SlideShare a Scribd company logo
1 of 43
Download to read offline
This English & Hindi Bi-lingual e-Book Internet Edition is in form
of P.D.F. and is FREE FOR DISTRIBUTION & without any cost
and can be downloaded by anyone globally and in any country
without obligations.
Download link is given below;
www.slideshare.net/drdbbajpai/documents
AYURVEDA FUNDAMENTALS
STATUS QUANTIFICATION
BY BLOOD SERUM EXAMINATION
THROUGH USING
COLORIMETER
"कलर मीटर" ारा र िसरम को टे ट करके
आयुवद के िस धा त का टेटस
वा ट फके शन आ कलन
"कलर मीटर" ारा र िसरम को टे ट करके
आयुवद के िस धा त का टेटस
वा ट फके शन आ कलन
BLOOD SERUM TEST FOR
AYURVEDA FUNDAMENTALS
STATUS QUANTIFICATION
BY COLORIMETER TECHNIQUE
(Bi-lingual Book ; English & Hindi)
Inventor , Writer , Compiler & Chief Investigator ;
Dr. Desh Bandhu Bajpai
B.M.S. {Lucknow}, Ayurvedacharya {Delhi} , D.P.H. {Germany }
M.I.C.R. { Mumbai }, C.R.C. {Cardio-vascular}
M.D. {Medicine}, Ph.D. {E.T.G.AyurvedaScan Technology}
Kanak Polytherapy Clinic & Research Center
67/70, Bhusatoli Road, Bartan Bazar,
KANPUR – 208001, U.P. , INDIA
MOBILE; 7376301730 Land line; 0512 2367773
This e- Book Internet edition is free for distribution
without any obligation and costs.
Download link ; www.slideshare.com/drdbbajpai/documents
This Bi-lingual English and Hindi Language e- Book Internet edition is
free for distribution without any obligation and costs.
Download link ; www.slideshare.com/drdbbajpai/documents
First Edition ; 2017
Price ; Rs 250/- in India
© Copyright reserved by Author and publisher
Publisher;
Kanak Polytherapy Clinic and Research Center,
67/70, Bhusatoli Road, Bartan Bazar,
KANPUR – 208001, U.P.
INDIA
Websites;
www.ayurvedaintro.wordpress.com
www.youtube.com/drdbbajpai
www.slideshare.net/drdbbajpai
E-mail;
drdbbajpai@gmail.com
Dedicated to ;
Whom I love too
Bandhu
PREFACE ;
This e-Book is Bi-lingual written in English and Hindi language for the
global community, keeping in view that Ayurveda is a subject , which is
originally composed in Sansakrit Language and is near to Hindi language.
आयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह द भाषा मे िलख करभाषा मे िलख करभाषा मे िलख करभाषा मे िलख कर
/ तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है //// इसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ त
भाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया है //// स कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क है ////
In modern era, Ayurveda is flourishing with the introduction of new
technologies in diagnosis mainly in two fields, in which, number one is
STATUS QUANTIFICATION of the FUNDAMENTALS OF AYURVEDA
PRINCIPALS and second is, recognition of the ailments / ailing parts /
ailing systems / disease diagnosis and diagnosis related problems to
human body.
आधुआधुआधुआधुिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मे
आयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आ चुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" है //// इसमेइसमेइसमेइसमे
आयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो का
उपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूवCक हो रहा हैवCक हो रहा हैवCक हो रहा हैवCक हो रहा है ////
Electro-tridosho-graphy; E.T.G. AyurvedaScan is an electrical scanning
system based Ayurveda technology. The Electrical scan quantifies the
status of the Ayurveda principles with diagnosis of body disorders. The
electrical scan system, recording the emitting electrical impulses from the
areas, according to the mapping of human body from selective body parts
and after that the E.T.G. AyurvedaScan recorder sends recorded data to
computer for analysis and synthesis, where related software produce a
report, after completion of analysis and synthesis of the related subject
matters.
"इले Dोइले Dोइले Dोइले Dो----5<दोषो5<दोषो5<दोषो5<दोषो----+ाफ"+ाफ"+ाफ"+ाफ" //// ईईईई००००टटटट ००००जीजीजीजी०००० आयुवदा कै नआयुवदा कै नआयुवदा कै नआयुवदा कै न"""" एक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारे
या सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहला---- आयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो का
नकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलनूूूू , यह दोनो बातो कायह दोनो बातो कायह दोनो बातो कायह दोनो बातो का
िनदान हो जाता हैिनदान हो जाता हैिनदान हो जाता हैिनदान हो जाता है //// हजारोहजारोहजारोहजारो रोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोग
कया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कया
जा रहा हैजा रहा हैजा रहा हैजा रहा है ////
Comparative to this electrical scan, no laboratory test has been
developed for Ayurveda for status quantification of Ayurveda
Fundamentals and diagnosis of the disorders according to Ayurveda.
This newly developed Laboratory test AYURVEDA technology can
quantifies the status of Ayurveda Basic Fundamentals and disorders
through examining human Blood Serum.
यह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग के
आधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराुुुु
OरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते है //// Iजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ारा
अनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडC करके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता है ////
ले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताूूूू ुुुु
लगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब है ?
मर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर है , IजसमेIजसमेIजसमेIजसमे मेमेमेमे
अपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हूूूू , यहयहयहयह
सब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा है ////
कु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद के
मौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता है ? यह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rप के देने मेप के देने मेप के देने मेप के देने मे
मुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगाुुुु //// सबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन से
के िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते है ? इन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके और
/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब
से लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCक र पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मे
अिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा है ////
In our research center, Blood serum test is being performed since few
years with success. We have developed this technology at our center and
is continuous being developed to its advance level.
With the help of these technologies, Ayurveda Diagnosis and Ayurveda
treatment will be foolproof and exact and fruitful and without any
deviations.
हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /ित लोगोित लोगोित लोगोित लोगो
का वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाॄॄॄॄ ////
In this book, introduction and technology is given to readers.
आधुिनक मशीनआधुिनक मशीनआधुिनक मशीनआधुिनक मशीन ”कलर मीटरकलर मीटरकलर मीटरकलर मीटर” ारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध का
5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह //// हम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठक कोकोकोको
इस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगी ////
Dr. Desh Bandhu Bajpai
Krishna Janmashtami
&
Independence Day
15 August 2017
List of subjects ;
1- Introduction to Blood Serum Colorimetric test
2- Laboratory Requirements
3- Preparation of Tests
Introduction to Blood Serum Colorimetric Test
कलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदान
करने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचय
In Ayurveda , there is no any Blood Serum examinations or Laboratory test yet introduced
for diagnosis of the Ayurveda fundamentals and diagnosis or human disorders, according to
the direction of Ayurveda principles. In modern era, only Allopathic medical system has blood
serum test facilities, developed by the biologists according to the theory and concept of the
medical system. Comparatively it is seen that there is no existence of any kind of blood
serum or serum based serological Laboratory tests in Ayurveda.
आयुवद िच क=सा 5व:यान मे आ द काल से लेकर वतCमान तक कसी तरह का ”र के िमकल पर ;ण
” क" 5विध का आ5वSकार या ऐसी कसी 5विध का आ5वभाCव अभी तक नह हआ हैु / ले कन अब
यह वतCमान मे सJभव हो चुका है / ऐसी 5विध क" खोज कर ली गयी है Iजसके उपयोग से आयुवद
के मौिलक िस धा तो का मानव शर र के र पर ;ण ारा िनधाCOरत करना अब सJभव हो चुका है
/ यान रहे क ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार अभी तक देश और दिनया मे कह पर भी नह हआु ु
है /
But in Ayurveda, the olden medical system, this is the first time; a Laboratory technology has
been developed and introduced and is being practiced since few years with success.
Success in the sense of practical implementation of the technological results, gained after
the test, in view of treatment and management of the patient.
ऐसा पहली बार हआ है क र के पर ;ण ारा मानव शर र के अ दर LयाM आयुवद के मौिलकु
िसा त का टेटस वा ट फके शन कया जा सके / यह टे ट था5पत क" गयी लैबोरेटर मे कया
जा कता है / र के पर ;ा के िलये इसी 5विध का 5ववरण इस पु तक के मा यम से बताया जा
रहा है / आयुवद के िलये यह र पर ;ण टे ट ”कलर मीटर” इले Dािनक मशीन ारा कया जाता है
/ कलर मीटर मशीन सूरज क" सात करण , Iजनको VIBGYOR कहा जाता है, के का सेPट पर
आधाOरत है / 5विभ न /कार क" वेव ले :थ पर तरल पदाथC क" लाइट इ टेI सट का एबजाब स
देखा जाता है / ए]जाव स के बदलाव को नोट करके बाद मे इसके अ तर को तरह तरह के
गनीत के समीकरनो ारा उस वै?यू को िनकालते है जो नामCल और ए]नामCल को दशाCता है /
Now in Ayurveda, a Laboratory test has been developed with the help of COLORIMETER
exercises and with some chemicals, which have been recognized and identified that they
have properties and features as similar as Ayurveda Fundamentals narrated by the scholars
of the Ayurveda in their respective compilations, as said about TRIDOSHA and SAPTA
DHATU .
आयुवद के िलये यह र पर ;ण टे ट ”कलर मीटर” इले Dािनक मशीन ारा कया जाता है /
कलर मीटर मशीन सूरज क" सात करण , Iजनको VIBGYOR कहा जाता है, के का सेPट पर
आधाOरत है / 5विभ न /कार क" वेव ले :थ पर तरल पदाथC क" लाइट इ टेI सट का एबजाब स
देखा जाता है / ए]जाव स के बदलाव को नोट करके बाद मे इसके अ तर को तरह तरह के
गIणत के समीकरण ारा उस वै?यू को िनकालते है जो नामCल और ए]नामCल को दशाCता है /
The recognized and identified chemicals were tested in Laboratory for a long period and on
large numbers of the patient and sick persons and also to the normal humans.
पर ;ण के इस काम के िलये बहत तरह के के िमकल स] टे सेज को पहचान करके उन पर पर ;णु
कये गये और बाद मे Iज हे ऐसा समझा गया क कौन सा के िमकल कस त=व पर असर कारक है,
उस के िमकल को उसी त=व के िलये था5पत कर दया गया है /
These recognized chemicals are observed to represent the following TRIDOSHA and SAPTA
DHATUS.
अभी तक िनJन िस धा त का के िमकल टे ट 5वकिसत कया जा चुका है /
TRIDOSHA ; ( Ayurveda Aetiology )
1- VATA / Wind Temperament / humor / वात दोष / वात /कृ ित
2- PITTA / Bilious Temperament / humor / 5प^ दोष / 5प^ /कृ ित
3- KAPHA / Phlegmatic Temperament / humor / कफ दोष / कफ /कृ ित
4- VATA +PITTA / वात और 5प^ दोष - दोषज
5- VATA+KAPHA / वात और कफ दोष - दोषज
6- PITTA+KAPHA / 5प^ और कफ दोष - दोषज
7- VATA+PITTA+KAPHA / वात और 5प^ और कफ दोष - 5<-दोषज
SAPTA DHATUS ; (Ayurveda Patho-physiology & Pathology )
1- RAS ; Metabolisation / Digestion /Assimilation ; रस धातु
2- RAKTA ; Hematology / Blood & Blood Disorders ; र धातु
3- MANS ; Muscular System / Tissues / Ligaments / Tendons / Flesh ; मा स धातु
4- MED ; Lipids / Fat / Fat Glands / Cholesterol / Triglycerides ; मेद धातु
5- ASTHI ; Skeletal system / Bones / Bones attachments / Joints ; अI थ धातु
6- MAJJA ; Skeletal system / Bones / Bones attachments / Joints ; अI थ धातु
7- SHUKRA ; Reproductive organs Patho-physiology & Pathology ; शु_ धातु
Sapta Dhatus are further divided in three segments under VATA and PITTA and KAPHA
dominated Triodshas.
सM धातुओं का वग`करण वात और 5प^ और कफ दोषो के अ तगCत भी कया जाता है ता क
िच क=सा कायC मे सट ा आये / इसके अलावा कु छ अ य 5वषयो का भी मू?या कन कर दया गया
है , जो नीचे दये गये हa /
Besides above mentioned subjects for blood tests, few ones can also quantified. These are
as below ;
1- MALA (Stool) ; मल यानी पुर ष
2- MUTRA ( Urine) ; मू< यानी पेशाब
3- SWED ( Perspiration) ; वेद यानी पसीना
4- OAJ (Strength) ; ओज यानी शार Oरक फू तC^ा
5- SAMPURNA OAJ (Vigor) ; ओज यानी शार Oरक फू तC^ा
During observations and experimentation period, patient history and by other sources, cross
checking were done to secure the trueness and exactness of the results by Electro Tridosha
Graphy AyurvedaScan technique results, also time to time results were checked by the
Radial Pulse examination of patients by our volunteer Ayurvedicians.
र पर ;ण क" 5विध को सट क और अचूक बनाने के सभी /यास हमारे ारा कये गये है / मर जो
का Iजनका र पर ;ण कया गया है, उनक" रोग इितहास तथा उनकाई नाड़ का पर ;ण साथ साथ
करते है और उनका ई०ट ०जी० आयुवदा कै न से /ाM डाटा का िमलान करके ह र पर [जण को
<क स गत वRप दया गया है /
Many features could not be traced by the RADIAL PULSE examination due to limitations in
Radial Pulse examination as is mentioned in AYURVEDA NADI PARIKSHA. NADI
PARIKSHA is mentioned in BHAV PRAKASHA classic book compiled by Bhav Mishra
before 800 years ago. However those features, which can be traced by the Radial Pulse
examinations, were compared with the Blood Serum examination results.
बहत से आयुवद के मूल िस धा त का नकलन रे डयल प?स पर ;ण के ाु रा नह कया जा कता
है योI क उस तर का अनुभव कया नह गया है / न ह शाc मे इन सभी 5ब दओं पर उ?लेखु
कया गया है / जI]क इस तकनीक के ारा उन सभी 5ब दओं पर कायC कया गया है और /योगु
कये गये है Iजनसे इइन सभी 5ब दओं का नकलन सJभव हो गयाु है / इस पर ;ण मे इन सबका
समावेश कर दया गया है /
The results obtained are seems true in its nature, in view of diagnosis.
अ5वरत और 5बना dके हये र पर ;ण का कायC जार है और इसे और अिधक 5वकिसत करने केु
िलये िनर तर /योग-शाला मे /योग कये जा रहे है /
It is found during the experiment period that this test is very sensitive in its nature. This
sensitivity confirms the theory of Ayurveda that Desh [Land/place of living] and Kaal [Time of
year] and Paristithi [circumstances and Environment] affects the human body and their
individuality.
