Polity topic-jammu-aur-kashmir-ka-vises-darja-5 a

913 views
829 views

Published on

Polity topic-jammu-aur-kashmir-ka-vises-darja-5a

Published in: Education
0 Comments
0 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

  • Be the first to like this

No Downloads
Views
Total views
913
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
6
Actions
Shares
0
Downloads
18
Comments
0
Likes
0
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Polity topic-jammu-aur-kashmir-ka-vises-darja-5 a

  1. 1. www.upscportal.com भारतीय राजव्यिस्था एिं अभभशासन जम्मू और कश्मीर का विशेष दजाा © 2014 UPSCPORTAL .COM
  2. 2. www.upscportal.com • बायतीम संविधान क अनच्छे द 1 क अंतगगत, जम्भू तथा कश्भीय े े ु याज्म (जे. एंड क.) बायतीम संघ का एक संिधाननक याज्म है तथा े ै इसकी सीभाएं बायतीम सीभाओं का एक बाग हैं। • दसये ऩरयप्रेक्ष्म भें , संविधान क बाग 21 क अनच्छे द 370 भें इसे े े ू ु एक विशेष याज्म का दजाग ददमा गमा है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  3. 3. www.upscportal.com जम्मू और कश्मीर का भारत मे विऱय • ब्रिदिश प्रबत्ि की सभाप्तत क साथ ही जम्भू कश्भीय याज्म 15 े ु अगस्त, 1947 को स्ितंत्र हुआ। • प्रायं ब भें इसक शासक, भहायाजा हरयससंह ने पसरा सरमा कक िे े ै बायत मा ऩाककस्तान भें सप्म्भसरत नहीं होंगे औय स्ितंत्र यहें गे। 20 अक्िूफय, 1947 को, ऩाककस्तान सभर्थगत आजाद कश्भीय सेना ने याज्म क अग्रबाग भें आक्रभण ककमा। े © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  4. 4. www.upscportal.com • इस असाभान्म एिं विरऺण याजनीनतक प्स्थनत भें , याज्म क े शासक ने याज्म को बायत भें विरम कयने का ननणगम ककमा। • उस सभम बायत सयकाय ने आश्िासन ददमा कक ‘इस याज्म क े रोग अऩनी स्िमं की संविधान द्िाया, इस याज्म क आंतरयक े संविधान तथा याज्म ऩय बायतीम संघ क अर्धकाय ऺेत्र की प्रकृनत े तथा प्रसाय को ननधागरयत कयें गे’ © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे शाभमऱ होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  5. 5. www.upscportal.com जम्भू तथा कश्भीय से संफंर्धत याज्म उऩफंध किर अस्थामी हैं े स्थाई नहीं। मह 17 निंफय,1952 से संचासरत हुआ। प्जसक े प्रािधान ननम्न हैंअनुच्छे द 238 क उऩफंध (बाग-ख याज्म ऩय प्रशासन क संफध भें ) े े ं जम्भू औय कश्भीय याज्म ऩय रागू नहीं होते। भर संविधान (1950) ू भें औय कश्भीय याज्म िगग- ख क याज्म भें उप्लरखखत ककमा गमा था। े बाग VII भें इस अनच्छे द को 7िें संविधान संशोधन अर्धननमभ ु द्िाया (1956) फाद भें संविधान भें से याज्मों क ऩनगगठन क कायण े ु े हिा ददमा गमा था । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  6. 6. www.upscportal.com • अनच्छे द 1 क उऩफंध (घोवषत कयता है कक बायत याज्मों की े ु सीभाओं का संघ है ) तथा अनच्छे द (अनच्छे द 370) क उऩफंध े ु ु जम्भू औय कश्भीय याज्म ऩय रागू होते है । • उऩयोक्त उऩफंधों क अनतरयक्त, संविधान क अन्म उऩफंध कछ े े ु अऩिादों एिं सधायों क साथ याज्म ऩय रागू ककए जा सकते हैं, जो े ु कक याष्ट्रऩनत द्िाया याज्म सयकाय की सहभनत से उप्लरखखत हों । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  7. 7. www.upscportal.com भारत एिं जम्मू-कश्मीर क मध्य ितामान संबंध े • अनुच्छे द 370 क उऩफंधों क ऩरयणाभस्िरूऩ, याष्ट्रऩनत ने े े ‘संविधान आदे श’ (जम्भू औय कश्भीय क सरए अनप्रमोग) नाभक े ु आदे श, 1950 भें कद्र का याज्म ऩय अर्धकाय ऺेत्र उप्लरखखत ें कयने क सरए जायी ककमा। 1952 भें , बायत सयकाय एिं जम्भू े कश्भीय याज्म अऩनी बविष्ट्म क संफंधों हे तु ददलरी भें एक े सभझौते ऩय याजी हुए। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  8. 