Child malnutrition in India-causes and solutions- hindi 2014

3,954 views

Published on

This is an overview of child malnutrition in India-causes, measurement, and approaches to overcome malnutrition. This is based on my study in 2014

Published in: Health & Medicine
0 Comments
3 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

No Downloads
Views
Total views
3,954
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
10
Actions
Shares
0
Downloads
164
Comments
0
Likes
3
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Child malnutrition in India-causes and solutions- hindi 2014

  1. 1. कु पोषण-पहचान और रोकथाम डॉ शाम अ टेकर 1-अ ैल 2014 1
  2. 2. नयी अंगनबाडी 2
  3. 3. 1 कु पोषण-कै से पहचाने। 3
  4. 4. तोलना 4
  5. 5. तोलना 5
  6. 6. तोलना-इले ॉ नक मशीनपर 6
  7. 7. भारवृ ी चाट 7
  8. 8. भारवृ ी चाट-सामा य ेणी 8
  9. 9. भारवृ ी चाट-सामािजक 9
  10. 10. उंचाई-कद का मापन 10
  11. 11. उंचाई-कद के मापन हेतु इंफटोमीटर 11
  12. 12. उंचाई-कद के अनुसार भार और ेणीमापन 12
  13. 13. कु पो षत ब च का %%%% माण रा य कम भार वाले ब च का % माण कम कद वाले ब च का % माण कम कद-भार वाले ब च का % माण के रल 20.8 23.4 16.4 ता मऴनाड 28.6 21.7 26.4 महारा 31.5 43.9 15. आं 31.7 42.9 14.1 कनाटक 35.6 36.7 20.7 प. बंगाल 35.6 40.6 21.4 %%%% माण (आयु 0-2 बरस तक) 35.6 40.6 21.4 कु ल 37.7 41.3 22.3 ओ डसा 40.3 47.3 18.2 उ देश 47.8 44.9 31.7 गुजरात 48.4 54.9 27.7 म य देश 51.4 48.7 33 NNMB survey 2012 13
  14. 14. इन 3 मापदंडोके अलावा भुजा का घेरा नापने क भी प ती है। भुजा का घेरा नापने क प ी 14
  15. 15. भुजा का घेरा नापने क प ती (इस फोटोम म यम ेणी कु पोषण) 15
  16. 16. भुजा का घेरा नापने क प ती (इस फोटोम सामा य ेणी) 16
  17. 17. 2 कु पोषण-रोकथाम 17
  18. 18. बालकु पोषण क कारण परंपरा समझना ज र है कु छ बालमृ यू कु पोषण और बीमार का च , १०% ब चे ती कु पो षत म हला और कशोर लड कय म कु पोषण,म हला और कशोर लड कय म कु पोषण, ऍ न मया और दुबलापन| कम उ म शाद , सव, वा य सेवाओं क कमी, ज म वजन कम होना, तनपान म खा मयॉ ं और छ: मास बाद ठ क से खाना नह | गंदगी, कम पौि टक आहार, वा य णाल क कमी, अंध व वास, गलत धारणा, लंग भेद, पलायन, यातायात क मुि कले, कम रोजगार, महंगाई, सावज नक वतरण णाल क खा मयॉ ं आद 18
  19. 19. मह वपूण एक हजार दन गभाव था, 300 2रा वष, 365 के वल तनपान, 1807 से 12 म हनेतक, 145 2रा वष, 365 19
  20. 20. ज द या न 18 बरस के पहले लडक क शाद न करे। 21 के पहले ब चा क शाद न करे। 21 के पहले ब चा भी न हो। 20
  21. 21. समय समय पर गभाव था क जांच करे। र ता पता टाले। 21
  22. 22. सव के लये अ पताल जाय, 102 सेवा का उपयोग। 22
  23. 23. सव के लये अ पताल जाय, 102-108 सेवा का उपयोग। 23
  24. 24. कम भार या कमजोर शशुको खास लाज क ज रत होती है 24
  25. 25. सव आ द सेवाओंका उपयोग- घर म सव कराना टाल। 25
  26. 26. सव के बाद तुरंत तनपान, तथा 6 मास तक के वल तनपान करना अहम ् है। 26
  27. 27. ब चेक समय समय पर देखभाल 27
  28. 28. नजी व छता सखाना 28
  29. 29. गंदगी रोकना पाखाने 29
  30. 30. पाखाने 30
  31. 31. साफ पानीका और फ टर का उपयोग 31
  32. 32. हाथ धोनेसे सं मण कम होता है 32
  33. 33. अ छा भोजन और खानेक आदते 33
  34. 34. आहार और पोषणक क ब च को भी जानकार 34
  35. 35. 35
  36. 36. घर घर म ब च के लये खानेका खजाना 36
  37. 37. अंगनबाडी से पूरक खा या न का सह उपयोग 37
  38. 38. सोयाबीन और दाल का का थन के लये सरासर योग 38
  39. 39. दूध, अंडे और मूँगफल का मह व-- थन 39
  40. 40. माय ो यू यंट या न सू मपोषक त व भी ज र है 40
  41. 41. द त या बुखार बीमार का तुरंत इलाज 41
  42. 42. कु पो षत ब च का इलाज अंगनबाडीम ाम पोषण पुनवास क अ पताल म पोषण पुनवास क 42
  43. 43. ज म से लेकर शशु का वजन ठ क रहना चा हये। 43
  44. 44. कु पोषण मु ती के लये प रवार नयोजन भी ज र है। 44
  45. 45. ब च का खानपान सब क िज मेवार 45
  46. 46. सु ढ शशु ह कल का व थ नाग रक हो सकता है 46
  47. 47. शुभ कामनाऍ Dr Shyam Ashtekar (MD, Community Medicine) 21 Cherry Hills Society,Anandwalli, Nashik 422013 shyamashtekar@yahoo.com Cell +919422271544 Website: arogyavidya.org,arogyavidya.org, bharatswasthya.net 47

×