पर ;ण करने के दरिमयान ऐसा महसूस कया गया है क यह र पर ;ण बहत सेI स टव क मु
का है और इसमे देश, काल, 5/I तिथयो आ द का असर दखता है , इसिलये जब पर ;न करते है तो
इन सभी बातो का यान रखा जाता है / सामा य और असामा य लेवल को सेट करने मे इन सभी
बातो का यान रखा गया है /
The technology is very simple and in a small place / small room the test can be performed.
तकनीक बहत साधारण है और इसे कह भी कभी भी कसी भी समय टे ट करने के िलये उपयोग मेु
ला कते है /
With the help of the result’s obtained through the laboratory test, an Ayurvedic practitioner /
Ayurveda Physician / Ayurvedicians will be able to recognize the DOSHA and DHATU. On
the ground of the result and parameters, the treatment strategy will be simple and accurate.
कोई भी आयुव दक िच क=सक र पर ;ण के बाद समझ लेगा क रोगी को या दोष है और उसे
कस तरह क" तकलीफ जेनेरेट हो रह है / इससे आयुव दक िच क=सक को यह सहिलयत िमलू
जायेगी क रोगी को कस तरह के उपचार क" अव[यकता है ?
The second aspect of the test is to manage the case according to the involvement of DOSHA
intensity.
इसका दसरा फायदा यह है क दोष और धातु के अनुसार रोगी को या मैनेeमे ट करना चा हयेू , यह
सब पता चल जायेगा / सह मैनेeमे ट करने यानी पfय पालन, जीवन शैली के बदलाव और दन
चयाC का पालन करना लाइलाज बीमाOरयो से +िसत मर जो के िलये अित आव[यक है /
The third aspect is to gain and monitor the progress of the patient condition before the start
of the treatment and after the course of treatment completion. Comparative study before and
after the treatment will help to monitor the case in Toto.
इस पर ;ण का तीसरा आ पे ट यह है क पर ;ण हो जाने के बाद क" जाने वाली िच क=सा के या
पOरणाम िमले / जब यह पर ;ण दबारा या ितबारा या अिधक बार कये जाते हैु , तब यह पता
लगता है क मर ज क" तकलीफ मे कतना सुधार हआ हैु ?
The fourth advantages of the Ayurveda Blood serum test is to watch which dhatu is not in
order and where the chain of health is deviating.
इस पर ;ण का चौथा बड़ा फायदा यह है क सM धातुओ मे ऐसी कौन सी धातु है जो 5वकार पैदा
कर रह है / ऐसे धातु 5वकार को पहचान कर उसका इलाज करने से रोग को दर करने मे सफलताू
िमलती है /
Other advantages are persists with the results of the tests , which will be applicable for
comparison with the modern biological laboratory tests. For example if Ayurveda MED test
shows high or low level of Med or Fat, the obtained value can be relatively compared with the
similar PATHOLOGICAL TESTS i.e. Cholesterol or Lipids or Triglycerides.
इसके अलावा अ य दसरे फायदे िच क=सा कायC मे होते है जैू से कJपर जन करके यह पता कर सकते
है क 5पछले पर ;ण और आगे कये गये पर ;ण मे कतना नतर आया है / इससे मर ज को सह
इलाज के िलये रा ता िमलता है और गलती होने क" सJभावनाये समाM हो जाती है /
In this way, an Ayurvedician may choose remedies or line of treatment without any deviation
with perfection with what to do or what not to do.
र पर ;ण क" OरपोटC के आधार पर रोगी का इलाज करने से गलत इलाज करने क" अथवा गलत
इलाज होने क" सJभावना बहत कम हो जाती हैु /
Laboratory Requirements
/योग/योग/योग/योग----शाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायg
Establishing the laboratory for Ayurveda Blood Test, demands some instrumentations
requirements, which are essential. for performing the examinations.
आयुवद के िलये र पर ;ण करने के िलये आव[यक मशीनर और उपकरणो क" जRरत होती
है / जैसा क मे डकल /योग शाला के िलये उपकरण क" जRरत होती है, ठhक उसी तरह
आयुवद र पर ;ण के िलये उपकरण और के िमकल र जे ट क" जRरत होती है /
This is a full-fledged and complete PATHOLOGICAL LABORATORY as is equal to
Modern Medicine – Allopathy. Every necessary machine and other supplementary
instruments and glass-wares are required.
Iजस तरह आधुिनक िच क=सा 5व:यान क" पैथोलाIजकल लैबोरेटर के िलये मशीन और
उपकरणो क" आ][यकता होती है उसी तरह से आयुवद के र पर ;ण के िलये लैबोरेटर क"
थापना के िलये मशीनो और उपकणB क" जRरत होती है / :लास वेयर, इ जे शन नीडल,
के िमकल , र जे iस , कलर मीटर मशीन, से D Qयूजल मशीन , र रखने के िलये का च के
समान, टे ट iयूब, 5पपेट, टै jस, समय देखने के िलये घड़ आ द आ द व तुओं क"
आव[यकता होती है /
The difference is only in the use of the Working solutions and Standard solutions,
uses in the analysis.
चूI क यह आयुवद का पर ;ण है इसिलये इसमे आयुव दक के िमकल और र जे ट क"
आव[यकता होती है /
The prime need is a COLORIMETER and all the tests are performed with the help of
this electronic gadget.
सबसे पहले इस पर ;ण को करने के िलये एक ”कलर मीटर " क" आव[यकता होती है /
बाजार मे यह उपल]ध है / इनक" क"मते भी कई लैब मे होती है / बहत से अनालाग मीटरु
आते है और बहत से डIजटल मीटर होतेु है / Iजसक" जैसी पस द हो वह वैसा अपनी ;मता
नुसार खर द सकता है /
Above; a Digital Colorimeter : Colorimeters are available in market in ANALOG
and in DIGITAL mode. Some colorimeter are cheap and operated in main
electric AC power supply, but some are available operated on 12 volt battery.
Some hybrid Colorimeter are available, which can be operated on AC main
power asupply and by 12 Volt battery supply current. It is up to the choice of
the person who like to use it, whether of cheap quality or costly branded
machine.
कलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते है //// यह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छ १२१२१२१२
वो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हa //// कु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह से
आपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते है ////
Below is given a list which will show what is needed and which laboratory
wares are needed and required for the test.
नीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRर्््् ूूूू
व तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते है ////
1111---- कलर मीटरकलर मीटरकलर मीटरकलर मीटर Colorimeter
2222---- से D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीन Centrifugal machine
3333---- यूवेट iयूबयूवेट iयूबयूवेट iयूबयूवेट iयूब Cuvett tubes
4444---- माइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेट Micro-pipette
5555---- आयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशन Ayurveda Blood Test Working solution
6666---- आयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iस Ayurveda Blood Test Reagents
7777---- व कC ग टेबलव कC ग टेबलव कC ग टेबलव कC ग टेबल Working Table
8888---- vापसCvापसCvापसCvापसC Droppers
9999---- अ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामान Other Glass wares and laboratory
utilities
10101010---- िसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलये Injection syringes
11- RईRईRईRई //// गाजगाजगाजगाज Cotton / gauge
I /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कर लेना चा हयेर लेना चा हयेर लेना चा हयेर लेना चा हये ////
Sprit and Hand-wash should be collected for anytime uses.
इसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीुुुु व तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती है ////
Besides these items, many other accessories are required time to time
according to the need.
Preparation of test
टे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयार
कसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती है //// योI कयोI कयोI कयोI क
टे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीुुुु
बहत धीमेबहत धीमेबहत धीमेबहत धीमेुुुु //// इसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वाले को तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोई
भी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवे, पर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहे ////
Performing before any test , it is necessary that tester must prepare himself for
any kind of out-comings suddenly because chemical reactions are very fast
sometime and sometimes late, so to meet out with these problems mental
preparation is necessary. Test are time taking and patience is necessary.
रोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती है //// यह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नस
के ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता है //// बहबहबहबहुुुुत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र के
कसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हये ////
For Blood examination, patient blood is needed. For that blood should be
collected from Veins.
र को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती है //// Iज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसार
लैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हये //// र सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलये
ए टए टए टए ट ----कोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० का उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते है //// ईईईई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० क" लगभगक" लगभगक" लगभगक" लगभग ८८८८
यायायाया १०१०१०१० बू दबू दबू दबू द ५५५५ िमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती है //// र को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसOर ज सेOर ज सेOर ज सेOर ज से
ईईईई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० सI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करके
सवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० िमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पाये
////
Blood collection is a specialize work and for that special tubes are available in
market. According to need collection of these tubes are essential. Before
collection of blood sample, EDTA is used as anti-coagulant. This anti-
coagulants is 8 to 10 drops is sufficient to preserve almost 4-5 ml blood. More
drops can be added, if seems insufficient. After drawing blood, this should be
transfer to EDTA contained pot or tube or container by syringe as soon as
possible. Delays may cause early beginning of clotting process. After
transferring the blood in tube, slowly and gradually role tube in anti-clock and
clock wise direction. After 5 minutes, keep the tube in stand.
Iजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सके , Iजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता से
से D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हये //// से D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाई
पीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइस
के अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता है //// साधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया है
क कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइ---- पीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तक
टके रहते हैटके रहते हैटके रहते हैटके रहते है , इसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईुुुु ---- पीड पर र कोपीड पर र कोपीड पर र कोपीड पर र को
से D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते है ////
As soon as possible, blood should be centrifuged. For that centrifugal machine
have speed options. It is up to the choice , on which speed , the blood should
be centrifused. Generally some uses low speed beginning and gradually speed
up, contrary some go to direct high speed.
Centrifugal machine, by this machine blood is centrifuged for
Test purposes. Before use of this machine, operative features
should be well customized , given or offered by the
manufacturer. Novices should take help of any laboratory technicians or
doctors , particularly of pathology line and should have good knowledge to
operate this machine at the laboratory. उपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा र को से D Qयूज कयाको से D Qयूज कयाको से D Qयूज कयाको से D Qयूज कया
जाता हैजाता हैजाता हैजाता है //// इससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते है ////
इसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती है ////
Besides these items, some other smaller items are needed.
Above picture shows the Micro-pippet for measuring Bloos or Serum or
Chemical for use in test. Micro-pippette are available in different measuring
scales. From 0.01 micro-milliliter to 1000 micro-milliliters and much more
measuring scales, these pippettes are available.
ऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ो 5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है //// यह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवा
िसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता है //// इससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख से
5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है //// यह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गुुुु
के ?स मे आते हैके ?स मे आते हैके ?स मे आते हैके ?स मे आते है //// अपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हये ////
ऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCया
गया हैगया हैगया हैगया है //// इसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी है //// यह सब टे ट केयह सब टे ट केयह सब टे ट केयह सब टे ट के िलये जRर ह सेिलये जRर ह सेिलये जRर ह सेिलये जRर ह से
हैहैहैहै //// यहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रह है क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप से
जRरत होती हैजRरत होती हैजRरत होती हैजRरत होती है ////
In this picture, Cuvetts are shown , which are uses in Colorimeter tests, Disposable
syringes is used to draw blood from veins.
Blood collection tube and Cuvetts with stand
र पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती है //// जैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यह
के िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते है ,
इसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर है //// अलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलग
अलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRरत होती हैरत होती हैरत होती हैरत होती है ////
For Ayurveda Blood serum test, chemical substances are needed, which have
been identified after long experiments. Therefore chemicals for each test are
needed.
आयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी है , वह िनJन /वह िनJन /वह िनJन /वह िनJन /कार केकार केकार केकार के
आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते है ////
Chemicals which have been identified and invented for the status quantfication
of Ayurveda principles can be used in the following items;
1- वात दोषवात दोषवात दोषवात दोष Vata Dosha
2- 5प^ दोष5प^ दोष5प^ दोष5प^ दोष Pitta Dosha
3- कफकफकफकफ दोषदोषदोषदोष Kapha dosha
4- Vaat + Kaph dosha
5- Vata+ Pitta dosha
6- Kapha + pitta dosha
7- Vata+ pitta + kapha dosha
8- Ras
9- Rakt
10- Mans
11- Med
12- Asthi
13- Majja
14- Shukra
15- Mal (Stool)
16- Mutra
17- Swed
18- Oaj
19- Sampurna Oaj
