Successfully reported this slideshow.
Your SlideShare is downloading. ×

आर्युस्‍कैन: समाचार पत्रों में ई0टी0जी0 तकनीक

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Check these out next

1 of 17 Ad

आर्युस्‍कैन: समाचार पत्रों में ई0टी0जी0 तकनीक

Download to read offline

ई0टी0जी0 तकनीक के बारे में कई समाचार पत्रों और पत्रिकाओं ने यथानुसार प्रकाशन किया था । ऐसे प्रकाशन का संकलित विवरण प्रस्‍तुत किया जा रहा है ।

ई0टी0जी0 तकनीक के बारे में कई समाचार पत्रों और पत्रिकाओं ने यथानुसार प्रकाशन किया था । ऐसे प्रकाशन का संकलित विवरण प्रस्‍तुत किया जा रहा है ।

Advertisement
Advertisement

More Related Content

Viewers also liked (20)

More from Dr. Desh Bandhu Bajpai (20)

Advertisement

आर्युस्‍कैन: समाचार पत्रों में ई0टी0जी0 तकनीक

  1. 1. आर्युस्‍कैन : ई 0 टी 0 जी 0 : समाचार पत्रों में प्रकाशन प्रस्‍तुतकर्ता : डा 0 देश बन्‍धु बाजपेयी कनक पालीथेरेपी क्‍लीनिक एवं रिसर्च सेंटर 67-70, भूसाटोली रोड , बरतन बाजार , कानपुर – 208001, यू 0 पी 0, भारत फैक्‍स : 91 512 2308092
  2. 2. आर्युस्‍कैन : ई 0 टी 0 जी 0 : समाचार पत्रों में प्रकाशन <ul><li>कई समाचार पत्रों में ई 0 टी 0 जी 0 तकनीक के बारे में कुछ वर्षों पहले छप चुका है </li></ul><ul><li>ये समाचार पत्र हिन्‍दी भाषा में छपते हैं </li></ul>
  3. 3. कानपुर , उत्‍तर प्रदेश राज्‍य , भारत से प्रकाशित साप्‍ताहिक समाचार पत्र ‘’ दि मारल ‘’
  4. 4. इस तकनीक के बारे में सबसे पहले इसी समाचार पत्र में सूचना छपी थी
  5. 5. इस समाचार प्रकाशन के बाद वैद्य समाज में और आम आयुर्वेद के जानकार लोगों के बीच में बहुत सकारात्‍मक प्रतिक्रिया हुयी
  6. 6. सभी प्रकार की औषधियां , जड़ी , बूटियां , अन्‍य सभी प्रकार के औषधीय प्रकारों के परीक्षण , कोई भी औषधीय अथवा अन्‍य तत्‍व आदि का परीक्षण इस तकनीक द्वारा संभव
  7. 7. इस लेख में प्रमाणों के साथ वात दोष को ज्ञात कर लेनें की प्रस्‍तुति
  8. 8. इस तकनीक द्वारा रोगों का निदान कैसे किया जा सकता है , इसका प्रमाण सहित प्रस्‍तुत लेख
  9. 9. नई दिल्‍ली से प्रकाशित मिस्टिक इंडिया पत्रिका का आवरण
  10. 10. मिस्टिक इंडिया में छपा हुआ लेख
  11. 11. मिस्टिक इंडिया में छपा हुआ लेख
  12. 12. साइंटिफिक जरनल आफ पंचकर्मा पत्रिका का मुखपृष्‍ठ इस पत्रिका नें ई 0 टी 0 जी 0 तकनीक पर लेख प्रकाशित किया है
  13. 13. आयुर्वेद वेब ब्‍लाग <ul><li>यह वेब साइट हिन्‍दी भाषा में है </li></ul><ul><li>http://www.etgind.wordpress.com </li></ul><ul><li>यह वेब साइट अंगरेजी भाषा में है </li></ul><ul><li>http://www.ayurscan.wordpress.com </li></ul><ul><li>समय समय पर वेब साइटों में दर्ज की गयी सूचनाओं में आवश्‍यकतानुसार परिवर्तन किये जाते हैं </li></ul>
  14. 14. आयुर्वेद वीडिओ प्रस्‍तुति <ul><li>निम्‍न वेब साइट पर आयुर्वेद के विभिन्‍न विषयों से संबं‍धित प्रस्‍तुति वीडियो द्वारा की जाती है , कृपया वीडियो प्रस्‍तुति देखें और सुनें </li></ul><ul><li>http://youtube.com/drdbbajpai </li></ul>
  15. 15. स्‍लाइड शो प्रस्‍तुति <ul><li>निम्‍न वेब साइट पर आयुर्वेद से संबंधित विभिन्‍न विषयों पर स्‍लाइड शो प्रस्‍तुत किये जाते हैं , कृपया अवश्‍य अवलोकन करें </li></ul><ul><li>http://slideshow.net/drdbbajpai </li></ul>
  16. 16. डा 0 देश बंधु बाजपेयी <ul><li>जन्‍म 20 नवम्‍बर 1945 </li></ul><ul><li>40 सालों से अधिक एलोपैथी , आयुर्वेदिक , होम्‍योपैथिक चिकित्‍सा विधियों से प्रैक्टिस </li></ul><ul><li>एकूपंक्‍चर , मेग्‍नेट थेरेपी , फिजियोथेरेपी , योग , प्राकृतिक चिकित्‍सा आदि द्वारा चिकित्‍सा कार्य करनें का अनुभव </li></ul><ul><li>आविष्‍कारक : इलेक्‍ट्रोत्रिदोषग्राफी , शंखद्राव आधारित औषधियां , पेंटास्‍केल आयुर्वेदिक औषधियां </li></ul><ul><li>असाध्‍य रोगों , कठिन रोंगों , पुरानीं बीमारियों के इलाज में एक्‍सपर्ट चिकित्‍सक </li></ul>
  17. 17. अपनें मित्रों को बतायें <ul><li>इस स्‍लाइड शो के बारे में अपनें मित्रों , डाक्‍टर बन्‍धुओं , रिश्‍तेदारों आदि लोगों से जिक्र करें , ईमेल करें और उन्‍हें बतायें </li></ul><ul><li>धन्‍यवाद </li></ul>

×