Successfully reported this slideshow.
Your SlideShare is downloading. ×

Role of Planet in Our Life - Hindi Kundli

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Role of Planet in Our Life - जन्म क
ुं डली में विभिन्न ग्रहों की िूभमका
हय ग्रह क
े अऩने नैसर्गिक कायकत्व होते हैं रेककन ज...
क
ुॊ डरी भें ग्रहों की बूमभका औय भहत्व सभम क
े साथ फदरता यहता है। इसीमरए, ककसी बी ग्रह मा मुतत को
देखकय खुश मा डयने की फजा...
साधायणतमा िॊद्रभा, शुक्र, फृहस्ऩतत औय फुध ग्रह को शुब ग्रह भाना गमा औय सूमि, भॊगर, शतन, याहु औय क
े तु
को अशुब (हातनकायक) ...
Advertisement
Loading in …3
×

Check these out next

1 of 5 Ad

Role of Planet in Our Life - Hindi Kundli

Download to read offline

हर ग्रह के अपने नैसर्गिक कारकत्व होते हैं लेकिन जब वे दूसरे ग्रहों से युति सम्बन्ध बनाते हैं तो इनकी अपनी शक्ति व गुणों में परिवर्तन आ जाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार, एक जन्मकुंडली में 12 भाव व 9 ग्रह होते हैं | किसी भी कुंडली में केवल अच्छे या बुरे ग्रह नहीं होते। कोई भी ग्रह चाहे वह किसी भी भाव में हों, कमज़ोर हो या मज़बूत हों, अपने आप परिणाम नहीं देते। सभी ग्रहों की भूमिका सैद्धांतिक रूप से एक जैसी ही रहती है। सबसे ज़रूरी है यह जानना कि कुंडली में विभिन्न ग्रहों का प्रभाव आपकी स्वतंत्र इच्छा/free will पर निर्भर करता है कि आप कैसे किसी ग्रह के साथ ताल-मेल बिठाते हैं।

https://www.vinaybajrangi.com/hindi/planets.php

हर ग्रह के अपने नैसर्गिक कारकत्व होते हैं लेकिन जब वे दूसरे ग्रहों से युति सम्बन्ध बनाते हैं तो इनकी अपनी शक्ति व गुणों में परिवर्तन आ जाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार, एक जन्मकुंडली में 12 भाव व 9 ग्रह होते हैं | किसी भी कुंडली में केवल अच्छे या बुरे ग्रह नहीं होते। कोई भी ग्रह चाहे वह किसी भी भाव में हों, कमज़ोर हो या मज़बूत हों, अपने आप परिणाम नहीं देते। सभी ग्रहों की भूमिका सैद्धांतिक रूप से एक जैसी ही रहती है। सबसे ज़रूरी है यह जानना कि कुंडली में विभिन्न ग्रहों का प्रभाव आपकी स्वतंत्र इच्छा/free will पर निर्भर करता है कि आप कैसे किसी ग्रह के साथ ताल-मेल बिठाते हैं।