Above 19 parameters of Ayurveda Principles can be examined by Blood serum
Colorimetric procedures, which have been discussed already in this book.
इस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता से
रोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसका पता कर सकते हैपता कर सकते हैपता कर सकते हैपता कर सकते है ////
How to perform test with the help of COLORIMETER ?
How report is generated ?
टे ट कै से करते हैटे ट कै से करते हैटे ट कै से करते हैटे ट कै से करते है, उसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधान
OरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरण
1- र को मर ज क" वे स से िनकाल कर सुरI;त रखे और उसे से D Qयूजल मशीन मे
छोyकर से D Qयूज कर ले /
Draw blood from veins of the patient and centrifuge it.
2- र िसरम को सावधानी पूवCक vापर या 5पपेट का उपयोग करके दसर :लास वायल मgू
Dा सफर कर लg /
Blood serum separate and serum transfer to new clean glass vial carefully.
3- एक साफ यूवेट मे व कC ग सो?यूशन को ले / इसमे र जे ट िमलाना हो तो िमला ले या
जैसा टे ट के िलये िनदश कये गये है , उसी िनदश का पालन करे /
Follow the instructions as is given in each test pamphlets, supplied with working
solutions. Take working solutions in a clean cuvett.
4- /=येक टे ट के िलये अलग अलग व कC ग सो?यूशन है और र जे ट भी अलग अलग है /
एक टे ट कट मे एक ह /कार का टे ट होता है / इस /कार से १९ तरह के टे ट करने मे
१९ कट उपयोग कये जाते है / एक टे ट कट मे ३० टे ट के िलये के िमकल और र जे ट
क" मा<ा होती है /
Working solutions are supplied separately for each test. Presently 19 tests are
performed , therefore 19 kits are separately used. In each test kit 30 tests can be done
and working solution and reagent for above mentioned numbers , contains in each kit.
5- टे ट ठhक उसी तरह से परफामC करना चा हये जैसा क /=येक कट के साथ मे
इ स…कश स दये गये हa /
Test should be performed according to the instructions supplied with the kit
accordingly.
For example , when test for Vata Dosha is performed, how it will be
done ?
Following steps should be taken.
[a] Ready 'ON' Colorimeter and set color intensity level as instructed. For Vata dosha
430 nanometer is selected.
वात दोष क" जा च करने के िलये ४३० नैनोमीटर क" कलर इ टेI सट लेवल पर सेट करना
चा हये /
[b] After that take plain water in a cuvett and put it in cuvett holder, set .00 zero level
इसके बाद एक खाली य़ूवेट मे १ िमलीलीटर साधा साफ पानी लेकर जीरो लेवल क" से ट ग
करg /
[c] Put out cuvett, which was used for zero settings.
जीरो से ट ग वाली यूवेट को बाहर िनकाल ले /
[d] एक दसर साफ यूवेट मे एक िमलीलीटर व कC ग सो?यूशन वात दोष के टे ट के िलयेू
कट से कसी िसOर ज ारा नाप कर या 5पपेट ारा नाप कर भर लg / अगर र जे ट अथवा
टै डडC सो?यूशन िमलाने के िलये बताया गया हो तो वह इसमे िमला दे /
In a plain cuvett, fill one milliliter working solution for the test of VATA dosha, if
instructed Reagent or Standard solution should be mixed according to the quantity
mentioned.
e] अब इसमे र िसरम क" िनधाCOरत मा<ा 5पपेट ारा िमला दg / िसरम िमलाने के बाद
यूवेट को हलाये , ता क इसमे िमले हये सभी •Lय आपस मे िमल जायgु /
Now mix Blood serum in this solution as is instructed in quantity by pipette. Shake all
solution gently to mix each other well.
[f] After passing initial delays of 60 seconds, put the cuvett in cuvett holder carefully,
watching the while line indicator both on cuvett and colorimeter.
६० सेक ड तक शेक करने के बाद यूवेट को कलमीटर के यूवेट हो?डर मे डाल देना होता है
/ यान रखे क यूवेट क" सफे द लाइन का िमलान कलर मीटर के ऊपर इI गत सफे द लाइन
से बराबर आमने सामने हो /
[g] कलर मीटर के दIजटल मीटर मे आयी हयी र ड ग को पढg और नोट करले या िलख लेु
या र ड ग सुरI;त कर लg /
Read colorimeter reading and note down or write the reading for calculatory work.
note the time of reading.
[h] इस पहली र ड ग लेने के बाद यूवेत को िनकाल कर तै ड मे रख ले / २० िमनट बाद
दसर र ड ग ठhक उसी तरह से ले जैसा ऊपर बताया गया हैू /
After first reading , put out the cuvett from colorimeter and keep it in stand. After delay
of 20 minutes take the second reading of cuvett as is instructed above. Write down
the second reading.
[i] दोनो र ड :स को िलख लg / वात दोष रोगी के शर र मे कतना मौजूद है इसको जानने
के िलये एक फामूCला है Iजसके ारा कै ?कु लेशन करके शर र मे वात क" मा<ा का पता कया
जा सकता है / यह फामूCला िनJन /कार है /
र ड ग दसर वाली याू २० िमनट बाद वाली
-----------------------------------------------
र ड ग पहली वाली यानी ६० सेक ड डले वाली
नीचे यानी पहली वाली र ड ग का भाग दसर वाली र ड ग से देते हa और Iजतना भाग आताू
है उसे १०० से गुणा करते है /
कनक पालीथेरापी लीिनक एवम OरसचC से टर, कानपुर ारा वात दोष का साम य आ कलन
८५ से लेकर ११५ िमली+ाम /ितशत ए वीवैले ट /ित लीटर िनधाCOरत कया गया है /
इसिलये य द वात दोष का आ कलन लेवल इस िनधाCOरत रे ज मे आता है तो वात दोष का
/भाव रोगी मे सामा य लेवल का है ऐसा समझना चा हये, ले कन य द यह लेवल सामा य
िनधाCOरत लेवल से या रे ज से कम हो तो वात दोष का /भाव सामा य से कमजोर है , ऐसा
मानना चा हये अथवा य द िनधाCOरत सामा य लेवल से अिधक है तो फर वात दोष का बढना
मानना चा हये /
यˆ5प यह िनधाCOरत रे ज कानपुर, उ^र /देश, भारत के वायु म डल और देश काल
पOरI तिथयो के अनुसार िनधाCOरत क" गयी है , Iजसे हजार बार पर ;ण करके िनधाCOरत कया
गया है / फर भी इसक" रे ज मे टे ट करने वाली लैबोरेटर को लगता है या महसूस होता है
क इस रे ज को कम अथवा अिधक कया जाय तो यह िनधाCरण वह लैबोरेटर कर सकती है
/
Write both the readings. A formula is developed for determination of VATA DOSHA
and according to that formula calculation can be made through it and the status of
Vata can be quantified. The formula is given below.
Second reading that means reading taken after 20 minutes
----------------------------------------------------------------------------------
First reading that means reading taken after 60 seconds
Substract it, the substracted gain is multiplied by 100.
In Kanak Polytherapy Clinic and Research Center the VATA DOSHA is fixed 85 to
115 mg%Eq/L, that means the range is in milligram percent equivalent to per liter. In
between this range the VATA DOSHA is in within normal limit. Above and below to
this range should be fixed accordingly.
Although this range is fixed at KANPUR, UP State, INDIA, but the testing lab can fix
his own parameters, if Laboratory feels any change in the normal range . It could be
due to envioronement , place, altitude, weather condition and other reasons, which
can affects the physical body.
For example, calculation is given below;
EXAMPLE; In one Blood serum test the for VATA DOSH, the reading after 60
seconds came .08.
After 20 minutes the reading came .09.
The according to formula the equation will be like below;
.09
-----
.08
substracted answer is 1.13
1.13 is multiplied by 100
the number is 112.50 or say 113.
The gained number is in within normal limit of VATA as it is fixed.
उपरो फामूCले के हसाब से वात दोष का नकलन कर लेते है /
इसी तरह से 5प^ और कफ और सM धातुओ के कट और र जे ट का उपयोग करके आयुवद
के १९ /कार के मौिलक िस धातो का नक?न कर सकते है /
ये सभी १९ आ कलन आयुवद क" िच क=सा कायC के िलये बहत सट क काम आते हैु /
Iजनका उ?लेख पहले कया जा चुका है / यˆ5प इन सबका उ?लेख कसी अ य पु तक मे
5व तार से कया जायेगा / ले कन कलर मीटर क" इस 5वधा के ारा आयुवद के िस ध तो
का नकलन कया जाना आयुवद िच क=सा 5व:या के िलये एक मील का पfथर सा5बत होगा ,
ऐसा समझा जाना चा हये /
By the above mentioned formula, Vata Dosha should be quantified.
Similarly Pitta, Kapha and Sapta Dhatus and Malas are quantified. The Kit supply the
way of information for test performances. Following the rules and calculation all 19
parameters of Ayurveda principles can be obtained.
All gained paraeters are necessary for CLASSICAL AYURVEDA DIAGNOSIS AND
TREATMENT AND MANAGEMENT programmes. The mentioned subject have wide
analysis and comments, threfore in other books , this will be discussed. However by
COLORIMETRIC ANALYSIS OF BLOOD SERUM FOR AYURVEDA PRINCIPLES
will be a mile-stone and will give a height to Ayurveda, which is assumed.
कलर मीटर क" सहायता से दसरे सीरोलाIजकल टे ट भी कये जा सकते हैू / आयुवद के
िच क=सको के िलये मेर यह एक सलाह और भी है क अ‰छा यह होगा क य द वे यह
टे ट अपने यहा पफाCमC करना चाहते है तो फर कसी मे डकल लैबोरेटर के टे नीिशयन या
डा टर क" सहायता ले तो अ‰छा होगा /
This is advisable that help from any medical Laboratory technician or doctor should be
taken in need. COLORIMETER can be used in other SEROLOGICAL
EXAMINATIONS at your clinic or establishment.
नीचे एक OरपोटC द गयी है Iजसमे कलर मीटर के ारा कये गये पर ;ण क" वै?यू द गयी है
/ इसे देIखये और समIझये क इस OरपोटC के ारा मर ज क" या और कस तरŠ से
सहायता पहचायी जा सकती हैु /
Below is given a report, in which almost all parameters are tested. See it and evaluate
it and think about the diagnosis of disorders. How you take this report for your
consideration in view of Ayurveda Diagnosis and treatment.
APPENDIX ;
Dr. Desh Bandhu Bajpai
Born 20 November
• Ayurvedacharya
• Bachelor of Medicine and Surgery
• D.P.H. [Germany]
• Ex. Lecturer ; J.L.N.H. Medical College and allied Hospital, Kanpur,
UP, India
• MY INTRODUCTIONMY INTRODUCTIONMY INTRODUCTIONMY INTRODUCTION
Name: डाडाडाडा०००० देश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयी Dr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu Bajpai,
I belongs to Kanpur city, Uttar Pradesh, India.
*Graduate and Post graduate in Homoeopathy, studied HOMOEOPATHY at KRANKENHAUS
FUER NATURHEILWEISSEN, MUNCHEN, Germany in year 1973, also studied Homoeopathy
at INSTITUTE OF CLINICAL RESEARCH, MUMBAI in year 1980 at POST GRADUATE level.
Photo; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself for
photogrphotogrphotogrphotography, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,
Harlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 at
Vigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organised
by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland.
*Graduate, Post graduate and Post Doctoral in AYURVEDA
*Practicing Allopathy, Ayurveda and Homoeopathy and Unani and
Nature-cure and yoga , simultaneously along with Acupuncture,
Magneto therapy, Nature cure, Dietetics, Physiotherapy etc. since
40 years in Kanpur
*Deals in Ayurvedic Cardiology and Incurable disease conditions.
*Inventor: Electrotridoshagraphy [ETG AyurvedaScan] technology,
Electrohomoeography [EHG] technology and 4 dimensional
Electrocardiography [ECG] machine
Inventor ; COLORIMETRIC ANALYSIS OF BLOOD SERUM TO
QUANTIFY THE STATUS OF AYURVEDA PRINCIPALS AND
DIAGNOSIS OF DISORDERS
*Inventor: Shankhadrav Based Medicine
*Inventor: Clinical trial of Ayurvedic medicine in Penta scale potency
*Inventor: Blood serum flocculation test for diagnosing Ayurvedic and
Homoeopathic medicines
*Inventor: Bandhu Slips and Card repertory of Ayurvedic and
Homoeopathic remedies
*Some of the inventions are well appreciated by the National Innovation
Foundation, Ahamedabad, India.
*Visited: Afghanistan, Iran, Turkey, Bulgaria, Yugoslavia, Czechoslovak, Po
land, Holland,Germany, Austria, Nepal etc.
*Hobbies; Writing, Reading, Electronics, Touring, Visiting new places,
Classical Music, Art, Paintings, Journalism, Photography etc.
*Formerly Lecturer in HomoeopathicMedicalCollege and examiner of
Homoeopathy in few Universities
*Language: () Foreign-English, German
() Indian: Hindi, Sansakrit,
############################################################################################################################
• can be contacted at following address by phone /
mobile or personal visit:यहां सJपकC करgयहां सJपकC करgयहां सJपकC करgयहां सJपकC करg ::::
• Vaidya Desh Bandhu Bajpai,
मोबाइलमोबाइलमोबाइलमोबाइल :::: ९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४
Mobile: 9336238994
E-mail; drdbbajpai@gmail.com
E-mail; kpcarc@gmail.com
Dr. Desh Bandhu Bajpai is with Dr. Horzt Pratsyuntek, Reuher University,
Bochum, Germany at CCRAS Head Quarter, Department of AYUSH,
Ministry of Health and Family Welfare, New Delhi
on 18th
March 2009.
Dr. Desh Bandhu Bajpai Demonstrating the Recording of
ETG AyurvedaScan to
Dr. Hortzt Pratsyuntek, who was very eager to know
about the newly invented Ayurveda Technology
at CCRAS, New Delhi
on 18th
March 2009
Appendix;Appendix;Appendix;Appendix;
References ;References ;References ;References ;
1. Book Title ; Sankhya Philosophy by Muni Kapila
2. Book Title ; Charak Samhita
3. Book Title ; Sushrut Samhita
4. Book Title ; Bhav Prakash
5. Book Title ; Madhav Nidan
6. Commentry on Sankhya Philosophy by Shri Nand Lal
Sinha, M.A. ,B.L., P.C.S.
7. Human Physiology by Dr. Chandi Charan Chatterjee
8. Human Physiology by Dr. A.K. Jain
9. References taken from books of Physcis, Chemistry,
Biology, Bio-chemistry and other related subjects
matters referenced to Ayurveda
10. An Introduction to E.T.G. AyurvedaScan
Technology book written by Dr.Desh Bandhu Bajpai,
Inventor & Chief E.T.G. AyurvedaScan Investigator ;
relevant and referenced chapters
11. Status quantification of Ayurveda principles in
Hindi Language by Dr Desh Bandhu Bajpai
12. Medical Laboratory Technology by Dr. Ramanik
Sood, Delhi
Declaration;Declaration;Declaration;Declaration;
This book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used by
any person.any person.any person.any person.
Although the written material is the CopyAlthough the written material is the CopyAlthough the written material is the CopyAlthough the written material is the Copy----right of theright of theright of theright of the
author, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given any
where, must be referenwhere, must be referenwhere, must be referenwhere, must be referenced with due discipline.ced with due discipline.ced with due discipline.ced with due discipline.
Author has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action against
any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach.
Dr. D.B.BajpaiDr. D.B.BajpaiDr. D.B.BajpaiDr. D.B.Bajpai
AuthorAuthorAuthorAuthor
Krishna JanmaashtamiKrishna JanmaashtamiKrishna JanmaashtamiKrishna Janmaashtami
& Independence Day& Independence Day& Independence Day& Independence Day
15 August 201715 August 201715 August 201715 August 2017
Free Download Link on Internet for this
book ;
www.slideshare.net/drdbbajpai/documents
AYURVEDA
FOR
ALL
Colorimeteric ayurveda serum test
Colorimeteric ayurveda serum test

