडोज ए स पी म वजुअल फोने टक (Intelligent) क -बोड स बय करने क िलए े1. Go to Start-> Control http://specials.msn Panel > Regional & Language Options .co.in/ilit साइट पर जाए >Click on Languages Tab Click on Hindi >> Install Tick the Check box to Desktop version >> Install Install files for complex Now पर लक कर । scripts... and click OK. hindi.exe file will be2. Click OK downloaded3. You will be required to Double click Hindi.exe Setup. place the Windows XP Once the installation process is CD in the CD drive to complete, Microsoft Indic enable Indic languages Language Input Tool has been including Hindi successfully installed will be displayed.Reboot the System 18
  19. 19. वंडोज वःटा/7 म रे िमं टन, इन ःब ट तथा फोने टक क -बोड स बय करने क िलए े http://bhashaindia.com साइट पर जाए Click on Tools >> Downloads >> Hindi Download (Vista/Windows 7 32 bit) A zip file will be downloaded. Unzip the folder and Run or double click Hindi Indic Input 2 Setup. Once the installation process is complete, Hindi Indic Input 2 has been successfully installed will be displayed. 19
  20. 20. वंडोज वःटा/7 म वजुअल फोने टक (Intelligent) क -बोड स बय करने क िलए े http://specials.msn.co.in/ilit साइट पर जाए Click on Hindi >> Install Desktop version >> Install Now पर लक कर । hindi.exe file will be downloaded Double click Hindi.exe Setup. Once the installation process is complete, Microsoft Indic Language Input Tool has been successfully installed will be displayed. 20
  21. 21. हं द सॉ टवेयर िनशु क डाउनलोड करने क िलए े http://bhashaindia.comFor Remington, Inscript & Phonetic Keyboard layout क िलए े 21
  22. 22. 22
  23. 23. Microsoft Indic Language Input ToolIntelligent Transliteration keyboard http://specials.msn.co.in/ilit 23
  24. 24. Google Visual Transliteration keyboardhttp://www.google.com/ime/transliteration/ 24
  25. 25. ओपन टाइप फ टस डाउनलोड क िलए े– www.ildc.in साइट से वक प न: 4 25
  26. 26. For Fonts Convertor(Non Unicode fonts like Akshar, ISM, APS, Akruti, KrutiDev etc. to Unicode)http://www.ildc.inChoose the language. (Hindi)Click on the ‘Download’Click Option No. 6(सावर्ि क िहन्दी फॉन्ट कोड एवं भंडारण कोड पिरवतर्क)A zip file will be downloaded.Unzip the folder and run setup.exe file.Parivartan software will be installed in your system.With the help of Parivartan, you can convert non Unicode fontsHindi files to Unicode’s Mangal font. 26
  27. 27. 27
  28. 28. 28
  29. 29. 29
  30. 30. 30
  31. 31. For Fonts Convertor (Non Unicode fonts like Akshar, ISM, APS, Akruti, KrutiDev etc. to Unicode)http://www.bhashaindia.comClick on Tools & Resources and DownloadTBIL Converter 3.0 31
  32. 32. राजभाषा िवभाग के तकनीकी क्षे म मुख्य कायर्िहदी योग म सहायक सॉ टवेयर कािवकास व जानकारीकं प्यूटर पर िहदी योग म िशक्षणकायर् म का आयोजनकं प्यूटर पर िहदी के योग संबंधीस्प ीकरण व समस्या का समाधान 32
