WAVE C/C++ Write Up

455 views

Published on

Published in: Education
0 Comments
0 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

  • Be the first to like this

No Downloads
Views
Total views
455
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
2
Actions
Shares
0
Downloads
5
Comments
0
Likes
0
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

WAVE C/C++ Write Up

  1. 1. WAVE Programming in C/C++ राजस्थान नॉलेज कॉर्पोरेशन लललिटेड (राज्य सरकार द्वारा प्रवर्तित कं र्पनी) की स्थार्पना 25 th April 2008 को राज्य िें ज्ञान आधाररत सिाज के र्निािण, युवाओं िें कौशल र्पररवर्द्िन, प्रोध्योगीकी के सिावेश से जीवन-स्तर के उन्नयन के उद्देश्य से की गई| राजस्थान नॉलेज कारर्पोरेशन लललिटेड अर्पने शैक्षणणक प्रोग्राि के अंतगित अधधक से अधधक ववद्याधथियों तक उत्र्पन्न होने वाले नए कररयर के आप्शन र्पहुचाने हेतु ववलिन्न प्रकार की व्यावसार्यक ट्रेर्नंग को चला रहा है | WAVE (World Class Vocational Excellence) RKCL का फ्लैगलशर्प व्यवसार्यक शेक्षणणक प्रोग्राि है जो युवाओ को रोज्गारोक्ता को बढ़ाने हेतु शुरू ककया गया है | WAVE श्रेणी के सिी र्पाठ्यक्रि/कोसि ववलिन्न इंडस्ट्री को ध्यान िें रखते हुए कायिकारी ज्ञान व उसकी उर्पयोधगता र्पर के न्द्न्ित है| कं प्यूटर प्रोग्रालिंग एक कक्रएटटव कायि है न्द्जसके द्वारा प्रोग्रािर कं प्यूटर को कोई कायि ककस प्रकार करना है इस बात का र्नर्देश र्देते है| वास्तव िें यह र्नर्देशों को सिूह होते है जो एक के बार्द एक कायि कर कं प्यूटर र्पूरा करता है | एक बेहतरीन प्रोग्राि कं प्यूटर के संसाधनों का र्दक्षता र्पूणि उर्पयोग कर कि से कि सिय िें कायि को र्पूणि करता है| प्रोग्रािर के र्पर्द को काफी प्रर्तष्ठा के तौर र्पर र्देखा जाता है व आज के सिय इनकी अत्यधधक िांग है| अगर आर्प प्रोग्रालिंग के क्षेत्र िें अर्पने कररयर की कल्र्पना करते है एवं सचिुच कु छ ऐसे प्रोजेक्ट/एप्लीके शन बनाना चाहते है जो की कं प्यूटर की र्परफॉरिेंस को सिझते हुए उसका बेहतरीन उर्पयोग करें तो आर्पको C Programming सीखने से शुरुवात करनी चाटहए. संिवतया C Programming एकिात्र LOW Level Programming Language है न्द्जसका की ववश्व िें सवािधधक उर्पयोग होता है ज्यर्दातर र्दूसरी प्रोग्रालिंग लैंग्वेज प्रोग्रािर को कं प्यूटर का लसफि एक HIGH Level व्यू प्रर्दान करती है अतः कं प्यूटर की बेलसक कायिप्रणाली के साथ काि करने की शन्द्क्त ASSEMBLY Language के बार्द लसफि C Programming ही प्रर्दान करता है| इसके साथ ही प्रोग्रालिंग की र्दुर्नया िें THUMB RULE है की अगर आर्प एक लेवल र्पर प्रोग्रालिंग करना चाहते है तो उसके एक लेवल र्नचे की कायिप्रणाली की सिझ आर्पको होनी चाटहए| इसी कारण ककसी िी HIGH Level Programming Language को लसखाने से र्पहले C Programming सीखना सबसे लािकारी हो सकता है| इसके साथ ही आर्प यह िी प्रशंशा कर सकें गे की HIGH Level Programming Language ककस हर्द तक प्रोग्रालिंग िें आर्पका काि आसान कर र्देती है | यहााँ तक की बहुत से कम्र्पाइलर और HIGH Level Programming Language को C Programming द्वारा ही ववकलसत ककया गया है| र्दूसरी और C++ Programming ऑब्जेक्ट ओररएंटेड प्रोग्रालिंग लसखाने का सबसे अच्छा ववकल्र्प प्रर्दान करती है न्द्जनका की प्रचलन आज के र्दौर िें सवािधधक है| इस लैंग्वेज िें ववकलसत ककये गए एप्लीके शन बहुत र्दक्ष होते है क्यूंकक C++ प्रोग्राि सीधे िशीन लेवल लैंग्वेज िें कम्र्पाइल हो कर एक्सीक्यूट होते है | ऑब्जेक्ट ओररएंटेड प्रोग्रालिंग सीखने के कई कारणों िें से एक है की प्रोग्रािर को यह एक हाई लेवल व्यू प्रर्दान करता है व लसस्टि ररसोसेज की जटटलता से र्दूर रखते हुए उसके काि को आसान बनाता है| साथ ही C++ प्रोग्राि की िेंटेनेंस तुलनात्िक कि होती है व यूटटललटी लाइब्रेरी को ववकलसत कर अर्पने प्रोग्राि िें जोाना आसान होता है