More Related Content

What's hot

मछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
मछली पालन मॉडल प्रोजेक्टमछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
मछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
Growel Agrovet Private Limited
 
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी मेंनाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
Growel Agrovet Private Limited
 
Hi introduction of_quran
Hi introduction of_quranHi introduction of_quran
Hi introduction of_quran
Loveofpeople
 
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी मेंनाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
Growel Agrovet Private Limited
 

What's hot (20)

मछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
मछली पालन मॉडल प्रोजेक्टमछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
मछली पालन मॉडल प्रोजेक्ट
 
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी मेंनाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड ब्रायलर पोल्ट्री फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
 
Hi introduction of_quran
Hi introduction of_quranHi introduction of_quran
Hi introduction of_quran
 
Arogyanidhi2
Arogyanidhi2Arogyanidhi2
Arogyanidhi2
 
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी मेंनाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
नाबार्ड डेयरी फार्मिंग प्रोजेक्ट हिंदी में
 
Jwara vivechana
Jwara vivechanaJwara vivechana
Jwara vivechana
 
11 effective yoga pose to increase energy and stamina
11 effective yoga pose to increase energy and stamina11 effective yoga pose to increase energy and stamina
11 effective yoga pose to increase energy and stamina
 
14 best yoga poses for back pain
14 best yoga poses for back pain14 best yoga poses for back pain
14 best yoga poses for back pain
 
9 best way to improve women's breast
9 best way to improve women's breast9 best way to improve women's breast
9 best way to improve women's breast
 
10 yoga for back pain beginners
10 yoga for back pain beginners10 yoga for back pain beginners
10 yoga for back pain beginners
 
The 10 best yoga poses for back pain
The 10 best yoga poses for back painThe 10 best yoga poses for back pain
The 10 best yoga poses for back pain
 
How to boost your metabolism while doing yoga
How to boost your metabolism while doing yogaHow to boost your metabolism while doing yoga
How to boost your metabolism while doing yoga
 
7 best yoga asanas for the healthy liver that detoxify your liver
7 best yoga asanas for the healthy liver that detoxify your liver7 best yoga asanas for the healthy liver that detoxify your liver
7 best yoga asanas for the healthy liver that detoxify your liver
 
10 easy yoga poses you can literally do in your bed, so no more excuses!
10 easy yoga poses you can literally do in your bed, so no more excuses!10 easy yoga poses you can literally do in your bed, so no more excuses!
10 easy yoga poses you can literally do in your bed, so no more excuses!
 
Jobs in hoshangabad, M.P
Jobs in hoshangabad, M.PJobs in hoshangabad, M.P
Jobs in hoshangabad, M.P
 
6 best yoga to improve your heart
6 best yoga to improve your heart6 best yoga to improve your heart
6 best yoga to improve your heart
 
13 effective pranayama and yoga asana exercises to stop hair loss
13 effective pranayama and yoga asana exercises to stop hair loss13 effective pranayama and yoga asana exercises to stop hair loss
13 effective pranayama and yoga asana exercises to stop hair loss
 
Health benefits of yoga
Health benefits of yogaHealth benefits of yoga
Health benefits of yoga
 
GURUTVA JYOTISH APRIL-2019
GURUTVA JYOTISH APRIL-2019GURUTVA JYOTISH APRIL-2019
GURUTVA JYOTISH APRIL-2019
 
GURUTVA JYOTISH MONTHLY E-MAGAZINE NOVEMBER-2018
GURUTVA JYOTISH MONTHLY E-MAGAZINE NOVEMBER-2018GURUTVA JYOTISH MONTHLY E-MAGAZINE NOVEMBER-2018
GURUTVA JYOTISH MONTHLY E-MAGAZINE NOVEMBER-2018
 

Similar to Colorimeteric ayurveda serum test

खोज और परिवर्तन मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
खोज और परिवर्तन   मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...खोज और परिवर्तन   मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
खोज और परिवर्तन मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
Soft Skills World
 
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gitaWww bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
Vishnu Bajpai
 

Similar to Colorimeteric ayurveda serum test (20)

Arogyanidhi2
Arogyanidhi2Arogyanidhi2
Arogyanidhi2
 
Arogyanidhi 2
Arogyanidhi   2Arogyanidhi   2
Arogyanidhi 2
 
खोज और परिवर्तन मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
खोज और परिवर्तन   मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...खोज और परिवर्तन   मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
खोज और परिवर्तन मारुति एसोसिएट्स के लिए एक परिवर्तन प्रबंधन कार्यशाला कर्ट ...
 
Practicing 5 yoga after c section best positions &amp; precautions to take
Practicing 5 yoga after c section best positions &amp; precautions to takePracticing 5 yoga after c section best positions &amp; precautions to take
Practicing 5 yoga after c section best positions &amp; precautions to take
 
Earn planet ppt (1)
Earn planet ppt (1)Earn planet ppt (1)
Earn planet ppt (1)
 
Gurutva jyotish jun 2019
Gurutva jyotish jun 2019Gurutva jyotish jun 2019
Gurutva jyotish jun 2019
 
Gati Margna
Gati MargnaGati Margna
Gati Margna
 
NGO combined.pptx
NGO combined.pptxNGO combined.pptx
NGO combined.pptx
 
Upyog Prarupna
Upyog PrarupnaUpyog Prarupna
Upyog Prarupna
 
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gitaWww bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
Www bhaktisagar net_en_encyclopedia_1_shrimad_bhagavad_gita
 
Sutra 8-35
Sutra 8-35Sutra 8-35
Sutra 8-35
 
What is the benefits of yoga in students life
What is the benefits of yoga in students lifeWhat is the benefits of yoga in students life
What is the benefits of yoga in students life
 
Indriya Margna
Indriya MargnaIndriya Margna
Indriya Margna
 
Gunsthan 7 - 14
Gunsthan 7 - 14Gunsthan 7 - 14
Gunsthan 7 - 14
 
Appendix
AppendixAppendix
Appendix
 
Jeevsamas Prarupna
Jeevsamas  PrarupnaJeevsamas  Prarupna
Jeevsamas Prarupna
 
Gunsthan 3 - 6
Gunsthan 3 - 6Gunsthan 3 - 6
Gunsthan 3 - 6
 
Sutra 36-53
Sutra 36-53Sutra 36-53
Sutra 36-53
 
Gunsthan 1 - 2
Gunsthan 1 - 2Gunsthan 1 - 2
Gunsthan 1 - 2
 
Yog Margna - 1
Yog Margna - 1Yog Margna - 1
Yog Margna - 1
 

More from Dr. Desh Bandhu Bajpai

GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
Dr. Desh Bandhu Bajpai
 

More from Dr. Desh Bandhu Bajpai (20)

DIABETES & AYURVEDA & AYUSH TREATMENT CONCEPT
DIABETES & AYURVEDA & AYUSH TREATMENT CONCEPT DIABETES & AYURVEDA & AYUSH TREATMENT CONCEPT
DIABETES & AYURVEDA & AYUSH TREATMENT CONCEPT
 
GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
GLIMPSES OF OUR CLINIC ; KANAK POLYTHERAPY CLINIC & RESEARCH CENTER, KANPUR, ...
 
Ayurveda ; do and donts ; pathya aur parahej ; आयुर्वेद पथ्य और परहेज
Ayurveda ; do and donts ; pathya aur parahej ; आयुर्वेद पथ्य और परहेजAyurveda ; do and donts ; pathya aur parahej ; आयुर्वेद पथ्य और परहेज
Ayurveda ; do and donts ; pathya aur parahej ; आयुर्वेद पथ्य और परहेज
 
E.T.G. AyuurvedaScan information presented by Dr. D.B.Bajpai
E.T.G. AyuurvedaScan information presented by Dr. D.B.BajpaiE.T.G. AyuurvedaScan information presented by Dr. D.B.Bajpai
E.T.G. AyuurvedaScan information presented by Dr. D.B.Bajpai
 
Tread machien ayurvedascan parikshan
Tread machien ayurvedascan parikshanTread machien ayurvedascan parikshan
Tread machien ayurvedascan parikshan
 
Shakil Ahamad AYURVEDA BLOOD CHEMICAL CHEMISTRY test report
Shakil Ahamad AYURVEDA BLOOD CHEMICAL CHEMISTRY test reportShakil Ahamad AYURVEDA BLOOD CHEMICAL CHEMISTRY test report
Shakil Ahamad AYURVEDA BLOOD CHEMICAL CHEMISTRY test report
 
Ayurvrda Fundamentals And Basic Principals
Ayurvrda Fundamentals And Basic PrincipalsAyurvrda Fundamentals And Basic Principals
Ayurvrda Fundamentals And Basic Principals
 
Magnate Therapy
Magnate TherapyMagnate Therapy
Magnate Therapy
 
Homoeopathy Introduction
Homoeopathy IntroductionHomoeopathy Introduction
Homoeopathy Introduction
 
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir UsesHomoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
 
Ayurveda understand panchakarma
Ayurveda understand panchakarmaAyurveda understand panchakarma
Ayurveda understand panchakarma
 
Ayurveda Herb Turmeric English
Ayurveda Herb Turmeric EnglishAyurveda Herb Turmeric English
Ayurveda Herb Turmeric English
 
