www.upscportal.com

भारिीय राजव्यवस्था एवं
अभभशासन
राष्ट्रऩति

© 2014 UPSCPORTAL .COM
www.upscportal.com

• संविधान क बाग V क अनच्छे द 52 से 78 तक भे संघ की
े
े
ु
कामयऩालरका का िर्यन है ।
• संघ की कामयऩालरका ...
राष्ट्रऩति का तनवाा न

•

www.upscportal.com

याष्ट्रऩतत का तनिायचन जनता प्रत्मऺ रूऩ से नहीं कयती फल्कक
एक तनिाचचन िन भंडर...
www.upscportal.com

• याष्ट्रऩतत चनाि से संफचधत सबी वििादों की जांच ि पसरे
ं
ै
ु
उच्चतभ न्मामारम भें होते हैं तथा उसका पसर...
राष्ट्रऩति क ऩद क भऱए शिे
े
े

www.upscportal.com

• िह कोई अन्म राब का ऩद धायर् नहीं कये गा ।
• उसे संसद द्िाया तनधायरयत ...
www.upscportal.com

ऩदावचध, महाभभयोग व ऩदररलििा
राष्ट्रऩति क ं ऩदावचध

याष्ट्रऩतत की ऩदािचध उसक ऩद धायर् कयने की ततचथ
े
से...
राष्ट्रऩति क ऩद क ररलििा
े

www.upscportal.com

• याष्ट्रऩतत का ऩद तनम्न प्रकाय से रयक्त हो सकता है 1.

ऩांच िषीम कामयकार ...
राष्ट्रऩति क शम्लियां व किाव्य

www.upscportal.com

• याष्ट्रऩतत द्िाया प्रमोग की जाने िारी शल्क्तमां ि ककए जाने िारे
कामय...
www.upscportal.com

ऑनऱाइन कोच ग क बारे में अचधक जानकारी क भऱए यहां म्लऱक करें
ं े
े
http://www.upscportal.com/civilservic...
www.upscportal.com

UPSCPORTAL Other Online Courses
Online Course for Civil Services Preliminary Examination
 सीसैट (CSAT...
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×

Polity topic-rastrpati-3 a

1,672

Published on

Polity topic-rastrpati-3a

0 Comments
1 Like
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

No Downloads
Views
Total Views
1,672
On Slideshare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
5
Actions
Shares
0
Downloads
77
Comments
0
Likes
1
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Polity topic-rastrpati-3 a

  1. 1. www.upscportal.com भारिीय राजव्यवस्था एवं अभभशासन राष्ट्रऩति © 2014 UPSCPORTAL .COM
  2. 2. www.upscportal.com • संविधान क बाग V क अनच्छे द 52 से 78 तक भे संघ की े े ु कामयऩालरका का िर्यन है । • संघ की कामयऩालरका भें याष्ट्रऩतत, उऩयाष्ट्रऩतत, प्रधानभंत्री, भंत्रत्रभंडर तथा भहान्मामिादी शालभर होते हैं । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  3. 3. राष्ट्रऩति का तनवाा न • www.upscportal.com याष्ट्रऩतत का तनिायचन जनता प्रत्मऺ रूऩ से नहीं कयती फल्कक एक तनिाचचन िन भंडर क सदस्मों द्िाया उसका तनिायचन े ककमा जाता है । इसभें तनम्न रोग शालभर होते हैं1. संसद क दोनों सदनों क तनिायचचत सदस्म े े 2. याज्म विधानसबा क तनिायचचत सदस्म, तथा े 3. कद्रशालसत प्रदे शों ददकरी ि ऩदचेयी विधानसबाओं ें ु ु क तनिायचचत सदस्म । े © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  4. 4. www.upscportal.com • याष्ट्रऩतत चनाि से संफचधत सबी वििादों की जांच ि पसरे ं ै ु उच्चतभ न्मामारम भें होते हैं तथा उसका पसरा अंततभ होता है । ै © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  5. 5. राष्ट्रऩति क ऩद क भऱए शिे े े www.upscportal.com • िह कोई अन्म राब का ऩद धायर् नहीं कये गा । • उसे संसद द्िाया तनधायरयत उऩरल्यममो, बत्ते ि विशेषाचधकाय प्राप्त होंगे । • उसकी उऩरल्धधमा औय बत्ते उसकी ऩदािचध क दौयान कभ नहीं े ककए जाएंगे । © 2013 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे शाभमऱ होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  6. 6. www.upscportal.com ऩदावचध, महाभभयोग व ऩदररलििा राष्ट्रऩति क ं ऩदावचध याष्ट्रऩतत की ऩदािचध उसक ऩद धायर् कयने की ततचथ े से ऩांच िषय तक होती है । हारांकक िह अऩनी ऩदािचध भें ककसी बी सभम अऩना त्मागऩत्र उऩयाष्ट्रऩतत को दे सकता है । राष्ट्रऩति ऩर महाभभयोग याष्ट्रऩतत ऩय संविधान का उकरंघन कयने ऩय भहालबमोग चराकय उसे ऩद से हटामा जा सकता है । हारांकक संविधान ने श्संविधान का उकरंघनश ् िाक्म को ऩरयबावषत नहीं ककमा है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  7. 7. राष्ट्रऩति क ऩद क ररलििा े www.upscportal.com • याष्ट्रऩतत का ऩद तनम्न प्रकाय से रयक्त हो सकता है 1. ऩांच िषीम कामयकार सभाप्त होने ऩय, 2. उसक त्मागऩत्र दे ने ऩय े 3. भहालबमोग प्रकिमा द्िाया उसे ऩद से हटाने ऩय, 4. उसकी भत्मु ऩय, ृ 5. अन्मथा, जैसे मदद िह ऩद ग्रहर् कयने क लरए े अहयत न हो अथिा तनिायचन अिैध घोवषत हो । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  8. 8. राष्ट्रऩति क शम्लियां व किाव्य www.upscportal.com • याष्ट्रऩतत द्िाया प्रमोग की जाने िारी शल्क्तमां ि ककए जाने िारे कामय तनम्नलरखित हैं1. कामयकायी शल्क्तमां । 2. विधामी शल्क्तमां । 3. वित्तीम शल्क्तमां । 4. न्मातमक शल्क्तमां । 5. कटनीततक शल्क्तमां । ू 6. सैन्म शल्क्तमां । 7. आऩातकारीन शल्क्तमां । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  9. 9. www.upscportal.com ऑनऱाइन कोच ग क बारे में अचधक जानकारी क भऱए यहां म्लऱक करें ं े े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csatpaper-1-hindi हार्ा कॉऩी में सामान्य अध्ययन प्रारं भभक ऩरीऺा (स्टर्ी ककट - ऩेऩर - 1 (Paper 1) खरीदने क भऱए यहां म्लऱक करें े http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csatpaper-1-hindi © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  10. 10. www.upscportal.com UPSCPORTAL Other Online Courses Online Course for Civil Services Preliminary Examination  सीसैट (CSAT) प्रायं लबक ऩयीऺा क लरए ऑनराइन कोचचंग (ऩेऩय - 2) े  Online Coaching for CSAT Paper - 1 (GS) 2014  Online Coaching for CSAT Paper - 2 (CSAT) 2014 Online Course for Civil Services Mains Examination General Studies Mains (NEW PATTERN - Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration for Mains 30 Days online Crash Course For Public Administration Mains Essay Programme for Mains For Know More Click Here: http://upscportal.com/civilservices/courses © 2013 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱि होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  1. A particular slide catching your eye?

    Clipping is a handy way to collect important slides you want to go back to later.

×