https://www.vinaybajrangi.com/hindi/planets.php

Advertisement
Advertisement

More Related Content

Advertisement

Role of Planet in Our Life - Hindi Kundli

  1. 1. Role of Planet in Our Life - जन्म क ुं डली में विभिन्न ग्रहों की िूभमका हय ग्रह क े अऩने नैसर्गिक कायकत्व होते हैं रेककन जफ वे दूसये ग्रहों से मुतत सम्फन्ध फनाते हैं तो इनकी अऩनी शक्तत व गुणों भें ऩरयवतिन आ जाता है। ज्मोततष का थोड़ा सा बी ऻान यखने वारों को ऩता हैं कक वैददक ज्मोततष क े अनुसाय, एक जन्भक ुॊ डरी भें 12 बाव व 9 ग्रह होते हैं। भेये ऩास फहुत से रोग आते हैं जो मह ऩूछते हैं कक क ुॊ डरी का सफसे अच्छा बाव कौन सा है? औय क ुॊ डरी क े सबी ग्रहों की हभाये जीवन भें तमा बूमभका यहती है? कौन सा ग्रह सफसे अर्धक शक्ततशारी है मा कौन सा ग्रह क ुॊ डरी भें सफसे अर्धक प्रबावी है? उनभे से अर्धकतय ग़रतपहभी का मशकाय होते हैं, जो मह सभझते हैं कक जीवन भें आमी ऩयेशातनमों का कायण क ुॊ डरी का कोई बी एक ग्रह/planet है। मह उनकी गरती नहीॊ तमोंकक उन्हें अर्धकतय ज्मोततषषमों से मही सुनॊने को मभरता है। क ु छ ग्रह षवशेषकय, अशुब ग्रहों की श्रेणी भें यख ददए गए हैं। भुझे औय बी अर्धक ऩयेशानी होती है जफ कोई सभझदाय औय सीखा हुआ ज्मोततषी बी जीवन की ऩयेशातनमों का बाय इन ग्रहों ऩय डार देता है। शतन, भॊगर, याहु औय क े तु को अर्धकतभ दोष ददमा जाता है। हाराॊकक, भैं कभि मसदधाॊत भें षवश्वास यखता हूॉ औय मह तनक्श्ित कयना िाहता हूॉ कक कोई बी ग्रह अच्छे मा फुये प्रबाव नहीॊ देता। मह आऩका स्वतॊत्र तनणिम/ free will है जो फुये से फुये ग्रहों क े प्रबाव को बी शाॊत यख सकता है औय अच्छे ग्रहों क े प्रबाव को औय बी अर्धक अच्छे ऩरयणाभ देने क े मरए फाध्म कय सकता है। भैं शतन, जो जन्भ क ुॊ डरी/Janam Kundli भें कभि को दशािता है, को सफसे सहामक ग्रह भानता हूॉ जो दूसये ग्रहों से मभरने वारे प्रबावों का तनधाियण कयता है। भैं इस अवधायणा से जुड़े क ु छ भहत्वऩूणि तथ्मों क े फाये भें षवस्ताय से फताऊ ॊ गा औय साथ ही साथ षवमबन्न ग्रहों की बूमभका की बी ििाि कर ॉ गा।
  2. 2. क ुॊ डरी भें ग्रहों की बूमभका औय भहत्व सभम क े साथ फदरता यहता है। इसीमरए, ककसी बी ग्रह मा मुतत को देखकय खुश मा डयने की फजाम मे साधायण फातें सभझ रें - शुरुआत भें ही फता दूॉ कक ककसी बी क ुॊ डरी भें क े वर अच्छे मा फुये ग्रह नहीॊ होते। कोई बी ग्रह िाहे वह ककसी बी बाव भें हों, कभज़ोय हो मा भज़फूत हों, अऩने आऩ ऩरयणाभ नहीॊ देते। सबी ग्रहों की बूमभका सैदधाॊततक रऩ से एक जैसी ही यहती है। ग्रहों का क ुॊ डरी भें भहत्व व्मक्तत की आमु फढ़ने क े साथ-साथ फदरता यहता है। इसीमरए ककसी बी ग्रह का प्रबाव जीवन की षवमबन्न अवस्थाओॊ क े अनुसाय सभझना िादहए। क ै से ? आऩको सभझ आएगा जैसे- जैसे आऩ आगे ऩढ़ते जामेंगें । सफसे ज़रयी है मह जानना कक क ुॊ डरी भें षवमबन्न ग्रहों का प्रबाव आऩकी स्वतॊत्र इच्छा/free will ऩय तनबिय कयता है कक आऩ क ै से ककसी ग्रह क े साथ तार-भेर बफठाते हैं। आऩकी क ुॊ डरी आऩक े जन्भ क े सभम ऩय ग्रहों की क्स्थतत है। क ुॊ डरी क े ग्रह आऩक े जन्भ क े सभम षवमबन्न नऺत्रों भें थे जो