Ayurveda Classification & Groupings of diseases
Ayurveda Classification & Groupings of diseasesAyurveda Classification & Groupings of diseases
Ayurveda Classification & Groupings of diseases
 
Ayurveda charesteristic identity of tridosha
Ayurveda charesteristic identity of tridoshaAyurveda charesteristic identity of tridosha
Ayurveda charesteristic identity of tridosha
 
Ayurveda Cure Of Leucoderma
Ayurveda Cure Of LeucodermaAyurveda Cure Of Leucoderma
Ayurveda Cure Of Leucoderma
 
Ayurveda Cure of Malaria
Ayurveda Cure of MalariaAyurveda Cure of Malaria
Ayurveda Cure of Malaria
 
Homoeopathy : Use of Trituration
Homoeopathy : Use of TriturationHomoeopathy : Use of Trituration
Homoeopathy : Use of Trituration
 
Ayurveda :Methods of Clinical Diagnosis
Ayurveda :Methods of Clinical DiagnosisAyurveda :Methods of Clinical Diagnosis
Ayurveda :Methods of Clinical Diagnosis
 
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir UsesHomoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
Homoeopathic Mother Tincturesandtheir Uses
 
Ayurveda : Classification and Groupings of diseases
Ayurveda : Classification and Groupings of diseasesAyurveda : Classification and Groupings of diseases
Ayurveda : Classification and Groupings of diseases
 