8. www.upscportal.com मह एक भरबत आदे श है , जो सभम-सभम ऩय सधाय एिं ऩरयितगन ू ू ु क साथ, याज्म की संिधाननक प्स्थनत एिं संघ क साथ इसक संफंध े ै े े को व्मिप्स्थत यखता है ।ितगभान भें , मह ननम्नसरखखत है • जम्भू -कश्भीय बायतीम संघ का एक संिधाननक याज्म है औय ै इसको बायत क संविधान क बाग 1 तथा अनुसची 1 भें यखा गमा े े ू है । (जो कद्र एिं इसक याज्म ऺेत्र से संफंर्धत है ।) ककंतु इसका े ें नाभ, ऺेत्रपर मा सीभा को कद्र द्िाया ब्रफना इसक विधान की े ें सहभनत से फदरा नहीं जा सकता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  9. 9. www.upscportal.com • जम्भ-कश्भीय याज्म का अऩना स्िमं का संविधान है तथा इसी ु संविधान द्िाया इस ऩय प्रशासन चरामा जाता है । अत् बायत क े संविधान का बाग अऩ (याज्म सयकाय से संफर्धत) इस याज्म ऩय ं रागू नहीं है । इस बाग क अंतगगत याज्म की ऩरयबाषा भें जम्भू े औय कश्भीय शासभर नहीं है । • आंतरयक असंतुरन की प्स्थनत भें घोवषत आऩातकार से याज्म की सहभनत क ब्रफना याज्म ऩय कोई प्रबाि नहीं ऩड़ेगा । े • याष्ट्रऩनत को याज्म क संफंध भें वित्तीम आऩातकार की घोषणा े कयने का अर्धकाय नहीं है । • कश्भीय का उच्च न्मामारम भर अर्धकायों को रागू कयने क सरए े ू (रयि) जायी कय सकता है अन्म ककसी प्रमोजन क सरए नहीं । े © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  10. 10. www.upscportal.com जम्मू और कश्मीर राज्य क संविधान की विशेषतायें े • ससतंफय- अक्िुफय 1951 भें , एिं कश्भीय की संविधान सबा का ननिागचन, याज्म क बविष्ट्म क संविधान को तैमाय कयने हे तु तथा े े बायतीम संघ क साथ संफंध हे तु याज्म क रोगों द्िाया हुआ। े े • मह संप्रबु ननकाम ऩहरी फाय 31 अक्िूफय, 1951 को सभरा। अऩने इस कामग को कयने हे तु रगबग 5 िषग का सभम सरमा। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  11. 11. www.upscportal.com जम्भू एिं कश्भीय का संविधान 17 निंफय, 1957 को अंगीकाय ककमा गमा तथा 26 जनियी, 1957 को प्रबाि भें आमा। इसक भख्म े ु विशेषताएं (जो सभम-सभम ऩय संशोर्धत हुए है ।) ननम्न हैं• मह घोवषत कयता है कक कश्भीय याज्म बायत का एक अखंड बाग है । • मह याज्म क रोगों का न्माम, स्ितंत्रता, सभानता एिं फंधत्ि े ु सयक्षऺत कयता है । ु • इसक अनसाय जम्भू एिं कश्भीय याज्म भें िह ऺेत्र सप्म्भसरत है , े ु जो 15 अगस्त 1947 क शासक क अंतगगत था। इसका अथग मह है े े कक याज्म क अधीन ऺेत्रों भें ऩाक अर्धकृत ऺेत्र बी सभादहत है । े © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  12. 12. www.upscportal.com ऑनऱाइन कोच ग क बारे में अचधक जानकारी क भऱए यहां म्लऱक करें ं े े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csatpaper-1-hindi हार्ा कॉऩी में सामान्य अध्ययन प्रारं भभक ऩरीऺा (स्टर्ी ककट - ऩेऩर - 1 (Paper 1) खरीदने क भऱए यहां म्लऱक करें े http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csatpaper-1-hindi © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े
  13. 13. www.upscportal.com UPSCPORTAL Other Online Courses Online Course for Civil Services Preliminary Examination  सीसैि (CSAT) प्रायं सबक ऩयीऺा क सरए ऑनराइन कोर्चंग (ऩेऩय - 2) े  Online Coaching for CSAT Paper - 1 (GS) 2014  Online Coaching for CSAT Paper - 2 (CSAT) 2014 Online Course for Civil Services Mains Examination General Studies Mains (NEW PATTERN - Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration for Mains 30 Days online Crash Course For Public Administration Mains Essay Programme for Mains For Know More Click Here: http://upscportal.com/civilservices/courses © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग मे सम्म्मभऱत होने क भऱए यहां म्लऱक करें ं े

×