Polity topic-rajbhasha-4 b

  • 628 views
Uploaded on

Polity topic-rajbhasha-4b

Polity topic-rajbhasha-4b

More in: Education
  • Full Name Full Name Comment goes here.
    Are you sure you want to
    Your message goes here
    Be the first to comment
    Be the first to like this
No Downloads

Views

Total Views
628
On Slideshare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
7

Actions

Shares
Downloads
32
Comments
0
Likes
0

Embeds 0

No embeds

Report content

Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
    No notes for slide

Transcript

  • 1. www.upscportal.com भारतीय राजव्यवस्था एवं अभभशासन राजभाषा © 2014 UPSCPORTAL .COM
  • 2. www.upscportal.com • संविधान क भाग XVII में अनच्छे द 343 से 351 राजभाषा से े ु संबंधधत हैं। • इनक उऩबंधों को चार शीषषकों में विभाजजत ककया गया है -संघ की े भाषा, ऺेत्रीय भाषाएं न्यायऩालऱका और विधध क ऩाठ भाषा एिं े अन्य विशेष ननदे शों की भाषा । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 3. • संघ की भाषा www.upscportal.com दे िनागरी लऱवऩ में लऱखी जाने िाऱी हहंदी संघ की है ऩरं तु संघ द्िारा आधधकाररक रूऩ से प्रयोग की जाने िाऱी संख्याओं का रूऩ अंतराषष्ट्रीय होगा, न कक दे िनागरी । • हाऱांकक संविधान प्रारं भ होने क 15 िषों (1950 से 1965 तक) े अंग्रेजी का प्रयोग आधधकाररक रूऩ उन प्रयोजनों क लऱए जारी े रहे गा जजनक लऱए 1950 से ऩिष इसका उऩयोग में होता था । े ू • ऩंद्रह िषों क उऩरांत भी संघ प्रयोजन विशेष क लऱए अंग्रेजी का े े प्रयोग कर सकता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 4. ऺेत्रीय भाषा www.upscportal.com संविधान में राज्यों क लऱए ककसी विशेष का उल्ऱेख नहीं है । इस े संबंध में कछ ननम्नलऱखखत उऩबंध हैंु • ककसी राज्य की विधानयका उस राज्य क रूऩ में ककसी एक या एक े से अधधक भाषा अथिा हहंदी का चनाि कर सकती है । जब तक यह ु न हो उस राज्य की आधधकाररक भाषा अंग्रेजी होगी । • जब राष्ट्रऩनत (यहद मांग की जाए) इस बात ऩर संतष्ट्ट हो कक ु ककसी राज्य की जनसंख्या का अधधकतर भाग उनक द्िारा बोऱी े जाने िाऱी भाषा को राज्य द्िारा मान्यता चाहता हो, तो िह ऐसी भाषा को राज्य क रूऩ में मान्यता दे ने का ननदे श दे सकता है । इस े उऩबंध का उद्देश्य राज्य क अल्ऩसंख्यको क भाषायी हहतों की सरऺा े े ु करना है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे शाभमऱ होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 5. www.upscportal.com न्यायऩाभऱका की भाषा ववचध ऩाठ संविधान में न्यायऩालऱका एिं विधानयका को भाषा क संबंध में ककए े गए उऩबंध ननम्मलऱखखत हैं- जब तक संसद अन्यथा यह व्यिस्था न दे , ननम्नलऱखखत कायष किऱ े अंग्रेजी भाषा में होंगे o उच्चतम न्यायाऱय ि प्रत्येक उच्च न्यायाऱय की कायषिाही। o कद्र ि राज्य स्तर ऩर सभी विधेयक, अधधननयम, अध्यादे श, ें आदे श, ननयम ि उऩ ननयमों क आधधकाररक ऩाठ े © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 6. www.upscportal.com न्यायऩाभऱका की भाषा ववचध ऩाठ • हाऱांकक ककसी राज्य का राज्यऩाऱ, राष्ट्रऩनत की ऩिाषनमनत से ू ु हहंदी अथिा ककसी राज्य की ककसी अन्य राजभाषा को उच्च न्यायाऱय की कायषिाही की भाषा का दजाष दे सकता है ऩरं तु यह न्यायाऱय द्िारा हदए गए ननर्षयों, आऻाओं ि इसक द्िारा ऩाररत े आदे शों ऩर ऱागू नहीं होगा। अन्य शब्दों में , न्यायाऱय द्िारा हदए गए ननर्षय, आऻा अथिा आदे श किऱ अंग्रेजी में ही होंगे (जब तक े संसद अन्यथा व्यिस्था न दे )। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 7. ववशेष ननदे श www.upscportal.com संविधान में भाषायी अल्ऩसंख्यकों क हहतों की सरऺा ि हहंदी भाषा े ु क उत्ऩान क लऱए कछ विलशष्ट्ट ननदे श हदए गए हैंे े ु भाषायी अल्ऩसंख्यकों की सरऺा ु इस संबंध में संविधान में ननम्नलऱखखत उऩबंध हैं- • प्रत्येक राज्य अथिा स्थानीय प्राधधकरर् को राज्य में भाषायी अल्ऩसंखक समह क बच्चों को प्राथलमक स्तर ऩर उनकी मातभाषा ू े ृ में लशऺा दे ने हे तु उऩयक्त सविधाएं उऩऱब्ध करानी चाहहए। ु ु राष्ट्रऩनत इस संदभष में आिश्यक ननदे श दे सकता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 8. www.upscportal.com ववशेष ननदे श • भाषायी अल्ऩसंख्यकों क लऱए संविधान में ककए गए प्रािधानों से े संबंधधत मामऱों की जांच और उनकी ररऩोटष क लऱए राष्ट्रऩनत को े एक विशेष अधधकारी की ननयजक्त करनी चाहहए। राष्ट्रऩनत को यह ु ररऩोटष को संसद में प्रस्तत करनी चाहहए तथा संबधधत राज्य ं ु सरकारों को भेजनी चाहहए । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 9. www.upscportal.com ऑनऱाइन कोच ग क बारे में अचधक जानकारी क भऱए यहां म्लऱक करें ं े े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csatpaper-1-hindi हाडड कॉऩी में सामान्य अध्ययन प्रारं भभक ऩरीऺा (स्टडी ककट - ऩेऩर - 1 (Paper 1) खरीदने क भऱए यहां म्लऱक करें े http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csatpaper-1-hindi © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  • 10. www.upscportal.com UPSCPORTAL Other Online Courses Online Course for Civil Services Preliminary Examination  सीसैट (CSAT) प्रारं लभक ऩरीऺा क लऱए ऑनऱाइन कोधचंग (ऩेऩर - 2) े  Online Coaching for CSAT Paper - 1 (GS) 2014  Online Coaching for CSAT Paper - 2 (CSAT) 2014 Online Course for Civil Services Mains Examination General Studies Mains (NEW PATTERN - Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration for Mains 30 Days online Crash Course For Public Administration Mains Essay Programme for Mains For Know More Click Here: http://upscportal.com/civilservices/courses © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्ममभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े