  33. 33. राजभाषा वभाग ारा वकिसत हं द म काय करने क िलए े सहायक सॉ टवेयर• विभ न भारतीय भाषाओं क मा यम से ऑनलाइन ःवयं हं द िश ण पैकज “लीला” े े (क नड़, मलयालम, तिमल, तेलुग, बंगला, असिमया, उ ड़या, म णपुर , मराठ , पंजाबी, ू नेपाली, कँमीर , गुजराती व अंमेजी क मा यम से) http://rajbhasha.gov.in (िन:शु क) े• अंमेजी से हं द अनुवाद मंऽ-राजभाषा ( व ीय, ूशासिनक, कृ ष, लघु उ ोग, सूचना- ूौ ोिगक , ःवाः य सुर ा, ब कग तथा िश ा ेऽ म) http://rajbhasha.gov.in (िन:शु क) ं• ौुतलेखन –राजभाषा ( हं द ःपीच से हं द टे सट) (सशु क उपल ध)• ई-महाश दकोश उ चारण स हत भाषीय एवं दशीय श दकोष http://rajbhasha.gov.in (िन:शु क)• कं प्यूटर पर उपलब्ध िहदी टेक्स्ट को उच्चारण के साथ पढ़कर सुनाने के िलए ‘ वाचक’ नामक सॉफ्टवेयर 33
  34. 34. लीला पा यबम क िलए ऑनलाइन पर े ा ूणालीभाषा योगशालाएं 34
  35. 35. िहदी म कं प्यूटर िशक्षण कायर् म 35
  36. 36. िहदी म कं प्यूटर िशक्षण कायर् म 36
  37. 37. िहदी म कं प्यूटर िशक्षण कायर् म 37
  38. 38. िहदी म कं प्यूटर िशक्षण कायर् म 38
  39. 39. राजभाषा वभाग क वेबसाइट का पता www.rajbhasha.gov.in या www.rajbhasha.nic.in 39
  40. 40. मशीन अनुवाद मंऽ – राजभाषा (इं टरनेट तथा ःटडलोन वजन) http://rajbhasha.gov.in साइट पर जाकर ई - उपकरण / e – Tools >> मंऽ – राजभाषा पर लक कर । गूगल – शांसलेशन http://translate.google.com/translate_t तथा http://google.com/accounts 40
  41. 41. 41
  42. 42. 42
  43. 43. 43
  44. 44. 44
  45. 45. 45
  46. 46. Google Translation (अंमेजी से हं द तथा हं द से अंमेजी)http://translate.google.com/translate_t 46
  47. 47. Google Translator toolkit (अंमेजी से हं द तथा हं द से अंमेजी)http://google.com/accounts 47
  48. 48. 48
  49. 49. 49
  50. 50. 50
  51. 51. ऑनलाइन श दकोश ई-महाश दकोश http://rajbhasha.gov.in साइट पर जाकर ई - उपकरण / e – Tools >> ई-महाश दकोश पर लक कर । गूगल – श दकोश http://google.com/dictionary 51
  52. 52. 52
  53. 53. 53
  54. 54. Google श दकोश http://google.com/dictionary 54
  55. 55. यूिनकोड फ टस म वेबसाइट बनाने कआवँयकता य ?नॉन यूिनकोड फ टस जैसे कृ ित दे व, अ र फॉर वंडोज,ए.पी.एस., लीप ऑ फस, इ म, ौीिल प, वंक , आकृ ितआ द का ूयोग करक हं द वेबसाइट बनाने पर े- EOT (Embedded Open Type Fonts)Internet Explorer browser क ूयोगकताओं क े ेिलए बनानी पड़ती है ।Mozila Firefox, Opera तथा अ य ॄाउजर क ेूयोगकताओं क िलए कोई वक प नह ं है । े 55
  56. 56. हं द वेबसाइट का िनमाण• पहले से वकिसत हं द वेबसाइट (नॉन यूिनकोड फ टस म वकिसत) को यूिनकोड एनको डं ग क अनु प वकिसत करना े• नई वेबसाइट का िनमाण 56
  57. 57. पहले से वकिसत हं द वेबसाइट (नॉन यूिनकोड फ टस म वकिसत) को यूिनकोड एनको डं ग क अनु प वकिसत करना े1) िसःटम को यूिनकोड enable करने क ू बया http://rajbhasha.gov.in या http://rajbhasha.nic.in क मेन पेज से ई - उपकरण / e – Tools े 1. क यूटर म यूिनकोड को स बय कसे कर ? - ं ै लक कर पर लक करक ले सकते ह । े2) फ टस कनवटर (Non Unicode fonts like Akshar, ISM, APS, Akruti, KrutiDev etc. to Unicode) 57
  58. 58. http://ildc.inसाइट पर जाकर हं द म लक कर >> डाउनलोड पर लक कर >>वक प सं या 5 से(साव ऽक ह द फॉ ट कोड एवं भंडारण कोड प रवतक)सॉ टवेयर को डाउनलोड करक ःथा पत कर । आपक मशीन म प े रवतनसा टवेयर ःथा पत हो जाएगा ।(File Format : *.doc, *.rtf, *.xls) 58
