Successfully reported this slideshow.
We use your LinkedIn profile and activity data to personalize ads and to show you more relevant ads. You can change your ad preferences anytime.

gender discrimination

277 views

Published on

gender discrimination

Published in: Education
  • Be the first to comment

gender discrimination

  1. 1. INTERNAL SEMINAR
  2. 2.  लैंगिक न्याय बनना भारत में एक आसान काम नह ीं है। अतत प्राचीन काल से, एक महहला बच्चे को एक अवाींतित इकाई और एक बोझ जिसे माता-पिता के साथ भाि कर मन नह ीं होता के रूि में माना िया है। महहलाओीं के खिलाफ भेदभाव भी उसके िन्म से िहले ह शुरू होता है। कन्या भ्रूण हत्या और शशशु हत्या की भीषण बुराइयों को साबबत कै से क्रू र दुतनया में महहलाओीं के शलए हो सकता है।
  3. 3.  लैंगिक भेदभाव एक व्यजतत के शलींि या शलींि, िो अगिक बार लड़ककयों और महहलाओीं को प्रभापवत करता है के आिार िर भेदभाव का मतलब है। लैंगिक भेदभाव की विह से, लड़ककयों और महहलाओीं को लड़कों और शशक्षा, साथथक कररयर, रािनीततक प्रभाव और आगथथक उन्नतत के शलए िुरुषों के समान अवसर नह ीं है।
  4. 4.  ल िंग’ सामाजिक-साींस्कृ ततक शब्द हैं, सामाजिक िररभाषा से सींबींगित करते हुये समाि में ‘िुरुषों’ और ‘महहलाओीं’ के कायों और व्यवहारों को िररभापषत करता हैं, िबकक, 'सेतस' शब्द ‘आदमी’ और ‘औरत’ को िररभापषत करता है िो एक िैपवक और शार ररक घटना है। अिने सामाजिक, ऐततहाशसक और साींस्कृ ततक िहलुओीं में, शलींि िुरुष और महहलाओीं के बीच शजतत के कायथ के सींबींि हैं िहााँ िुरुष को महहला से श्रेंष्ठ माना िाता हैं।
  5. 5. 1. िर बी 2. तनरक्षरता 3. रोििार सुपविाओीं की कमी 4. सामाजिक ऊीं चाई 5. सामाजिक र तत-ररवािों, मान्यताओीं और िद्िततयों: 6. महहलाओीं के बारे में िािरूकता का अभाव
  6. 6.  वैश्ववक सूचक िंक: 1. यूएनडीिी के शलींि असमानता सूचकाींक - 2014: 152 देशों की सूची में भारत की जस्थतत 127वें स्थान िर हैं। साकथ देशों से सींबींगित देशों में के वल अफिातनस्तान हह इन देशों की सूची में ऊिर हैं। 2. आगथथक भािीदार और अवसर। 3. शैक्षक्षक उिलजब्ियााँ। 4.स्वास््य और िीवन प्रत्याशा। 5.रािनीततक सशजततकरण इन सभी सूचक कों के अन्तगगत भ रत की श्थितत इस प्रक र हैं:  आगथथक भािीदार और अवसर – 134।  शैक्षक्षक उिलजब्ियााँ – 126।  स्वास््य और िीवन प्रत्याशा – 141।  रािनीततक सशजततकरण – 15।
  7. 7.  शलींि असमानता पवशभन्न तर कों में प्रकट होता है और भारत में िो सूचकाींक सबसे अगिक गचन्ता का पवषय हैं वो तनम्न हैं:  1.कन्या भ्रूण हत्या  2.कन्या बाल-हत्या  3.बच्चों का शलींि अनुिात (0 से 6 विथ): 919  4.शलींि अनुिात: 943  5.महहला साक्षरता: 46%  6.मातृ मृत्यु दर: 1,00,000 िीपवत िन्मों प्रतत 178 लोिों की मृत्यु।
  8. 8.  शलींि असमानता को दूर करने के शलये भारतीय सींपविान ने अनेक सकारात्मक कदम उठाये हैं; सींपविान की प्रस्तावना हर ककसी के शलए सामाजिक, आगथथक और रािनीततक न्याय प्राप्त करने के लक्ष्यों के साथ ह अिने सभी नािररकों के शलए स्तर की समानता और अवसर प्रदान करने के बारे में बात करती है। इसी क्रम में महहलाओीं को भी वोट डालने का अगिकार प्राप्त हैं। सींपविान का अनुच्िेद 15 भी शलींि, िमथ, िातत और िन्म स्थान िर अलि होने के आिार िर ककये िाने वाले सभी भेदभावों को तनषेि करता हैं। अनुच्िेद 15(3) ककसी भी राज्य को बच्चों और महहलाओीं के शलये पवशेष प्राविान बनाने के शलये अगिकाररत करता हैं। इसके अलावा, राज्य के नीतत तनदेशक तत्व भी ऐसे बहुत से प्राविानों को प्रदान करता हैं िो महहलाओीं की सुरक्षा और भेदभाव से रक्षा करने में मदद करता हैं।
  9. 9. 1. मुफ्त शशक्षा 2. मुफ्त िोशाके और िुस्तके 3. िात्रवृतत 4. अलि पवद्यालय 5. प्रयाप्त शैक्षक्षक सुविाए 6. महहला अध्यापिकाओ की तनयुजतत 7. िात्रावास की व्यस्था 8. लड़ककयों के आवश्कताओ के अनुसार िाठ्यक्रम का तनमाथण 9. इसके आलावा शलींि असमानता के शलए सुझाए िए उिाय
  10. 10. … हर तीन महहलाओीं में से एक वैवाहहक िीवन में हहींसा अनुभव करती हैI ..भारतीय महहलाओीं का शार ररक शोषण उच्च 22-60 प्रततशत से लेकर है। यातना के मामलों और 1991-1995 से दहेि हत्या में 71.5 प्रततशत की वृद्गि. भारतीय महहलाओीं की 45 प्रततशत, थप्िड़ मारा िाता है लात मार या उनके िततयों द्वारा िीटा िाता हैI
  11. 11.  क र्गथि (रोकि म, तनषेध और तनव रण) अधधतनर्म, 2013 में महह ओिं क र्ौन उत्पीड़न  कमथचार राज्य बीमा अगितनयम,  िररवार न्यायालय अगितनयम, 1954  पवशेष पववाह अगितनयम, 1954  हहींदू पववाह अगितनयम, 1955  हहींदू उत्तरागिकार अगितनयम, 1956 में सींशोिन के साथ 2005 में  अनैततक व्यािार (तनवारण) अगितनयम, 1956  दहेि प्रततषेि अगितनयम, 1961
  12. 12.  िभाथवस्था अगितनयम की मेडडकल टशमथनेशन,  1971 ठेका श्रम (पवतनयमन एवीं उन्मूलन) अगितनयम,  1976 समान िाररश्रशमक अगितनयम,  1976 बाल पववाह तनषेि अगितनयम, 2006 आिरागिक कानून (सींशोिन) अगितनयम, 1  983 कारिानों (सींशोिन) अगितनयम,  1986 महहला सींरक्षण अगितनयम, 2005
  13. 13. आगथथक आिाद महहलाओीं को िुलामी से मुतत करेिी और आत्मपवश्वास को बढावा देने में सहायक होिी महहलाओीं की आगथथक आिाद की स्वतींत्रता भी राष्र य के आगथथक पवकास में मदद करता है E C O N O M I C I N D E P E N D E B C E
  14. 14. ggg ggg ggg ggg

×