  2. 2. इन्ही सब बातों को ध्यान िें रखते हुए राजस्थान नॉलेज कारर्पोरेशन लललिटेड द्वारा WAVE-Programming In C/C++ (World Class Vocational Excellence – Programming In C/C++) का संचालन ककया जा रहा है जो की कि सिय िें प्रोग्रालिंग इंडस्ट्री िें प्रवेश का उत्क् ष्ट िौका व वव य का तकि संगत व्यवाटहरक ज्ञान र्देता है| व ांछनीय प त्रत :- 1. RS-CIT अथवा उसके सिकक्ष कोसि के द्वारा कं प्यूटर फं डािेंटल की जानकारी होना वांछनीय व्यवस ययक मौक :- इस कोसि को करने के र्पश्चात् ववद्याथी C/C++ प्रोग्रालिंग के िुलिुत अवयव एवं लसर्द्ांत की जानकारी के साथ ही स्वयं िें C/C++ प्रोग्रालिंग करने का आत्िववश्वास र्पाता है व अर्पने अनुरूर्प इसका उर्पयोग संिाववत व्यवसार्यक िौके र्पर कर सकता है|  प्रोग्रािर  एम्बेडेड प्रोग्रािर  लसस्टि प्रोग्रािर  लसस्टि सॉफ्टवेर इंजीर्नयर  नेटवकि लसक्यूररटी इंजीर्नयर  गेि प्रोग्रािर  ववंडोज UI प्रोग्रािर  लसस्टि एनाललस्ट  लसिुलेशन डेवलर्पर इत्याटर्द कोसस अवधि:- लगिग 120 घंटे (12 सप्ताह, सप्ताह िें 5 टर्दन, प्रर्तटर्दन 2 घंटे) िहत्वर्पूणि डेट्स व बैच की सिय सारणी:-  हर िहीने नए बैच एडलिशन हेतु उर्पलब्ध रहते है  एडलिशन फीस अर्दा करने की अंर्ति र्तधथ साधारणतया उस िहीने की 20 तारीख होती है  साप्ताटहक सिय सारणी: िनागालवार से शर्नवार- लसखा जाता है व सोिवार को अंतररि र्परफॉरिेंस टेस्ट ललया जाता है  ववद्याथी के सुववधा अनुसार बैच की टाइलिंग रखी जा सकती है प ठ्य स मग्री:- 1. RKCL के ज्ञान कें ि र्पर उर्पलब्ध ई-कं टेंट एवं 2. ररफरेन्स र्पुस्तक:-
  3. 3. ऊर्पर उल्लेणखत की गयी र्पुस्तकें ववद्याथी द्वारा र्पढ़े जाने का सुझाव टर्दया गया है यह र्पुस्तकें इस कोसि का टहस्सा है| कोसस क म ध्यम:- यह कोसि इंन्द्ग्लश िाध्यि द्वारा र्पढा जा सकता है फीस:- WAVE-Programming In C कोसि की फीस रु. 3000 प्रर्त लनिर है WAVE-Programming In C++ कोसि की फीस रु. 3000 प्रर्त लनिर है WAVE- Programming In C/C++ क प ठ्यक्रम:-इस र्दोनों कोसि िें र्नम्नललणखत modules है :- वेव-प्रोग्र ममांग इन C क मसलेबस वेव-प्रोग्र ममांग इन C++ क मसलेबस Module 1: Getting Started with C Programming Module 2: Language Fundamentals Module 3: Essentials for C Programming Module 4: Input and Output Functions Module 5: Decision and Control Flow Statements Module 6: Working with Arrays Module 7: String Manipulations Module 8: Functions Module 9: Storage Classes Module 10: Pointers Module 11: Preprocessor Module 1: Getting Started with C++ Programming Module 2: Fundamentals of C++ Language Module 3: Data Types and Operators Module 4: Flow of Control Module 5: Handling Arrays Module 6: Pointers Module 7: Manipulators and Default Arguments Module 8: Object Oriented Programming Module 9: Constructors and Destructors Module 