  59. 59. http://bhashaindia.comसाइट पर जाकर Tools & Resources पर लक करक ेTBIL Converter 3.0 डाउनलोड करक ःथा पत कर । ेParivartan सॉ टवेयर या TBIL Convertor क ारा ेपहले से नॉन यूिनकोड म तैयार website contents कोयूिनकोड आधा रत मंगल फ ट म बदल ।(File Format : *.txt, *.doc, *.docx, *.rtf, *.xls,*.mdb and MS-SQL database files) 59
  60. 60. Web Editor म जाकर हं द contents (यूिनकोड) क html, ेasp pages का िनमाण कर ।यह सुिन त करने क िलए क हं द वेब पृ सभी इं टरनेट ॄाउजर म ेठ क ूकार से दखाई द इसक िलए अपने html/asp pages को ेtext editor म खोल । 60
  61. 61. Open all the hindi HTML pages one by one in any editor like Frontpage/Notepad and insert the following code between the <HEAD> and</HEAD> tags -<html><head><meta http-equiv="Content-Type" content="text/html; charset=utf-8">----</head>This code you have to include on all hindi HTML pages. 61
  62. 62. डाटाबेस म हं द तथा भारतीय भाषाओं म कायNation‐wide Unique ID Project• The  Unique  Identification  Authority  of  India  (UIDAI)  was  established  in  2009  by  the  Government of India, with the developmental mandate of setting up the infrastructure  to provide a universal way of uniquely identifying Indian residents.• AADHAAR,  a  12‐digit  unique  identification  number  (UID)  that  will  be  provided  after  getting the demographic and biometric information of an individual.• AADHAARs guarantee  of  uniqueness  and  centralized  online  identity  for  building  the  multiple services and applications• AADHAAR  give  ability  to  access  these  web  based  services  and  resources,  anytime,  anywhere in the country Aadhar – Towards foundation of Nation‐wide multilingual web based services accessible to  its citizens irrespective devices &  platforms   62
  63. 63. हं द िश ण योजना : पर ा प रणाम क यूटर करण ं
  64. 64. Technologies Developed under consortium mode projects• English to Indian Languages Machine Translation System [6 Language Pairs: English to Hindi, Marathi, Bengali, Oriya, Tamil, Urdu.]• Indian Languages to Indian Languages Machine Translation System [9 Language Pairs: Telugu‐Hindi, Hindi‐Tamil, Urdu‐Hindi, Kannada‐Hindi,   Punjabi‐Hindi, Marathi‐Hindi, Bengali‐Hindi, Tamil‐Telugu, Malayalam‐Tamil]• Cross‐Lingual Information Access [6 Languages  : Hindi , Bengali, Tamil , Marathi , Telugu and Punjabi]• Optical Character Recognition Systems [10 Scripts: Bangla, Devnagari, Malayalam, Gujrati, Tamil,  Telugu, Kannada,  Oriya, Gurumukhi, Tibetan]• On‐line Handwriting recognition system [ 6 Scripts: Hindi , Bengali , Tamil , Telugu , Kannada and Malayalam] 65
  65. 65. किठनाइयांय िप कं प्यूटर पर िहदी के योग म गित हुई है परं तु,इसके चार- सार म कई किठनाइयां ह :• अनुकूल वातावरण का अभाव• तकनीकी सुिवधा की जानकारी की कमी 66