Colorimeteric ayurveda serum test

  • 1. This English & Hindi Bi-lingual e-Book Internet Edition is in form of P.D.F. and is FREE FOR DISTRIBUTION & without any cost and can be downloaded by anyone globally and in any country without obligations. Download link is given below; www.slideshare.net/drdbbajpai/documents AYURVEDA FUNDAMENTALS STATUS QUANTIFICATION BY BLOOD SERUM EXAMINATION THROUGH USING COLORIMETER "कलर मीटर" ारा र िसरम को टे ट करके आयुवद के िस धा त का टेटस वा ट फके शन आ कलन
  • 2. "कलर मीटर" ारा र िसरम को टे ट करके आयुवद के िस धा त का टेटस वा ट फके शन आ कलन BLOOD SERUM TEST FOR AYURVEDA FUNDAMENTALS STATUS QUANTIFICATION BY COLORIMETER TECHNIQUE (Bi-lingual Book ; English & Hindi) Inventor , Writer , Compiler & Chief Investigator ; Dr. Desh Bandhu Bajpai B.M.S. {Lucknow}, Ayurvedacharya {Delhi} , D.P.H. {Germany } M.I.C.R. { Mumbai }, C.R.C. {Cardio-vascular} M.D. {Medicine}, Ph.D. {E.T.G.AyurvedaScan Technology} Kanak Polytherapy Clinic & Research Center 67/70, Bhusatoli Road, Bartan Bazar, KANPUR – 208001, U.P. , INDIA MOBILE; 7376301730 Land line; 0512 2367773 This e- Book Internet edition is free for distribution without any obligation and costs. Download link ; www.slideshare.com/drdbbajpai/documents
  • 3. This Bi-lingual English and Hindi Language e- Book Internet edition is free for distribution without any obligation and costs. Download link ; www.slideshare.com/drdbbajpai/documents First Edition ; 2017 Price ; Rs 250/- in India © Copyright reserved by Author and publisher Publisher; Kanak Polytherapy Clinic and Research Center, 67/70, Bhusatoli Road, Bartan Bazar, KANPUR – 208001, U.P. INDIA Websites; www.ayurvedaintro.wordpress.com www.youtube.com/drdbbajpai www.slideshare.net/drdbbajpai E-mail; drdbbajpai@gmail.com
  • 4. Dedicated to ; Whom I love too Bandhu
  • 5. PREFACE ; This e-Book is Bi-lingual written in English and Hindi language for the global community, keeping in view that Ayurveda is a subject , which is originally composed in Sansakrit Language and is near to Hindi language. आयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह दआयुवद क" यह कताब दो भाषाओं यथा अ +ेजी भाषा और ह द भाषा मे िलख करभाषा मे िलख करभाषा मे िलख करभाषा मे िलख कर / तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है/ तुत क" जा रह है //// इसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ तइसका कारण यह है क आयुवद का मूल 5वचार स सकृ त भाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया हैभाषा मे िलखा गया है //// स कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क हैस कृ त भाषा ह द भाषा के अित नजद क है //// In modern era, Ayurveda is flourishing with the introduction of new technologies in diagnosis mainly in two fields, in which, number one is STATUS QUANTIFICATION of the FUNDAMENTALS OF AYURVEDA PRINCIPALS and second is, recognition of the ailments / ailing parts / ailing systems / disease diagnosis and diagnosis related problems to human body. आधुआधुआधुआधुिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मेिनक युग मे आयुवद मे कु छ नयी तकनीक" 5विधया िनदान :यान के ;े< मे आयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आआयुवद िच क=सा 5व:यान मे आ चुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" हैचुक" है और अब था5पत हो चुक" है //// इसमेइसमेइसमेइसमे आयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो काआयुवद के िस धा त का मू?या कन और रोग िनदान दोनो ह ;े< मे 5बिधयो का उपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूउपयोग 5वगत कई वषB से सफलता पूवCक हो रहा हैवCक हो रहा हैवCक हो रहा हैवCक हो रहा है //// Electro-tridosho-graphy; E.T.G. AyurvedaScan is an electrical scanning system based Ayurveda technology. The Electrical scan quantifies the status of the Ayurveda principles with diagnosis of body disorders. The electrical scan system, recording the emitting electrical impulses from the areas, according to the mapping of human body from selective body parts and after that the E.T.G. AyurvedaScan recorder sends recorded data to computer for analysis and synthesis, where related software produce a report, after completion of analysis and synthesis of the related subject matters. "इले Dोइले Dोइले Dोइले Dो----5<दोषो5<दोषो5<दोषो5<दोषो----+ाफ"+ाफ"+ाफ"+ाफ" //// ईईईई००००टटटट ००००जीजीजीजी०००० आयुवदा कै नआयुवदा कै नआयुवदा कै नआयुवदा कै न"""" एक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारेएक ऐसी 5विध है Iजसके ारा सारे या सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहलाया सJपूणC मानव शर र क" जा च करके पहला---- आयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो काआयुवद के मौिलक िस धा तो का नकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलननकलन और दसरा शर र के अ दर LयाM रोग का आ कलनूूूू , यह दोनो बातो कायह दोनो बातो कायह दोनो बातो कायह दोनो बातो का िनदान हो जाता हैिनदान हो जाता हैिनदान हो जाता हैिनदान हो जाता है //// हजारोहजारोहजारोहजारो रोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोगरोिगयो पर इस िनदान :यान समाधान 5विध का उपयोग
  • 6. कया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कयाकया जा चुका है और आज भी इस 5विध का उपयोग आयुवद क" िच क=सा मे कया जा रहा हैजा रहा हैजा रहा हैजा रहा है //// Comparative to this electrical scan, no laboratory test has been developed for Ayurveda for status quantification of Ayurveda Fundamentals and diagnosis of the disorders according to Ayurveda. This newly developed Laboratory test AYURVEDA technology can quantifies the status of Ayurveda Basic Fundamentals and disorders through examining human Blood Serum. यह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनयह पर ;ण एले Dािनक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग केक मशीनो ारा आयुवद के िनदशानुसार बतायी गयी मै5प ग के आधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराआधार पर रोगी के शर र के चुने हये थानो से इले Dोड के मा यम से मशीन ाराुुुु OरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते हैOरकाडC कये जाते है //// Iजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ाराIजसे बाद मे कJPयूटर आधाOरत साQट वेयर ारा अनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडCअनालाइिसस करके एक OरपोटC के Rप मे OरकाडC करके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता हैकरके / तुत कया जाता है //// ले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताले कन इसके अलावा दसर ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार नह हआ Iजसके ारा पताूूूू ुुुु लगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब हैलगाया जा सके क रोगी के अ दर आयुवद के िस धा तो का या हसाब कताब है ? मर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर हैमर जो क" जा च करने के िलये मेर अपनी पैथोलाIजकल लैबोरेटर है , IजसमेIजसमेIजसमेIजसमे मेमेमेमे अपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हअपने और अपने सहयोिगय के साथ मर जो का र और मू< पर ;ण करता हूूूू , यहयहयहयह सब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा हैसब 5पछले कई सालो से चलता चला आ रहा है //// कु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद केकु छ दशक पहले मेरे मन मे यह भाव उठा क या र के पर ;ण से आयुवद के मौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता हैमौिलक िस धा तो का आ कलन कया जा कता है ? यह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rयह 5वचार मुतC Rप के देने मेप के देने मेप के देने मेप के देने मे मुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगामुझे ◌्बहत समय लगाुुुु //// सबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन सेसबसे पहले मैने यह पहचानने क" कोिशश क" कौन कौन से के िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते हैके िमकल आयुवद के दोषो से मेल खाते है ? इन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके औरइन के िमकल को पXचान करके और /ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब/ैI टकल क" कसौट पर कस कर देखने के बाद जब अनुकू ल Oरज?ट िमलने लगे तब से लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCकसे लेकर मर जो को सफलता पूवCक र पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मेर पर ;ण करने क" 5वधी का अपनी लैबोरेटर मे अिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा हैअिधक 5वकास करने क" दशा मे कायC कया जा रहा है //// In our research center, Blood serum test is being performed since few years with success. We have developed this technology at our center and is continuous being developed to its advance level.
  • 7. With the help of these technologies, Ayurveda Diagnosis and Ayurveda treatment will be foolproof and exact and fruitful and without any deviations. हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /हम यह आशा करते है क आयुवद क" इस नयी टे नोलाजी से आयुवद के /ित लोगोित लोगोित लोगोित लोगो का वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाका वै:यािनक द5Yकोण समझ मे आयेगाॄॄॄॄ //// In this book, introduction and technology is given to readers. आधुिनक मशीनआधुिनक मशीनआधुिनक मशीनआधुिनक मशीन ”कलर मीटरकलर मीटरकलर मीटरकलर मीटर” ारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध काारा आयुवद के िलये र पर ;ण करने क" 5विध का 5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह5ववरण इस पु तक मे दया जा रहा ह //// हम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठकहम आशा करते है क Iज:यासु पाठक कोकोकोको इस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगीइस नवीन आ5व[कार के बारे मे जानकार /ाM होगी //// Dr. Desh Bandhu Bajpai Krishna Janmashtami & Independence Day 15 August 2017
  • 8. List of subjects ; 1- Introduction to Blood Serum Colorimetric test 2- Laboratory Requirements 3- Preparation of Tests
  • 9. Introduction to Blood Serum Colorimetric Test कलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवकलर मे Dक ारा आयुवद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदानद के िस धा तो का िनदान करने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचयकरने क" 5विध का लैबोरेटर पर ;ण पOरचय In Ayurveda , there is no any Blood Serum examinations or Laboratory test yet introduced for diagnosis of the Ayurveda fundamentals and diagnosis or human disorders, according to the direction of Ayurveda principles. In modern era, only Allopathic medical system has blood serum test facilities, developed by the biologists according to the theory and concept of the medical system. Comparatively it is seen that there is no existence of any kind of blood serum or serum based serological Laboratory tests in Ayurveda. आयुवद िच क=सा 5व:यान मे आ द काल से लेकर वतCमान तक कसी तरह का ”र के िमकल पर ;ण ” क" 5विध का आ5वSकार या ऐसी कसी 5विध का आ5वभाCव अभी तक नह हआ हैु / ले कन अब यह वतCमान मे सJभव हो चुका है / ऐसी 5विध क" खोज कर ली गयी है Iजसके उपयोग से आयुवद के मौिलक िस धा तो का मानव शर र के र पर ;ण ारा िनधाCOरत करना अब सJभव हो चुका है / यान रहे क ऐसी कसी 5विध का आ5वSकार अभी तक देश और दिनया मे कह पर भी नह हआु ु है / But in Ayurveda, the olden medical system, this is the first time; a Laboratory technology has been developed and introduced and is being practiced since few years with success. Success in the sense of practical implementation of the technological results, gained after the test, in view of treatment and management of the patient. ऐसा पहली बार हआ है क र के पर ;ण ारा मानव शर र के अ दर LयाM आयुवद के मौिलकु िसा त का टेटस वा ट फके शन कया जा सके / यह टे ट था5पत क" गयी लैबोरेटर मे कया जा कता है / र के पर ;ा के िलये इसी 5विध का 5ववरण इस पु तक के मा यम से बताया जा रहा है / आयुवद के िलये यह र पर ;ण टे ट ”कलर मीटर” इले Dािनक मशीन ारा कया जाता है / कलर मीटर मशीन सूरज क" सात करण , Iजनको VIBGYOR कहा जाता है, के का सेPट पर आधाOरत है / 5विभ न /कार क" वेव ले :थ पर तरल पदाथC क" लाइट इ टेI सट का एबजाब स देखा जाता है / ए]जाव स के बदलाव को नोट करके बाद मे इसके अ तर को तरह तरह के गनीत के समीकरनो ारा उस वै?यू को िनकालते है जो नामCल और ए]नामCल को दशाCता है /
  • 10. Now in Ayurveda, a Laboratory test has been developed with the help of COLORIMETER exercises and with some chemicals, which have been recognized and identified that they have properties and features as similar as Ayurveda Fundamentals narrated by the scholars of the Ayurveda in their respective compilations, as said about TRIDOSHA and SAPTA DHATU . आयुवद के िलये यह र पर ;ण टे ट ”कलर मीटर” इले Dािनक मशीन ारा कया जाता है / कलर मीटर मशीन सूरज क" सात करण , Iजनको VIBGYOR कहा जाता है, के का सेPट पर आधाOरत है / 5विभ न /कार क" वेव ले :थ पर तरल पदाथC क" लाइट इ टेI सट का एबजाब स देखा जाता है / ए]जाव स के बदलाव को नोट करके बाद मे इसके अ तर को तरह तरह के गIणत के समीकरण ारा उस वै?यू को िनकालते है जो नामCल और ए]नामCल को दशाCता है / The recognized and identified chemicals were tested in Laboratory for a long period and on large numbers of the patient and sick persons and also to the normal humans. पर ;ण के इस काम के िलये बहत तरह के के िमकल स] टे सेज को पहचान करके उन पर पर ;णु कये गये और बाद मे Iज हे ऐसा समझा गया क कौन सा के िमकल कस त=व पर असर कारक है, उस के िमकल को उसी त=व के िलये था5पत कर दया गया है / These recognized chemicals are observed to represent the following TRIDOSHA and SAPTA DHATUS. अभी तक िनJन िस धा त का के िमकल टे ट 5वकिसत कया जा चुका है / TRIDOSHA ; ( Ayurveda Aetiology ) 1- VATA / Wind Temperament / humor / वात दोष / वात /कृ ित 2- PITTA / Bilious Temperament / humor / 5प^ दोष / 5प^ /कृ ित 3- KAPHA / Phlegmatic Temperament / humor / कफ दोष / कफ /कृ ित 4- VATA +PITTA / वात और 5प^ दोष - दोषज 5- VATA+KAPHA / वात और कफ दोष - दोषज 6- PITTA+KAPHA / 5प^ और कफ दोष - दोषज 7- VATA+PITTA+KAPHA / वात और 5प^ और कफ दोष - 5<-दोषज SAPTA DHATUS ; (Ayurveda Patho-physiology & Pathology ) 1- RAS ; Metabolisation / Digestion /Assimilation ; रस धातु 2- RAKTA ; Hematology / Blood & Blood Disorders ; र धातु 3- MANS ; Muscular System / Tissues / Ligaments / Tendons / Flesh ; मा स धातु
  • 11. 4- MED ; Lipids / Fat / Fat Glands / Cholesterol / Triglycerides ; मेद धातु 5- ASTHI ; Skeletal system / Bones / Bones attachments / Joints ; अI थ धातु 6- MAJJA ; Skeletal system / Bones / Bones attachments / Joints ; अI थ धातु 7- SHUKRA ; Reproductive organs Patho-physiology & Pathology ; शु_ धातु Sapta Dhatus are further divided in three segments under VATA and PITTA and KAPHA dominated Triodshas. सM धातुओं का वग`करण वात और 5प^ और कफ दोषो के अ तगCत भी कया जाता है ता क िच क=सा कायC मे सट ा आये / इसके अलावा कु छ अ य 5वषयो का भी मू?या कन कर दया गया है , जो नीचे दये गये हa / Besides above mentioned subjects for blood tests, few ones can also quantified. These are as below ; 1- MALA (Stool) ; मल यानी पुर ष 2- MUTRA ( Urine) ; मू< यानी पेशाब 3- SWED ( Perspiration) ; वेद यानी पसीना 4- OAJ (Strength) ; ओज यानी शार Oरक फू तC^ा 5- SAMPURNA OAJ (Vigor) ; ओज यानी शार Oरक फू तC^ा During observations and experimentation period, patient history and by other sources, cross checking were done to secure the trueness and exactness of the results by Electro Tridosha Graphy AyurvedaScan technique results, also time to time results were checked by the Radial Pulse examination of patients by our volunteer Ayurvedicians. र पर ;ण क" 5विध को सट क और अचूक बनाने के सभी /यास हमारे ारा कये गये है / मर जो का Iजनका र पर ;ण कया गया है, उनक" रोग इितहास तथा उनकाई नाड़ का पर ;ण साथ साथ करते है और उनका ई०ट ०जी० आयुवदा कै न से /ाM डाटा का िमलान करके ह र पर [जण को <क स गत वRप दया गया है / Many features could not be traced by the RADIAL PULSE examination due to limitations in Radial Pulse examination as is mentioned in AYURVEDA NADI PARIKSHA. NADI PARIKSHA is mentioned in BHAV PRAKASHA classic book compiled by Bhav Mishra before 800 years ago. However those features, which can be traced by the Radial Pulse examinations, were compared with the Blood Serum examination results. बहत से आयुवद के मूल िस धा त का नकलन रे डयल प?स पर ;ण के ाु रा नह कया जा कता है योI क उस तर का अनुभव कया नह गया है / न ह शाc मे इन सभी 5ब दओं पर उ?लेखु कया गया है / जI]क इस तकनीक के ारा उन सभी 5ब दओं पर कायC कया गया है और /योगु