आऩकी जन्भ क ुॊ डरी भें ऩता िरते हैं। आऩक े जन्भ का सभम बगवान ब्रह्भा ने तनक्श्ित ककमा है। ब्रह्भा जी क ै से जन्भ सभम तनक्श्ित कयते हैं, वह आऩक े षऩछरे जन्भ क े अधूये कभों ऩय तनबिय कयता है। तो एक तयह से आऩ खुद ही अऩनी जन्भ क ुॊ डरी क े तनभािता हैं औय मह फस, षवधाता क े दवाया आऩको दी गमी है। एक साधायण भान्मता है की 9 भें से क ु छ ग्रह मभत्र हैं तो क ु छ शत्रु। आइमें एक उदाहयण रेते हैं , मदद मुंगल ग्रह, सूमि का मभत्र है तो शुक्र का शत्रु है। एक मभत्रताऩूणि भॊगर फहुत अच्छे ऩरयणाभ देगा जफ हभें इसकी ज़रुयत अऩने करयमय व अर्धकाय क े मरए होगी ऩय मही भॊगर फुये ऩरयणाभ देगा जफ हभें शुक्र (प्रेभ, योभाॊस, शादी) की सहामता की ज़रुयत होगी। तो इसमरए, मह तनबिय कयता है कक जीवन क े ककस भोड़ ऩय आऩको भॊगर की ताकत िादहए औय ककस भोड़ ऩय मह आऩको नुकसान ऩहुॊिा सकता है। अगय एक अत्मर्धक शुब ग्रह कभज़ोय हो तो वह हभें अऩने अच्छे प्रबाव देने भें असभथि होगा। ठीक इसी प्रकाय, एक फुया ग्रह कभज़ोय होने ऩय अऩने फुये पर नहीॊ दे ऩामेगा। तो जफ हभ ग्रहों की फात कयते हैं तो उनकी बूमभका एक जैसी ही यहती है ऩय उनका भहत्व सभम क े साथ फदर जाता है। ग्रहों का अच्छा -फुया प्रबाव हभाये कभों ऩय ही तनबिय कयेगा। जन्म क ुं डली में ग्रहों की िूभमका
  3. 3. साधायणतमा िॊद्रभा, शुक्र, फृहस्ऩतत औय फुध ग्रह को शुब ग्रह भाना गमा औय सूमि, भॊगर, शतन, याहु औय क े तु को अशुब (हातनकायक) ग्रह कहा गमा है। प्रत्मेक ग्रह क े अऩने नैसर्गिक मा प्राकृ ततक गुण/रऺण होते हैं, रेककन जफ मे अन्म ग्रह से मुतत कयते हैं तो इनक े ऩरयणाभों भें प े र-फदर हो जाता है। जीवन भें मभरने वारे ग्रहों क े ऩरयणाभ क ुं डली क े बारह िािों भें इन ग्रहों की क्स्थतत ऩय तनबिय कयते हैं। भैं इस फात ऩय कोई दिप्ऩणी नहीॊ कयना िाहूॊगा कक कौन सा ग्रह कौन से बाव भें क ै से प्रबाव देता है। मह एक ज्मोततषीम षवश्रेषण है औय ज्मोततषी इसे सुगभता से कय ऩामेंगें। रेककन एक फात हैं कक मदद ग्रह अच्छे घय भें फैठा है तो आऩको अच्छे ही ऩरयणाभ देगा। छामा ग्रह (क्जनका कोई बौततक अक्स्तत्व नहीॊ है) याहु औय क े तु, सफसे शक्ततशारी ग्रहों सूमि औय िॊद्रभा को ग्रहण रगा देते हैं। तो कपय हभ सभझ सकते हैं कक फुये मा अशुब ग्रह की सॊगतत से शुब ग्रह क े अच्छे ऩरयणाभों ऩय तमा असय ऩड़ता होगा? मे शुब ऩरयणाभ सभाप्त हो जाते हैं। मह एक भूरबूत वैददक ज्मोततष का तनमभ है रेककन व्मक्तत षवशेष क े मरए ऩरयणाभ उसकी व्मक्ततगत जन्भ क ुॊ डरी भें ग्रहों की क्स्थतत क े अनुसाय होंगें। अफ भैं दो ग्रहों क े फाये भें षवस्ताय से फताऊ ॊ गा, क्जससे आऩ सभझेंगे कक जीवन क े षवमबन्न ियणों भें प्रत्मेक ग्रह की बूमभका औय भहत्व क ै से फदरता है। सूमि: सूर्य ग्रह को आत्भकायक ग्रह कहा गमा है। इसक े गुणों भें षऩता क े सभान व्मवहाय, अऩाय शक्तत, स्वामबभान औय अर्धकाय आदद आते हैं। क ुॊ डरी का सूमि ही फताता है कक आऩ दुतनमा क े साभने क ै से अऩने-आऩ को प्रदमशित कयते हैं मा दुतनमा क े साभने आऩका तमा व्मक्ततत्व है। मदद एक फरी सूमि ऊजाि औय अर्धकाय को ददखता है, तो वहीीँ एक कभजोय सूमि व्मक्तत को अहॊकायी/अतत आत्भषवश्वासी