Your SlideShare is downloading. ×
0
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×

Thanks for flagging this SlideShare!

Oops! An error has occurred.

×
Saving this for later? Get the SlideShare app to save on your phone or tablet. Read anywhere, anytime – even offline.
Text the download link to your phone
Standard text messaging rates apply

Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a

177

Published on

Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a

Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-4 a

Published in: Education
0 Comments
0 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

  • Be the first to like this

No Downloads
Views
Total Views
177
On Slideshare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
1
Actions
Shares
0
Downloads
6
Comments
0
Likes
0
Embeds 0
No embeds

Report content
Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
No notes for slide

Transcript

  • 1. www.upscportal.com IAS सीसैट पेपर-2 निर्णयि ऺमता एवॊ समस्या समाधाि तथा पारस्पररक कौशऱ (Decision Making & Problem Solving & Interpersonal Skills) अध्याय : समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग © UPSCPORTAL.COM IAS EXAM Online Coaching
  • 2. www.upscportal.com समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग सभस्मा-सभाधान क विश्रेषण की एक प्रचलरत विधध िेन-आये ख है , े जो कक एक औऩचारयक ननगभनात्भक तक है , जजसभें दो मा दो से क अधधक प्रस्तावित कथनों से ननष्कषक तक ऩहॉ चा जाता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 3. www.upscportal.com समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग िेन आये ख क तत्ि े आधाय िाक्म तक िाक्मा आधाय िाक्म एक ऐसा िाक्म होता है जो क एक कथन तैमाय कयता/फनाता है औय दो शब्दों क फीच क सम्फन्ध को े े दशाकता हैं। इसक तीन बाग होते हैं। े कताक ऩद स्क िाक्म का िह बाग है जजसक फाये भें कछ कहा जा यहा े है । विधेम ऩद ननधाकयक, तक िाक्म का िह बाग है जजसको फतामा गमा क हो मा जो विषम से सम्फजन्धत हो। विशेषक ऩद मह विषम मा ननधाकयक भें कछ गणों को जोड़ता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 4. www.upscportal.com समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग कछ तथ्म िह ऩद जो प्रस्तावित कथनों भें साभान्म होता है , उसे भध्म मा साभान्म ऩद कहा जाता है औय िहॉ कबी ननष्कषक भें नह ॊ होता है ।  ननष्कषक क रूऩ भें , कत्र्ता ऩद का एक प्रस्तावित कथन से तथा े विधेम ऩद का अन्म प्रस्तावित ऩद से सम्फद्ध होना चाहहए। ननष्कषक को प्रस्तावित कथन क सभरूऩ नह ॊ होना चाहहए। े  ककसी ननष्कषक की भजफती दो प्रस्तावित कथनों की कभजोय से ू अधधक फहद् हो सकती है । महद एक प्रस्तावित कथन सिकव्माऩी (सबी, ृ नह ॊ ) हो औय एक विलशष्ट हो (कछ), तो ननष्कषक को बी विलशष्ट ह होना चाहहए। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 5. www.upscportal.com समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग कछ तथ्म किर दो सकायात्भक प्रस्तावित कथन ह सकायात्भक ननष्कषक े उत्ऩन्न कय सकते हैं। महद एक प्रस्तावित कथन नकायात्भक हो, तो ननष्कषक बी नकायात्भक ह होगे। महद दोनों ननष्कषक नकायात्भक हों, तो ननष्कषक बी नकायात्भक ह होंगे। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 6. www.upscportal.com समस्या-समाधाि में वेि-आरे ख का उपयोग िेन-आये ख क प्रकाय े सकायत्भक नकायत्भक © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 7. ‘स्माटण ’ प्रैम्लटस www.upscportal.com ननम्नलरखखत प्रत्मेक प्रश्न भें दों कथन हदए गए है औय इन कथनों क े आगे दो ननष्कषक । तथा ।। हदए है । आऩको इन दोनों कथनेाॊ को सह भानना है । बरे ह िे सभान्म ज्ञात तथ्मों से लबन्न प्रतीत होते हो। ननष्कषो को ऩढे औय कपय तम कयें कक दोनों भें से कौन सा ननष्कषक साभान्म ज्ञात तथ्मों को नजय अॊदाज कयते हए प्रस्तत दोनों कथनों को ताककक रूऩ से अनसयण कयता है उत्तय दे क (a) महद किर ननष्कषक । अनसयण कयता हो। े (b) महद किर ननष्कषक ।। अनसयण कयता हो। े (c) महद । मा ।। अनसयण कयता हो। (d) महद । मा ।। दोनो ह अनसयण कयते हो। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 8. ‘स्माटण ’ प्रैम्लटस www.upscportal.com 1. कथि कछ मोती रत्ि हैं। कछ रत्ि आरुर् हैं।, ु ु निष्कषण : 1. कछ यत्न भोती हैं। 2. कछ आबषण यत्न हैं। ू 2. कथि सभी हारमोनियम वाद्य यन्त्र हैं। सभी वाद्य यन्त्र बाॉसरी ु हैं। निष्कषण : 1. सबी फाॉसय िाद्म मन्र हैं। 2. सबी हायभोननमभ फाॉसय हैं। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े
  • 9. THANK YOU! सीसैट पेपर-2 : ऑिऱाइि कोच ग में सम्ममलऱत होिे क लऱए यहाॊ म्लऱक करें ॊ े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csat-paper-2-hindi सीसैट पेपर-2 : If You want to Buy Hard Copy Click Here : http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csat-paper-2hindi More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com
  • 10. UPSCPORTAL other online Courses Online Course For Civil Services Preliminary Examination सामान्त्य अध्ययि पेपर-1 ऑिऱाइि कोच ग ॊ Online Coaching For CSAT Paper -1 (GS) 2014 Online Coaching For CSAT Paper -2 (CSAT) 2014 Online Course For Civil Services Mains Examination General Studies Mains (New Pattern Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration For Mains More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com

×