  • 12. कये गये है Iजनसे इइन सभी 5ब दओं का नकलन सJभव हो गयाु है / इस पर ;ण मे इन सबका समावेश कर दया गया है / The results obtained are seems true in its nature, in view of diagnosis. अ5वरत और 5बना dके हये र पर ;ण का कायC जार है और इसे और अिधक 5वकिसत करने केु िलये िनर तर /योग-शाला मे /योग कये जा रहे है / It is found during the experiment period that this test is very sensitive in its nature. This sensitivity confirms the theory of Ayurveda that Desh [Land/place of living] and Kaal [Time of year] and Paristithi [circumstances and Environment] affects the human body and their individuality. पर ;ण करने के दरिमयान ऐसा महसूस कया गया है क यह र पर ;ण बहत सेI स टव क मु का है और इसमे देश, काल, 5/I तिथयो आ द का असर दखता है , इसिलये जब पर ;न करते है तो इन सभी बातो का यान रखा जाता है / सामा य और असामा य लेवल को सेट करने मे इन सभी बातो का यान रखा गया है / The technology is very simple and in a small place / small room the test can be performed. तकनीक बहत साधारण है और इसे कह भी कभी भी कसी भी समय टे ट करने के िलये उपयोग मेु ला कते है / With the help of the result’s obtained through the laboratory test, an Ayurvedic practitioner / Ayurveda Physician / Ayurvedicians will be able to recognize the DOSHA and DHATU. On the ground of the result and parameters, the treatment strategy will be simple and accurate. कोई भी आयुव दक िच क=सक र पर ;ण के बाद समझ लेगा क रोगी को या दोष है और उसे कस तरह क" तकलीफ जेनेरेट हो रह है / इससे आयुव दक िच क=सक को यह सहिलयत िमलू जायेगी क रोगी को कस तरह के उपचार क" अव[यकता है ? The second aspect of the test is to manage the case according to the involvement of DOSHA intensity. इसका दसरा फायदा यह है क दोष और धातु के अनुसार रोगी को या मैनेeमे ट करना चा हयेू , यह सब पता चल जायेगा / सह मैनेeमे ट करने यानी पfय पालन, जीवन शैली के बदलाव और दन चयाC का पालन करना लाइलाज बीमाOरयो से +िसत मर जो के िलये अित आव[यक है / The third aspect is to gain and monitor the progress of the patient condition before the start of the treatment and after the course of treatment completion. Comparative study before and after the treatment will help to monitor the case in Toto.
  • 13. इस पर ;ण का तीसरा आ पे ट यह है क पर ;ण हो जाने के बाद क" जाने वाली िच क=सा के या पOरणाम िमले / जब यह पर ;ण दबारा या ितबारा या अिधक बार कये जाते हैु , तब यह पता लगता है क मर ज क" तकलीफ मे कतना सुधार हआ हैु ? The fourth advantages of the Ayurveda Blood serum test is to watch which dhatu is not in order and where the chain of health is deviating. इस पर ;ण का चौथा बड़ा फायदा यह है क सM धातुओ मे ऐसी कौन सी धातु है जो 5वकार पैदा कर रह है / ऐसे धातु 5वकार को पहचान कर उसका इलाज करने से रोग को दर करने मे सफलताू िमलती है / Other advantages are persists with the results of the tests , which will be applicable for comparison with the modern biological laboratory tests. For example if Ayurveda MED test shows high or low level of Med or Fat, the obtained value can be relatively compared with the similar PATHOLOGICAL TESTS i.e. Cholesterol or Lipids or Triglycerides. इसके अलावा अ य दसरे फायदे िच क=सा कायC मे होते है जैू से कJपर जन करके यह पता कर सकते है क 5पछले पर ;ण और आगे कये गये पर ;ण मे कतना नतर आया है / इससे मर ज को सह इलाज के िलये रा ता िमलता है और गलती होने क" सJभावनाये समाM हो जाती है / In this way, an Ayurvedician may choose remedies or line of treatment without any deviation with perfection with what to do or what not to do. र पर ;ण क" OरपोटC के आधार पर रोगी का इलाज करने से गलत इलाज करने क" अथवा गलत इलाज होने क" सJभावना बहत कम हो जाती हैु /
  • 14. Laboratory Requirements /योग/योग/योग/योग----शाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायgशाला के िलये आव[यकतायg Establishing the laboratory for Ayurveda Blood Test, demands some instrumentations requirements, which are essential. for performing the examinations. आयुवद के िलये र पर ;ण करने के िलये आव[यक मशीनर और उपकरणो क" जRरत होती है / जैसा क मे डकल /योग शाला के िलये उपकरण क" जRरत होती है, ठhक उसी तरह आयुवद र पर ;ण के िलये उपकरण और के िमकल र जे ट क" जRरत होती है / This is a full-fledged and complete PATHOLOGICAL LABORATORY as is equal to Modern Medicine – Allopathy. Every necessary machine and other supplementary instruments and glass-wares are required. Iजस तरह आधुिनक िच क=सा 5व:यान क" पैथोलाIजकल लैबोरेटर के िलये मशीन और उपकरणो क" आ][यकता होती है उसी तरह से आयुवद के र पर ;ण के िलये लैबोरेटर क" थापना के िलये मशीनो और उपकणB क" जRरत होती है / :लास वेयर, इ जे शन नीडल, के िमकल , र जे iस , कलर मीटर मशीन, से D Qयूजल मशीन , र रखने के िलये का च के समान, टे ट iयूब, 5पपेट, टै jस, समय देखने के िलये घड़ आ द आ द व तुओं क" आव[यकता होती है / The difference is only in the use of the Working solutions and Standard solutions, uses in the analysis. चूI क यह आयुवद का पर ;ण है इसिलये इसमे आयुव दक के िमकल और र जे ट क" आव[यकता होती है / The prime need is a COLORIMETER and all the tests are performed with the help of this electronic gadget. सबसे पहले इस पर ;ण को करने के िलये एक ”कलर मीटर " क" आव[यकता होती है / बाजार मे यह उपल]ध है / इनक" क"मते भी कई लैब मे होती है / बहत से अनालाग मीटरु आते है और बहत से डIजटल मीटर होतेु है / Iजसक" जैसी पस द हो वह वैसा अपनी ;मता नुसार खर द सकता है /
  • 15. Above; a Digital Colorimeter : Colorimeters are available in market in ANALOG and in DIGITAL mode. Some colorimeter are cheap and operated in main electric AC power supply, but some are available operated on 12 volt battery. Some hybrid Colorimeter are available, which can be operated on AC main power asupply and by 12 Volt battery supply current. It is up to the choice of the person who like to use it, whether of cheap quality or costly branded machine. कलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते हैकलर मीटर के कई माडल आते है //// यह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छयह मेन 5बजली से भी चलने वाले होते है और कु छ १२१२१२१२ वो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हaवो?ट क" बैटर से चलने वाले भी होते हa //// कु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह सेकु छ माडल ऐसे होते है जो दोनो ह तरह से आपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते हैआपरेट कये जा सकते है //// Below is given a list which will show what is needed and which laboratory wares are needed and required for the test.
  • 16. नीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRरनीचे एक िल ट द जा रह है Iजसमे कर ब कर ब उन लैबोरेटर वेयसC का तथा दसर जRर्््् ूूूू व तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते हैव तुओं का उ?लेख कया गया है Iजनका उपयोग आयुवद के इस टे ट मे करते है //// 1111---- कलर मीटरकलर मीटरकलर मीटरकलर मीटर Colorimeter 2222---- से D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीनसे D Qयूजल मशीन Centrifugal machine 3333---- यूवेट iयूबयूवेट iयूबयूवेट iयूबयूवेट iयूब Cuvett tubes 4444---- माइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेटमाइ_ो 5पपेट Micro-pipette 5555---- आयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशनआयुव दक ]लड टे ट व कC ग सो?यूशन Ayurveda Blood Test Working solution 6666---- आयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iसआयुव दक ]लड टे ट र जे iस Ayurveda Blood Test Reagents 7777---- व कC ग टेबलव कC ग टेबलव कC ग टेबलव कC ग टेबल Working Table 8888---- vापसCvापसCvापसCvापसC Droppers 9999---- अ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामानअ य लैबोरेटर के काम आने वाले सामान Other Glass wares and laboratory utilities 10101010---- िसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलयेिसOरजेज र िनकालने के िलये Injection syringes 11- RईRईRईRई //// गाजगाजगाजगाज Cotton / gauge I /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कI /ट और हाथ को डसै फे ट करने के िलये इका कले शन एjवा स मे कर लेना चा हयेर लेना चा हयेर लेना चा हयेर लेना चा हये //// Sprit and Hand-wash should be collected for anytime uses. इसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीइसके अलावा अ य बहत सीुुुु व तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती हैव तुओ क" आव[यकता समय समय पर पyती रहती है //// Besides these items, many other accessories are required time to time according to the need.
  • 17. Preparation of test टे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयारटे ट के िलये तैयार कसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती हैकसी भी टे ट को परफामC करने के िलये पहले से तैयार करने क" जRरत होती है //// योI कयोI कयोI कयोI क टे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीटे ट के शुR होने के समय के िमकल Oरय शन कभी कभी बहत तेज होते है और कभी कभीुुुु बहत धीमेबहत धीमेबहत धीमेबहत धीमेुुुु //// इसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वालेइसिलये मानिसक तौर पर टे ट करने वाले को तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोईको तैयार रहना चा हये ता क कोई भी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवेभी पOरI थिथ आवे, पर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहेपर ;ण करने वाला मानिसक तौर पर तैयार रहे //// Performing before any test , it is necessary that tester must prepare himself for any kind of out-comings suddenly because chemical reactions are very fast sometime and sometimes late, so to meet out with these problems mental preparation is necessary. Test are time taking and patience is necessary. रोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती हैरोगी के र पर ;ण के िलये रोगी के र क" जRरत पड़ती है //// यह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नसयह र िसित ज ारा नस के ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता हैके ारा िनकाला जाता है //// बहबहबहबहुुुुत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र केत से मर जो मे नस नह िमलती है इसिलये र शर र के कसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हयेकसी भी नस से लेना चा हये //// For Blood examination, patient blood is needed. For that blood should be collected from Veins. र को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती हैर को कले ट करने के िलये कई तरह क" iयू]स आती है //// Iज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसारIज हे आव[यकता अनुसार लैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हयेलैबोरेD मे रखना चा हये //// र सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलयेर सI चत करने के पहले र को जमने से रोकने के िलये ए टए टए टए ट ----कोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ईकोआगुले ट जैसे ई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० का उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते हैका उपयोग कर सकते है //// ईईईई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० क" लगभगक" लगभगक" लगभगक" लगभग ८८८८ यायायाया १०१०१०१० बू दबू दबू दबू द ५५५५ िमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती हैिमलीलीटर र के िलये सह होती है //// र को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसर को िनकालने के बाद िसOर ज सेOर ज सेOर ज सेOर ज से ईईईई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० सI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करकेसI चत iयूब या क टेनर मे Dा सफर करना चा हये और धीरे धीरे रोल करके सवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ईसवधानी से र मे ई००००डडडड ००००टटटट ००००एएएए०००० िमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पायेिमलाने क" कोिशश करना चा हये ता क र जमने ना पाये //// Blood collection is a specialize work and for that special tubes are available in market. According to need collection of these tubes are essential. Before collection of blood sample, EDTA is used as anti-coagulant. This anti- coagulants is 8 to 10 drops is sufficient to preserve almost 4-5 ml blood. More drops can be added, if seems insufficient. After drawing blood, this should be transfer to EDTA contained pot or tube or container by syringe as soon as possible. Delays may cause early beginning of clotting process. After transferring the blood in tube, slowly and gradually role tube in anti-clock and clock wise direction. After 5 minutes, keep the tube in stand. Iजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सकेIजतनी ज?द हो सके , Iजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता सेIजस iयूब मे र स +ह करके र खा गया है उसे उतनी ह शी|ता से से D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हयेसे D Pय़ूजल मशीन मे डालकर से D Pय़ूज कर लेना चा हये //// से D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाईसे D Pय़ुजल मशीन मे हाई पीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइसपीड और लो पीड का आPशन रहता है इसिलये Iजसको जैसा पस द हो वह अपनी चाइस
  • 18. के अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता हैके अनुसार पीड सेले ट करके र को से D Qयूज कर सकता है //// साधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया हैसाधार~तया देखा गया है क कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइक कु छ लोग धीरे धीरे पीड को बढाते है और फर अ त मे हाइ---- पीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तकपीड पर कु छ देर तक टके रहते हैटके रहते हैटके रहते हैटके रहते है , इसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईइसके 5वपर त बहत से ऐसे लोग भी है जो सीधे सीधे हाईुुुु ---- पीड पर र कोपीड पर र कोपीड पर र कोपीड पर र को से D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते हैसे D Qयूज करते है //// As soon as possible, blood should be centrifuged. For that centrifugal machine have speed options. It is up to the choice , on which speed , the blood should be centrifused. Generally some uses low speed beginning and gradually speed up, contrary some go to direct high speed. Centrifugal machine, by this machine blood is centrifuged for Test purposes. Before use of this machine, operative features should be well customized , given or offered by the
  • 19. manufacturer. Novices should take help of any laboratory technicians or doctors , particularly of pathology line and should have good knowledge to operate this machine at the laboratory. उपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा रउपरो मशीन के ारा र को से D Qयूज कयाको से D Qयूज कयाको से D Qयूज कयाको से D Qयूज कया जाता हैजाता हैजाता हैजाता है //// इससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते हैइससे र का िसरम ऊपर आ जाता है और तलछट मे र के कण आ जाते है //// इसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती हैइसके अलाबा अ य सामि+यो क" आव[यकता होती है //// Besides these items, some other smaller items are needed. Above picture shows the Micro-pippet for measuring Bloos or Serum or Chemical for use in test. Micro-pippette are available in different measuring scales. From 0.01 micro-milliliter to 1000 micro-milliliters and much more measuring scales, these pippettes are available.
  • 20. ऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ोऊपर दखाये गये िच< मे माइ_ो 5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है5पपेट को दखाया गया है //// यह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवायह माइ_ो 5पपेट ल अथवा िसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता हैिसरम अथवा के िमकल को एक सेट क" गयी मा<ा मे नाप देता है //// इससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख सेइससे बार बार मुख से 5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है5पपेट ारा उ सब •Lय को खीचने क" जRरत नह होती है //// यह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गयह बहत से मीजOर गुुुु के ?स मे आते हैके ?स मे आते हैके ?स मे आते हैके ?स मे आते है //// अपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुअपनी आL[यकता के अनुसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हयेसार इ हे लैबोरेटर मे रखना चा हये //// ऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCयाऊपर के िच< मे माइ_ो 5पपेट के साथ कलर मीटर मे /योग करने के िलय य़ूवेट iयूब को दशाCया गया हैगया हैगया हैगया है //// इसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी हैइसके साथ ड पोजेबल िसOर ज भी दखाई गयी है //// यह सब टे ट केयह सब टे ट केयह सब टे ट केयह सब टे ट के िलये जRर ह सेिलये जRर ह सेिलये जRर ह सेिलये जRर ह से हैहैहैहै //// यहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रहयहा के वल जानकार द जा रह है क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप सेहै क आयुवद के इन टे ट के िलये कन चीजो क" मु‚य Rप से जRरत होती हैजRरत होती हैजRरत होती हैजRरत होती है //// In this picture, Cuvetts are shown , which are uses in Colorimeter tests, Disposable syringes is used to draw blood from veins.
  • 21. Blood collection tube and Cuvetts with stand