फना सकता है। व्मक्तत को अऩने करयमय क े मरए एक फरशारी सूमि की आवश्मकता हो सकती है, रेककन अऩने व्मक्ततगत सॊफॊधों क े मरए नहीॊ। भॊगर: भॊगर व्मक्तत क े साहस, जुनून, फहादुयी, ताकत औय आत्भषवश्वास को दशािता है। रेककन जीवन क े कई ऐसे ऺेत्र है जहाॊ हभें इन गुणों की आवश्मकता नहीॊ होती। एक फरशारी भॊगर आऩक े करयमय भें भदद कय सकता है रेककन आऩक े वैवादहक जीवन ऩय बफक ु र उरि प्रबाव डार सकता है। िॊद्रभा: िॊद्रभा भन का कायक है, मह भातृत्व, प्रेभ, भन की शाॊतत व बावनाओॊ को दशािता है। एक फरी िॊद्रभा व्मक्तत को जीवन क े हय भोड़ ऩय भदद कयता है। वहीीँ एक कभजोय िॊद्रभा/weak moon व्मक्तत को िॊिर भन, भानमसक ऩयेशानी मा अवसाद की क्स्थतत दे सकता है। शुक्र: शुक्र ग्रह प्रेभ, सॊफॊध, योभाॊस, सौंदमि, मौन सम्फन्ध, व सबी प्रकाय क े रयश्तों को दशािता है। फहुत से रोग नहीॊ जानते होंगे, रेककन एक अच्छा शुक्र आऩको आऩक े करयमय की ऊ ॊ िाइमों तक रे जा सकता है। अफ आऩको कहाॉ शुक्र की भदद रेनी है मे आऩको तम कयना होगा।
  4. 4. फुध: फुध ग्रह वाणी, फुदर्ध, सतक ि ता औय तक ि का प्रतततनर्धत्व कयता है। मदमषऩ फुध जीवन बय भहत्वऩूणि बूमभका तनबाता है, रेककन मशऺा क े प्रायॊमबक सभम भें मह अर्धक भहत्व यखता है। फृहस्ऩतत : फृहस्ऩतत ग्रह ऻान का प्रतततनर्धत्व कयता है। फृहस्ऩतत की बूमभका मशऺा औय करयमय क े ऺेत्र भें अध्क भहत्वऩूणि है। इसमरए हो सकता है कक मह व्मक्तत की कभ उम्र भें मा, प्रायॊमबक फिऩन भें इतना भहत्वऩूणि न हो। याहू: याहू नाभ औय प्रमसदर्ध राता है, रेककन खयाफ याहू अऩभान राता है। याहू साॊसारयक इच्छाओॊ का ग्रह है, मह व्मक्तत को िाराक फनता है। जीवन भें मदद राहू ग्रह का अर्धक प्रबाव हो तो व्मक्तत, भोफाइर पोन / इॊियनेि से सॊफॊर्धत गततषवर्धमों भें फहुत अर्धक व्मस्त यहता है औय इसका ऩरयणाभ हभ जानते हैं। याहू एक छामा औय यहस्भमी ग्रह है, जो मदद नकायात्भक हो जामे, तो व्मक्तत को अतत-भहत्वाकाॊऺी, अतत- आत्भषवश्वासी औय फेऩयवाह फना देता है। इससे प्रबाषवत व्मक्तत, कोई सीभा नहीॊ जानता औय सबी सीभाओॊ को एक क े फाद एक ऩाय कयता है। इसका ऩरयणाभ हभ ढोंगी फाफाओॊ, व्माऩारयमों, नौकयशाहों औय याजनेताओॊ क े रऩ भें देखते हैं। इन सफक े जीवन भें याहू, कबी न कबी एक फहुत फुया दौय राता है। तो आऩ इसका उऩमोग क ै से कयते हैं मह आऩ ऩय तनबिय कयता है। आऩ तनमॊत्रण भें यहें, याहू अच्छी बूमभका तनबाएगा, आऩ डीॊगें भायें मा ज़रुयत से ज़्मादा ददखावा कयें तो याहू फुये पर देगा तो याहू का ऩरयणाभ आऩक े हाथ भें है। क े तु: क े त ग्रह अध्मात्भ तो ददखाता है रेककन वैयाग्म बी। मह बी एक छामा ग्रह है क्जसका कोई बौततक अक्स्तत्व नहीॊ है। क े तु को साॊसारयक इच्छाओॊ क े मरए अशुब औय आध्माक्त्भक रऩ से राबकायी भाना जाता है। तो क े तु मदद नकायात्भक हो तो व्मक्तत को मुवावस्था भें साॊसारयक इच्छाओॊ से दूय रे जाता है, जफ आऩको इनकी सफसे ज्मादा जरयत होती है। इसभें प्माय औय योभाॊस बी शामभर है। शतन: शतन कभि का कायक ग्रह है औय व्मक्तत क े जीवन को उसक े दवाया ककमे कभों क े अनुसाय ढारता है। जफ बी आऩ अतत भहत्वाकाॊऺी फनते हैं मा गरत कामि कयते हैं तो शतन