Successfully reported this slideshow.
We use your LinkedIn profile and activity data to personalize ads and to show you more relevant ads. You can change your ad preferences anytime.

INDIAN CULTURE

160 views

Published on

KNOW ABOUT THE CULTURE OF INDIA
incredible india

Published in: Lifestyle
  • Be the first to comment

INDIAN CULTURE

  1. 1. स्वागत भारत की विविध संस्कृ तिताा मागगदर्शगत द्वारा :- पी .डी. नायक सरॅ
  2. 2. भारत की संस्कृ तित भारत की संस्कृ तित कई चीज़ों को मिला-जुलाकर बनती है जजसिें भारत का लम्बा इतितहास, विलक्षण भूगोल और मसन्धु घाटी की सभ्ाता के दौरान बनी और आगे चलकर िैददक ाुग िें विकमसत हुई, बौद्ध धिम एिं स्िणम ाुग की शुरुआत और उसके अस्तगिन के साथ फली-फू ली अपनी खुद की प्राचीन विरासत शामिल हैं।
  3. 3. भाषा भारत िें बोली जाने िाली भाषाओँ की बडी संख्ाा ने ाहााँ की संस्कृ तित और पारंपररक विविधता को बढााा है। १००० भाषाएाँ ऐसी हैं जजन्हें १०,००० से ज्ाादा लोग़ों के सिूह द्िारा बोला जाता है ,जबकक कई ऐसी भाषाएाँ भी हैं जजन्हें १०,००० से कि लोग ही बोलते है।
  4. 4. धिम अब्राहमिक के बाद भारतीा धिम विश्ि के धिों िें प्रिुख है, जजसिें दहन्दू धिम, बौद्ध धिम, मसख धिम, जैन धिम, आदद जैसे धिम शामिल हैं।विश्ि भर िें भारत िें धिों िें विमभन्नता सबसे ज्ाादा है, जजनिें कु छ सबसे कट्टर धामिमक संस्थााें और संस्कृ तिताााँ शामिल हैं।
  5. 5. धिम जनसंख्ाा प्रतितशत दहन्दू ८२७,५७८,८६८ ८०.४५६% मसख १९,२१५,७३० १.८६८% सभी धिम १,०२८,६१०,३२८ १००.००% िुसलिान १३८,१८८,२४० १३.४३४% बौद्ध ७,९५५,२०७ ०.७७३% धिम नहीं कहा ७२७,५८८ ०.०७% जैन ४,२२५,०५३ ०.४११% ईसाई २४,०८०,०१६ २.३४१% अन्ा ६,६३९,६२६ ०.६४५४%
  6. 6. संगीत भारतीा संगीत का प्रारंभ िैददक काल से भी पूिम का है। भारतिषम की सारी सभ्ाताओं िें संगीत का बडा िहत्ि रहा है! धामिमक एिं सािाजजक परंपराओं िें संगीत का प्रचलन प्राचीन काल से रहा है! इस रूप िें, संगीत भारतीा संस्कृ तित की आत्िा िानी जाती है।
  7. 7. नृत्ा भारतीा नृत्ा िें भी लोक और शास्रीा रूप़ों िें कई विविधताएं है जाने िाने लोक नृत्ा़ों िें शामिल हैं पंजाब का भांगडा, असि का बबहू , झारखंड और उडीसा का छाऊ, राजस्थान का घूिर, गुजरात का डांडडाा और गरबा, कनामटक जा ाक्षगान िहाराष्ट्र का लािनी और गोिा का देख्ननी।
  8. 8. त्ाौहार भारत त्ाोहाऱों का देश होने के मलए जाना जाता है। कै लेंडर के हर िहीने एक त्ाोहार जरुर होता हे जजससे आनंद ले सकते है । एक धिमतिनरपेक्ष देश होने के नाते ाह अधधक से अधधक चार धिों है। हर धिम अपने दह तरीके से िनाती है ।सभी त्ाोहाऱों को अपने स्िां के अथम िें अद्वितीा हैं।
  9. 9. िस्र-धारण िदहलाओं के मलए पारंपररक भारतीा कपड़ों िें शामिल हैं, साडी, सलिार किीज और घाघरा चोली धोती, लुंगी, और कु ताम पुरुष़ों के पारंपररक िस्र हैं बॉम्बे, जजसे िुंबई के नाि से भी जाना जाता है भारत की फै शन राजधानी है भारत के कु छ ग्रािीण दहस्स़ों िें ज़्ाादातर पारंपररक कपडे ही पहने जाते हैं।
  10. 10. भारतीा खाना भारतीा भोजन ाा भारतीा खाना अपने भीतर भारत के सभी क्षेर, राज्ा के अनेक भोजनओ का नाि है। जैसे भारत िै सब कु छ अनेक और विविध है, भारतीा भोजन भी उसी तरह विविध है। पूरब पजश्चि, उत्तर और दक्षक्षण भारत का आहार एक दूसरे से बहुत अलग है।
  11. 11. प्रस्तुत द्िारा:- ाुिराज कु श सुिा अपूिाम रीतिी िनोज धन्ािाद

×