  66. 66. दमाग को चुःत बनाती है हं दअंमेजी क तुलना म हं द भाषा बोलने से म ःतंक अिधक चुःत-द ु ःत रहता है ।रा ीय म ःतंक अनुसंधान कि क डॉ टर ने एक अनुसंधान क बाद े ेकहा है क हं द भाषी लोग क िलए म ःतंक को चुःत-द ु ःत रखने ेका सबसे ब ढया तर का है क वे अपनी बातचीत म अिधक से अिधक हं द भाषा का इःतेमाल कर और अंमेजी का इःतेमाल ज ं रत पड़नेपर ह कर । व ान प ऽका "करं ट साइं स " म ूकािशत अनुसंधान क ेपूरे यौरे म म ःतंक वशेष का कहना है क अंमेजी बोलते समय दमाग का िसफ बायां हःसा स बय रहता है , जब क हं द बोलते समयम ःतंक का दायां और बायां, दोन हःसे स बय हो जाते ह जससे दमागी ःवाः य तरोताजा रहता है । 67
  67. 67. अनुसंधान से जुड़ डॉ टर नं दनी िसंह क अनुसार म ःतंक पर अंमेजी और ेहं द भाषा क ूभाव का असर जानने क िलए छाऽ क एक समूह को लेकर े े ेअनुंसधान कया गया । इस समूची ू बया म दमाग का एमआरआई कयाजाता रहा । म ःतंक क पर ण से पता चला है क अंमेजी बोलते समय ेछाऽ क दमाग का िसफ बायां हःसा स बय था, जब क हं द बोलते समय ेदमाग क दोन हःसे (बाएं और दाएं) स बय हो उठे । अनुसंधान ट म का ेकहना है क ऐसा इसिलए होता है , य क अंमेजी एक लाइन म सीधी पढ़जाने वाली भाषा है , जब क हं द क श द म ऊपर-नीचे और बाएं-दाएं लगी ेमाऽाओं क कारण दमाग को इसे पढ़ने म अिधक कसरत करनी पड़ती है ेजससे इसका दायां हःसा भी स बय हो उठता है । इन डॉ टर क राय हैक हं द भा षय को बातचीत म यादातर अपनी भाषा का इःतेमाल ह करनाचा हए और अंमेजी को ज ं रत पड़ने पर संपक भाषा क ं प म । े 68
  68. 68. लाड मैकाले 2 फरवर , 1835 को ॄ टश संसद म दए गए भाषण का अंश“मने पूरे भारतवष का यापक ॅमण कया है और इस दौरान मने एकभी ऐसा य नह ं दे खा, जो िभखार या चोर हो । ऐसी समृ से प रपूणदे श जहां क लोग नैितक ं प से सश एवं आ मश े से प रपूण ह , मनह ं समझता क हम कभी इस दे श पर वजय हािसल कर पायगे, जबतक क हम इस रा क बुिनयाद जड़ को नह ं हलाएंगे जो अपनेआ या मक एवं सांःकृ ितक वरासत से अ यंत ह श शाली ह ।इसिलए, मेरा ूःताव है क हम इनक पुराने व ूाचीन िश ा प ित, इनक ेसंःकृ ित को बदल द, जससे क भारतीय यह िचंतन करने लग क सबकछ जो वदे शी एवं अंमेजी से संबंिधत है , वह उनक स यता व संःकृ ित ुसे बेहतर एवं महान है । इस तरह, वे अपने आ मबल, अपनी रा ीयसंःकृ ित से वमुख होने लगगे तथा वे लोग उसी ूकार प रवितत हो जाएंगेजैसा हम चाहते ह । इस ूकार, इस रा पर हमारा वाःत वक ूभु वकायम हो पाएगा। 69
  69. 69. LORD MACAULAYADDRESS TO THE BRITISH PARLIAMENT, 2 FEBRUARY,1835“I have travelled across the length and breadth ofIndia and I have not seen any person who is abeggar, who is a thief. Such wealth I have seen inthis country, such high moral value, people of suchcaliber, that I do not think we would ever conquerthis country, unless we break the very backbone ofthis nation, which is her spiritual and culturalheritage, and, therefore, I propose that we replaceher old and ancient education system, her culture,for if the Indians think that all that is foreign andEnglish is good and greater than their own, they willlose their selfesteem, their own culture and they willbecome what we want them, a truly dominatednation.” 70
  70. 70. तकनीक ेऽ म कए जा रहे काय तथा सुझाव क िलए ेसंपक कर : kewal.krishan@nic.in दूरभाष : 011-24619860 (का.) 0-9810031413 (मोबाइल) 71
  71. 71. 72

×