आऩको दॊड देता है। शतन एक मशऺक औय ऩुमरस दोनों की बूमभका तनबाता है। मह इस फात ऩय तनबिय कयता है कक आऩ शतन से तमा िाहते हैं। एक ग्रह क े रऩ भें शतन क े फाये भें इतनी व्माऩक जानकायी है कक भैं इसे महाॉ सॊऺेऩ भें प्रस्तुत नहीॊ कय सकता। इसक े मरए आऩ भेये दवाया मरखे ‘शतन का हभाये जीवन ऩय प्रबाव’ अरग से ऩढ़ सकते हैं। मह सफ सभझाने क े फाद, अफ भैं क ुॊ डरी भें षवमबन्न ग्रहों की बूमभका क े फाये भें एक औय भहत्वऩूणि ऩहरू ऩय आता हूॉ।
  5. 5. क ै से पता करें कक ग्रह बली है र्ा कमज़ोर ? मह ऩता कयने क े मरए की ग्रह भें ककतना फर है , सफसे भहत्वऩूणि है होता है ग्रह का षड्फर ऩयखना। षड का भतरफ है छह औय फर का भतरफ है शक्तत। इसका भतरफ है कक एक ग्रह क े ऩास छह तयह का फर होता है जो तनक्श्ित कयता है कक क ुॊ डरी भें ग्रह फरी है मा तनफिर। मे छह प्रकाय हैं स्थान फार, ददक् फर, कार फर, िेष्िा फर, नैसर्गिक औय दद्रक फर। सबी ग्रहों क े आऩसी सम्फन्ध क े कायण व्मक्तत क े जीवन ऩय एक मभर्श्रत प्रबाव होता है। अशुब ग्रहों की दृक्ष्ि मा अन्म सम्फन्ध, शुब ग्रह की शुबता को सभाप्त कय सकते हैं। ग्रह का षड्फर ऻात कयना एक अत्मर्धक क ु शर ज्मोततष का काभ है। षड फर तनकारने की ििाि भैं महाॉ नहीॊ कयना िाहूॊगा। एक साधायण तनमभ क े अनुसाय मदद ग्रह जन्भ व नवाॊश क ुॊ डरी भें एक ही यामश भें क्स्थत हो तो वह ग्रह वगोत्तभ कहराता है। मह एक ग्रह का सफसे शक्ततशारी रऩ है। इसमरए मदद क ुॊ डरी भें एक बी वगोत्तभ ग्रह हो तो मह एक आशीवािद से कभ नहीॊ औय कहीॊ अगय एक से अर्धक ग्रह वगोत्तभ हों जाएॊ तो कहना ही तमा। ग्रह हमें क ै से प्रिावित करते हैं ? अॊत भें, ग्रह हभें क ै से प्रबाषवत कयते हैं, ग्रहों का हभाये जीवन भें तमा भहत्व है? औय ग्रहों का हभाये जीवन भें तमा भहत्व है? मे सफ क ु छ हभाये अऩने हाथों भें हैं। हभने अऩने षऩछरे जन्भ भें जो क ु छ बी ककमा है वह हभायी इस जन्भ की क ुॊ डरी भें ददखाई देता है। ग्रहों का हभाये जीवन ऩय प्रबाव इस फात ऩय तनबिय कयेगा कक हभाया व्मवहाय ककस तयह से इन ग्रहों ऩय प्रबाव डार यहा है। सूमि का षवमबन्न बावों भें प्रबाव आऩको मह जानने भें भदद कयेगा कक आऩ फाहयी दुतनमा क े मरए क ै से व्मक्ततत्व हैं। िन्द्रभा का षवमबन्न बावों भें प्रबाव सभझें औय अऩने भक्स्तष्क व भन ऩय तनमॊत्रण यखें। जीवन का एक फहुत भहत्वऩूणि बाग है प्रेभ, रयश्ते, सम्फन्ध व साझेदायी। इसीमरए महाॊ ऩय शुक्र का षवमबन्न बावों भें प्रबाव सभझना आवश्मक हो जाता है। साथ ही साथ अऩने कभों को बी तनममभत कयते िरें। Read more: What if Horoscope is Bad |Kundli Milan Kaise Karen | Sahi Kundli Banaye | िाग्र् सुंहहता कबी बी ककसी अच्छे मा फुये ग्रह को देखकय प्रसन्न मा उदास न हों , जीवन क े षवमबन्न ियणों भें षवमबन्न ग्रहों का सम्भान कयना सीखें क्जस क े मरए वे फने हैं। अऩनी स्वतॊत्र इच्छा का सही इस्तेभार कयें। ऐसे औय षविायणीम रेखों को vinaybajrangi.com ऩय ऩढ़ें, भेर मरखें मा भेये कामािरम भें +91 9278555588/9278665588 ऩय सॊऩक ि कयें। Source: https://sites.google.com/view/kundlipredictions/blog/role-of-planet-in-our-life-hindi-kundli

×