10: Behaviors and Properties Module 11: Static Members and Methods पुस्तक क न म लेखक पब्ललशर क वववरण एडिशन Let us C Yashavant Kanetkar. BPB Publications 9 th Programming In Ansi C E. Balagurusamy Tata Mgraw Hill 4 th Understanding Pointer In C Yashavant Kanetkar BPB Publications 2008 The C Programming Language Brian W. Kernighan, Dennis M. Ritchie Prentice Hall 2 nd C Programming: A Modern Approach K.N. King W. W. Norton & Company 2 nd C Programming in 12 Easy Lessons Greg Perry Prentice Hall
  4. 4. Module 12: Structures and Unions Module 13: File Management in C Module 14: Working with Mathematical Functions & Time Utility Module 15: Character Handling Functions Module 16: Sorting Module 17: Advanced Types Module 18: Linked Lists Module 19: Advanced Data Structures Module 12: Inheritance and ‘friend’ Keyword Module 13: Inheritances Revisited Module 14: Polymorphism Module 15: Operator Overloading and Encapsulations Module 16: File Management Systems Module 17: Templates Module 18: Exception Handling and Enumeration Module 19: Graphics ऊर्पर र्दशािए गए modules, Teacher द्वारा सॉफ्टवेर की िर्दर्द से क्लासरूि िें करवाए जाते है परीक्ष क प्रक र :- र्पारंर्पररक तरीके से िूल्याङ्कन न करते हुए इस कोसि का िूल्याङ्कन ववलिन्न प्रकार के सतत/लगातार ई-लर्निंग के टूल्स की िर्दर्द से होता है अंको का बटवारा र्नम्न प्रकार 4 अलग अलग िागो िें ककया गया है:-  िाग-1 (ऑटो िाककिं ग): ववद्याथी द्वारा इंटरैन्द्क्टव ई-लर्निंग सािग्री िें बबताया गया सिय र्पर आधाररत है: 25 अंक  िाग-2 (ऑटो िाककिं ग): अंतररि र्परफॉरिेंस टेस्ट (ऑब्जेन्द्क्टव) द्वारा ववलिन्न कु शलताओ का अधधग्रहण र्पर आधाररत है : 25 अंक  िाग- 3 (ITGK र्पर उर्पलब्ध Learning Facilitator द्वारा जांचा जाता है व RKCL द्वारा औचक र्नररक्षण ककया जाता है): लिनी प्रोजेक्ट न्द्जसिें ववद्याथी द्वारा र्पांच SUPW (Socially Useful Productive Work) output तैयार ककये जाते है व र्पुरे कोसि के र्दौरान किी िी र्पोटिल र्पर अर्पलोड ककये जा सकते है : 25 अंक  िाग 4: फाइनल र्परीक्षा (ऑब्जेन्द्क्टव बेस्ड): 25 अंक इस कोसस की परीक्ष RKCL द्व र मलय ज त है व प्रम ण पत्र भी RKCL द्व र दिय ज त है | पढ़ ने क तरीक :- इस कोसि को िुख्य उद्देश्य “कायि आधाररत” लशक्षा को प्रर्दान करना है न्द्जसका अथि है की कायि से शुरू करना (न की बुक से) उस कायि से ज्ञान को जोाना व इस ज्ञान का उर्पयोग अर्पने कायि को र्पूणि करने िें लेना अथाित उर्पयोगी एवं रोचक बनाना| साथ ही इसका यह िी उर्दर्देश्य है की ववद्याथी को इतना सबल बनाना की वह अर्पने आर्प को उस ज्ञान के साथ सािान्द्जक रूर्प से उर्पयोगी कायो िें लगा सकें | इसका उर्पयोग अर्पने िववष्य के ललए व सिाज के उत्थान के ललए करें |  सिी ववद्याधथियों को सविप्रथि कोसि का र्पररचय टर्दया जाता है व यह ककस प्रकार से उनके कायि व सािान्द्जक जीवन से सम्बंधधत है के बारे िें बताया जाता है
  5. 5. ववद्याधथियों को लसखने हेतु ववशे टूल्स से रु-बरु करवाया जाता है व वास्तववक जीवन िें इन टूल्स का ककस प्रकार उर्पयोग होता है सिझाया जाता है. इन ववलिन्न टूल्स िें र्पारंगत होने के र्पश्चात् ववद्याथी अर्पने अर्पने कायि क्षेत्रो िें अर्पने अनुरूर्प रोल का संचालन करते है.

×