  • 22. र पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती हैर पर ;ण के िलये के िमकल क" जRरत होती है //// जैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यहजैसा क पहले कहा गया है क यह के िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते हैके िमकल आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करने के िलये उपयोग कये जाते है , इसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर हैइसिलये टे ट के िलये के िमक?स का होना जRर है //// अलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलगअलग अलग कायB के िलये अलग अलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRअलग के िमकल क" जRरत होती हैरत होती हैरत होती हैरत होती है //// For Ayurveda Blood serum test, chemical substances are needed, which have been identified after long experiments. Therefore chemicals for each test are needed. आयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी हैआयुवद के र पर ;ण के िलये Iजन के िमकल क" खोज कर ली गयी है , वह िनJन /वह िनJन /वह िनJन /वह िनJन /कार केकार केकार केकार के आयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते हैआयुवद के िस धा तो का टेटस वा ट फाई करते है //// Chemicals which have been identified and invented for the status quantfication of Ayurveda principles can be used in the following items; 1- वात दोषवात दोषवात दोषवात दोष Vata Dosha 2- 5प^ दोष5प^ दोष5प^ दोष5प^ दोष Pitta Dosha 3- कफकफकफकफ दोषदोषदोषदोष Kapha dosha 4- Vaat + Kaph dosha 5- Vata+ Pitta dosha 6- Kapha + pitta dosha
  • 23. 7- Vata+ pitta + kapha dosha 8- Ras 9- Rakt 10- Mans 11- Med 12- Asthi 13- Majja 14- Shukra 15- Mal (Stool) 16- Mutra 17- Swed 18- Oaj 19- Sampurna Oaj Above 19 parameters of Ayurveda Principles can be examined by Blood serum Colorimetric procedures, which have been discussed already in this book. इस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता सेइस पु तक मे ऊपर बताये गये सभी आयुवद के िस ध त को कलर मीटर क" सहायता से रोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसकारोगी के शर र मे कतना पOरमाण मे उपI तिथ है इसका पता कर सकते हैपता कर सकते हैपता कर सकते हैपता कर सकते है ////
  • 24. How to perform test with the help of COLORIMETER ? How report is generated ? टे ट कै से करते हैटे ट कै से करते हैटे ट कै से करते हैटे ट कै से करते है, उसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधानउसका 5वधी 5वधान OरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरणOरपोटC कस तरह िलखते है उसका 5ववरण 1- र को मर ज क" वे स से िनकाल कर सुरI;त रखे और उसे से D Qयूजल मशीन मे छोyकर से D Qयूज कर ले / Draw blood from veins of the patient and centrifuge it. 2- र िसरम को सावधानी पूवCक vापर या 5पपेट का उपयोग करके दसर :लास वायल मgू Dा सफर कर लg / Blood serum separate and serum transfer to new clean glass vial carefully. 3- एक साफ यूवेट मे व कC ग सो?यूशन को ले / इसमे र जे ट िमलाना हो तो िमला ले या जैसा टे ट के िलये िनदश कये गये है , उसी िनदश का पालन करे / Follow the instructions as is given in each test pamphlets, supplied with working solutions. Take working solutions in a clean cuvett. 4- /=येक टे ट के िलये अलग अलग व कC ग सो?यूशन है और र जे ट भी अलग अलग है / एक टे ट कट मे एक ह /कार का टे ट होता है / इस /कार से १९ तरह के टे ट करने मे १९ कट उपयोग कये जाते है / एक टे ट कट मे ३० टे ट के िलये के िमकल और र जे ट क" मा<ा होती है / Working solutions are supplied separately for each test. Presently 19 tests are performed , therefore 19 kits are separately used. In each test kit 30 tests can be done and working solution and reagent for above mentioned numbers , contains in each kit. 5- टे ट ठhक उसी तरह से परफामC करना चा हये जैसा क /=येक कट के साथ मे इ स…कश स दये गये हa / Test should be performed according to the instructions supplied with the kit accordingly. For example , when test for Vata Dosha is performed, how it will be done ? Following steps should be taken.
  • 25. [a] Ready 'ON' Colorimeter and set color intensity level as instructed. For Vata dosha 430 nanometer is selected. वात दोष क" जा च करने के िलये ४३० नैनोमीटर क" कलर इ टेI सट लेवल पर सेट करना चा हये / [b] After that take plain water in a cuvett and put it in cuvett holder, set .00 zero level इसके बाद एक खाली य़ूवेट मे १ िमलीलीटर साधा साफ पानी लेकर जीरो लेवल क" से ट ग करg / [c] Put out cuvett, which was used for zero settings. जीरो से ट ग वाली यूवेट को बाहर िनकाल ले / [d] एक दसर साफ यूवेट मे एक िमलीलीटर व कC ग सो?यूशन वात दोष के टे ट के िलयेू कट से कसी िसOर ज ारा नाप कर या 5पपेट ारा नाप कर भर लg / अगर र जे ट अथवा टै डडC सो?यूशन िमलाने के िलये बताया गया हो तो वह इसमे िमला दे / In a plain cuvett, fill one milliliter working solution for the test of VATA dosha, if instructed Reagent or Standard solution should be mixed according to the quantity mentioned. e] अब इसमे र िसरम क" िनधाCOरत मा<ा 5पपेट ारा िमला दg / िसरम िमलाने के बाद यूवेट को हलाये , ता क इसमे िमले हये सभी •Lय आपस मे िमल जायgु / Now mix Blood serum in this solution as is instructed in quantity by pipette. Shake all solution gently to mix each other well. [f] After passing initial delays of 60 seconds, put the cuvett in cuvett holder carefully, watching the while line indicator both on cuvett and colorimeter. ६० सेक ड तक शेक करने के बाद यूवेट को कलमीटर के यूवेट हो?डर मे डाल देना होता है / यान रखे क यूवेट क" सफे द लाइन का िमलान कलर मीटर के ऊपर इI गत सफे द लाइन से बराबर आमने सामने हो / [g] कलर मीटर के दIजटल मीटर मे आयी हयी र ड ग को पढg और नोट करले या िलख लेु या र ड ग सुरI;त कर लg / Read colorimeter reading and note down or write the reading for calculatory work. note the time of reading. [h] इस पहली र ड ग लेने के बाद यूवेत को िनकाल कर तै ड मे रख ले / २० िमनट बाद दसर र ड ग ठhक उसी तरह से ले जैसा ऊपर बताया गया हैू /
  • 26. After first reading , put out the cuvett from colorimeter and keep it in stand. After delay of 20 minutes take the second reading of cuvett as is instructed above. Write down the second reading. [i] दोनो र ड :स को िलख लg / वात दोष रोगी के शर र मे कतना मौजूद है इसको जानने के िलये एक फामूCला है Iजसके ारा कै ?कु लेशन करके शर र मे वात क" मा<ा का पता कया जा सकता है / यह फामूCला िनJन /कार है / र ड ग दसर वाली याू २० िमनट बाद वाली ----------------------------------------------- र ड ग पहली वाली यानी ६० सेक ड डले वाली नीचे यानी पहली वाली र ड ग का भाग दसर वाली र ड ग से देते हa और Iजतना भाग आताू है उसे १०० से गुणा करते है / कनक पालीथेरापी लीिनक एवम OरसचC से टर, कानपुर ारा वात दोष का साम य आ कलन ८५ से लेकर ११५ िमली+ाम /ितशत ए वीवैले ट /ित लीटर िनधाCOरत कया गया है / इसिलये य द वात दोष का आ कलन लेवल इस िनधाCOरत रे ज मे आता है तो वात दोष का /भाव रोगी मे सामा य लेवल का है ऐसा समझना चा हये, ले कन य द यह लेवल सामा य िनधाCOरत लेवल से या रे ज से कम हो तो वात दोष का /भाव सामा य से कमजोर है , ऐसा मानना चा हये अथवा य द िनधाCOरत सामा य लेवल से अिधक है तो फर वात दोष का बढना मानना चा हये / यˆ5प यह िनधाCOरत रे ज कानपुर, उ^र /देश, भारत के वायु म डल और देश काल पOरI तिथयो के अनुसार िनधाCOरत क" गयी है , Iजसे हजार बार पर ;ण करके िनधाCOरत कया गया है / फर भी इसक" रे ज मे टे ट करने वाली लैबोरेटर को लगता है या महसूस होता है क इस रे ज को कम अथवा अिधक कया जाय तो यह िनधाCरण वह लैबोरेटर कर सकती है / Write both the readings. A formula is developed for determination of VATA DOSHA and according to that formula calculation can be made through it and the status of Vata can be quantified. The formula is given below. Second reading that means reading taken after 20 minutes ---------------------------------------------------------------------------------- First reading that means reading taken after 60 seconds Substract it, the substracted gain is multiplied by 100. In Kanak Polytherapy Clinic and Research Center the VATA DOSHA is fixed 85 to 115 mg%Eq/L, that means the range is in milligram percent equivalent to per liter. In
  • 27. between this range the VATA DOSHA is in within normal limit. Above and below to this range should be fixed accordingly. Although this range is fixed at KANPUR, UP State, INDIA, but the testing lab can fix his own parameters, if Laboratory feels any change in the normal range . It could be due to envioronement , place, altitude, weather condition and other reasons, which can affects the physical body. For example, calculation is given below; EXAMPLE; In one Blood serum test the for VATA DOSH, the reading after 60 seconds came .08. After 20 minutes the reading came .09. The according to formula the equation will be like below; .09 ----- .08 substracted answer is 1.13 1.13 is multiplied by 100 the number is 112.50 or say 113. The gained number is in within normal limit of VATA as it is fixed. उपरो फामूCले के हसाब से वात दोष का नकलन कर लेते है / इसी तरह से 5प^ और कफ और सM धातुओ के कट और र जे ट का उपयोग करके आयुवद के १९ /कार के मौिलक िस धातो का नक?न कर सकते है / ये सभी १९ आ कलन आयुवद क" िच क=सा कायC के िलये बहत सट क काम आते हैु / Iजनका उ?लेख पहले कया जा चुका है / यˆ5प इन सबका उ?लेख कसी अ य पु तक मे 5व तार से कया जायेगा / ले कन कलर मीटर क" इस 5वधा के ारा आयुवद के िस ध तो का नकलन कया जाना आयुवद िच क=सा 5व:या के िलये एक मील का पfथर सा5बत होगा , ऐसा समझा जाना चा हये / By the above mentioned formula, Vata Dosha should be quantified. Similarly Pitta, Kapha and Sapta Dhatus and Malas are quantified. The Kit supply the way of information for test performances. Following the rules and calculation all 19 parameters of Ayurveda principles can be obtained.
  • 28. All gained paraeters are necessary for CLASSICAL AYURVEDA DIAGNOSIS AND TREATMENT AND MANAGEMENT programmes. The mentioned subject have wide analysis and comments, threfore in other books , this will be discussed. However by COLORIMETRIC ANALYSIS OF BLOOD SERUM FOR AYURVEDA PRINCIPLES will be a mile-stone and will give a height to Ayurveda, which is assumed. कलर मीटर क" सहायता से दसरे सीरोलाIजकल टे ट भी कये जा सकते हैू / आयुवद के िच क=सको के िलये मेर यह एक सलाह और भी है क अ‰छा यह होगा क य द वे यह टे ट अपने यहा पफाCमC करना चाहते है तो फर कसी मे डकल लैबोरेटर के टे नीिशयन या डा टर क" सहायता ले तो अ‰छा होगा / This is advisable that help from any medical Laboratory technician or doctor should be taken in need. COLORIMETER can be used in other SEROLOGICAL EXAMINATIONS at your clinic or establishment. नीचे एक OरपोटC द गयी है Iजसमे कलर मीटर के ारा कये गये पर ;ण क" वै?यू द गयी है / इसे देIखये और समIझये क इस OरपोटC के ारा मर ज क" या और कस तरŠ से सहायता पहचायी जा सकती हैु / Below is given a report, in which almost all parameters are tested. See it and evaluate it and think about the diagnosis of disorders. How you take this report for your consideration in view of Ayurveda Diagnosis and treatment.
  • 29.
  • 30. APPENDIX ; Dr. Desh Bandhu Bajpai Born 20 November • Ayurvedacharya • Bachelor of Medicine and Surgery • D.P.H. [Germany]
  • 31. • Ex. Lecturer ; J.L.N.H. Medical College and allied Hospital, Kanpur, UP, India • MY INTRODUCTIONMY INTRODUCTIONMY INTRODUCTIONMY INTRODUCTION Name: डाडाडाडा०००० देश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयीदेश बंधु बाजपेयी Dr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu BajpaiDr. Desh Bandhu Bajpai, I belongs to Kanpur city, Uttar Pradesh, India. *Graduate and Post graduate in Homoeopathy, studied HOMOEOPATHY at KRANKENHAUS FUER NATURHEILWEISSEN, MUNCHEN, Germany in year 1973, also studied Homoeopathy at INSTITUTE OF CLINICAL RESEARCH, MUMBAI in year 1980 at POST GRADUATE level. Photo; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself forPhoto; From Left Dr Desh Bandhu Bajpai, an Unknown person who inserted himself for photogrphotogrphotogrphotography, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen,aphy, Dr. med. Walther Zimmermann, Chefartz, Krankenhaus fuer Naturheilweissen, Harlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 atHarlaching, Munich, Germany and Dr. K.N. Khanna , Kanpur. The Photo was taken in 1977 at Vigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organisedVigyaan Bhavan, New Delhi at the occassion of Word Conference of Homoeopathy, organised by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland.by International Homoeopathy League, Switzerland. *Graduate, Post graduate and Post Doctoral in AYURVEDA *Practicing Allopathy, Ayurveda and Homoeopathy and Unani and Nature-cure and yoga , simultaneously along with Acupuncture, Magneto therapy, Nature cure, Dietetics, Physiotherapy etc. since 40 years in Kanpur *Deals in Ayurvedic Cardiology and Incurable disease conditions. *Inventor: Electrotridoshagraphy [ETG AyurvedaScan] technology, Electrohomoeography [EHG] technology and 4 dimensional Electrocardiography [ECG] machine
  • 32. Inventor ; COLORIMETRIC ANALYSIS OF BLOOD SERUM TO QUANTIFY THE STATUS OF AYURVEDA PRINCIPALS AND DIAGNOSIS OF DISORDERS *Inventor: Shankhadrav Based Medicine *Inventor: Clinical trial of Ayurvedic medicine in Penta scale potency *Inventor: Blood serum flocculation test for diagnosing Ayurvedic and Homoeopathic medicines *Inventor: Bandhu Slips and Card repertory of Ayurvedic and Homoeopathic remedies *Some of the inventions are well appreciated by the National Innovation Foundation, Ahamedabad, India. *Visited: Afghanistan, Iran, Turkey, Bulgaria, Yugoslavia, Czechoslovak, Po land, Holland,Germany, Austria, Nepal etc. *Hobbies; Writing, Reading, Electronics, Touring, Visiting new places, Classical Music, Art, Paintings, Journalism, Photography etc. *Formerly Lecturer in HomoeopathicMedicalCollege and examiner of Homoeopathy in few Universities *Language: () Foreign-English, German () Indian: Hindi, Sansakrit, ############################################################################################################################ • can be contacted at following address by phone / mobile or personal visit:यहां सJपकC करgयहां सJपकC करgयहां सJपकC करgयहां सJपकC करg :::: • Vaidya Desh Bandhu Bajpai, मोबाइलमोबाइलमोबाइलमोबाइल :::: ९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४९३३६ २३८९९४ Mobile: 9336238994 E-mail; drdbbajpai@gmail.com E-mail; kpcarc@gmail.com
  • 33. Dr. Desh Bandhu Bajpai is with Dr. Horzt Pratsyuntek, Reuher University, Bochum, Germany at CCRAS Head Quarter, Department of AYUSH, Ministry of Health and Family Welfare, New Delhi on 18th March 2009. Dr. Desh Bandhu Bajpai Demonstrating the Recording of ETG AyurvedaScan to Dr. Hortzt Pratsyuntek, who was very eager to know about the newly invented Ayurveda Technology at CCRAS, New Delhi on 18th March 2009
  • 34.
  • 35. Appendix;Appendix;Appendix;Appendix; References ;References ;References ;References ; 1. Book Title ; Sankhya Philosophy by Muni Kapila 2. Book Title ; Charak Samhita 3. Book Title ; Sushrut Samhita 4. Book Title ; Bhav Prakash 5. Book Title ; Madhav Nidan 6. Commentry on Sankhya Philosophy by Shri Nand Lal Sinha, M.A. ,B.L., P.C.S. 7. Human Physiology by Dr. Chandi Charan Chatterjee 8. Human Physiology by Dr. A.K. Jain 9. References taken from books of Physcis, Chemistry, Biology, Bio-chemistry and other related subjects matters referenced to Ayurveda 10. An Introduction to E.T.G. AyurvedaScan Technology book written by Dr.Desh Bandhu Bajpai, Inventor & Chief E.T.G. AyurvedaScan Investigator ; relevant and referenced chapters 11. Status quantification of Ayurveda principles in Hindi Language by Dr Desh Bandhu Bajpai 12. Medical Laboratory Technology by Dr. Ramanik Sood, Delhi
  • 36.
  • 37.
  • 38.
  • 39.
  • 40. Declaration;Declaration;Declaration;Declaration; This book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used byThis book is for FREE DISTRIBUTION and can be used by any person.any person.any person.any person. Although the written material is the CopyAlthough the written material is the CopyAlthough the written material is the CopyAlthough the written material is the Copy----right of theright of theright of theright of the author, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given anyauthor, therefore any quote or reference , if given any where, must be referenwhere, must be referenwhere, must be referenwhere, must be referenced with due discipline.ced with due discipline.ced with due discipline.ced with due discipline. Author has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action againstAuthor has complete right to take any legal action against any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach.any anomalies coming under law breach. Dr. D.B.BajpaiDr. D.B.BajpaiDr. D.B.BajpaiDr. D.B.Bajpai AuthorAuthorAuthorAuthor Krishna JanmaashtamiKrishna JanmaashtamiKrishna JanmaashtamiKrishna Janmaashtami & Independence Day& Independence Day& Independence Day& Independence Day 15 August 201715 August 201715 August 201715 August 2017
  • 41. Free Download Link on Internet for this book ; www.slideshare.net/drdbbajpai/documents AYURVEDA FOR ALL