Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-2 a

767 views

Published on

Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-2 a

Published in: Education
0 Comments
0 Likes
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

  • Be the first to like this

No Downloads
Views
Total views
767
On SlideShare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
512
Actions
Shares
0
Downloads
5
Comments
0
Likes
0
Embeds 0
No embeds

No notes for slide

Online coaching-csat-paper-2-problem-solving-2 a

  1. 1. www.upscportal.com IAS सीसैट ऩेऩर-2 ननर्णयन ऺमता एवं समस्या समाधान तथा ऩारस्ऩररक कौशऱ (Decision Making & Problem Solving & Interpersonal Skills) अध्याय : कारर् एवं प्रभाव को समझना © UPSCPORTAL.COM IAS EXAM Online Coaching
  2. 2. www.upscportal.com कारर् एवं प्रभाव को समझना प्रत्मेक कायण (मा घटना) हभेशा प्रबावों की एक श्ॊखरा उत्ऩन्न र कयता है । कछ प्रबाव स्ऩष्ट हो सकते हैं तथा स्ऩष्ट रूऩ से सभझे जा झ सकते हैं, जफकक कछ प्रबाव छछऩे होते हैं जो स्ऩष्ट नह ॊ होते । आऩको झ ऐसी सभस्माओॊ का सभाधान कयते सभम सबी प्रकाय क प्रबावों को े ध्मान भें यखना होगा।  ऩता कीजजए कायण क्मा है औय प्रबाव क्मा है । कायण सदै व प्रबाव क ऩहरे घटटत होता है । े क्मा कायण भात्र प्रबाव हे तझ ऩमााप्त शता है म जैसे कक, क्मा कायण का प्रबाव सदै व ऩरयणाभ ह होता है मा कवर कबी-कबी ऐसा होता है ? े क्मा प्रबाव क उत्ऩन्न होने क लरए कायण का होना एक आवश्मक े े शता है अथवा कछ अन्म कायणों क कायण बी प्रबाव उत्ऩन्न हो सकता े झ है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  3. 3. www.upscportal.com कारर् एवं प्रभाव को समझना प्रभख शब्दों ऩय ध्मान द जजए जैसे-तफ, आज, अगरे सप्ताह, ऩहरे, झ फाद भें इत्माटद। एक तात्कालरक कायण का भतरफ एक ऐसे कायण से है जो तयन्त झ प्रबाव उत्ऩन्न कयता है औय भख्म कायण का अथा वैसे कायण से है जो झ प्रबाव क उत्ऩन्न होने क ऩीछे सफसे भहत्वऩूणा कायक था। े े ऩववती छनमभों को माद यखें कक बतकार ऩणा वताभान कार का ू ा ू ू ऩूववती होता है य ऩूणा वताभान कार, अऩूणा वताभान कार का ऩूववती ा ा होता है ; औय अऩूणा वताभान कार, बववष्मकार का ऩूववती होता है । ा एक घटना मटद वैज्ञाछनक रूऩ से प्रभाणणत हो जाती है अथवा इसक े ववषम भें अनझभान रगाना तकऩूणा होता है , तो मह दसय ककसी घटना ा ू का कायण हो सकती है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  4. 4. www.upscportal.com कारर् एवं प्रभाव को समझना मटद प्रथभ वक्तव्म ऩय ववचाय कयने क कायण दसये वक्तव्म ऩय े ू ध्मान दे ने की ऩहर की गई हो, तो दसया कथन ‘प्रबाव’ होता है औय ू ऩहरे कथन को उसका कायण भाना जाता है । मटद सयकाय द्वाया ककसी हड़तार, जन आन्दोरन, साभाजजक कामाकतााओॊ की भाॉग, ऩमाावयणववद् आटद क कायण कोई कदभ उठामा े जाता है तो सयकाय द्वाया उठामा गमा वह कदभ ‘प्रबाव’ होता है औय हड़तार, आन्दोरन इत्माटद कायण होता है । मटद अदारत मा सयकाय ने कोई छनणाम टदमा हो औय उसका अनझसयण ककमा जाता है , तो छनणाम कायण होता है औय उसक अनझसयण े का तय का प्रबाव है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  5. 5. www.upscportal.com कारर् एवं प्रभाव को समझना साभान्मत् प्राकरछतक आऩदाएॉ कायण होती हैं औय उनक कायण होने े वार तफाह प्रबाव होती है । मटद भानव- छनलभात किमाकराऩ ककए जाते हैं, तो वह प्राकरछतक आऩदाओॊ क कायण होते हैं। े मटद ककसी उत्ऩाद क भल्म भें कभी मा फढोतय होने क कायण उसकी े ू े बफिी फढती मा घटती है , तो बफिी भें फढोतय मा कभी प्रबाव है औय भल्म भें फदराव उसका कायण है । ू टदमा जाने वारा सझाव अथवा आदे श साधायणतमा कछ कायणों का झ झ प्रबाव होता है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  6. 6. ‘स्माटण उदाहरर् www.upscportal.com 1. ।. याज्म सयकाय ने टे र ववजन ऩय कछ प्रभख लसनेभा चैनरों क े झ झ प्रसायण ऩय तत्कार ऩाफन्द रगाने को आदे श ऩारयत ककमा है । ।।. कछ साभाजजक कामाकताा एकजट होकय आगे आए औय उन्होंने झ झ टे र ववजन ऩय वमस्क कपल्भ प्रसारयत कयने ऩय योक रगाने की भाॉग की। 2. ।. ऩेट्रोलरमभ उत्ऩादों की कीभतों भें वऩछरे सप्ताह सीभान्त गगयावट आई है । ।।. वऩछरे सप्ताह याज्म सयकाय ने ऩेट्रोलरमभ उत्ऩादों ऩय रगे कय भें कभी की है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  7. 7. ‘स्माटण ’ प्रैम्लटस www.upscportal.com 1. ।. इस सप्ताहाॊत क दौयान खाद्म-भल्मों ने सवााेेच्च सीभा को छ े ू ू लरमा। ।।. फहझत-सी दकानों ऩय छाऩे भाये गए औय लभरावट खाद्म ऩदाथों झ को कब्जे भें ककमा गमा। 2. ।. सबी स्करों ने प्रभख ऩवा क अगरे टदन छट्टी की घोषणा कय द । े झ झ ू ।।. सबी भहाववद्मारमों ने प्रभख ऩवा क अगरे टदन छट्टी की े झ झ घोषणा कय द । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े
  8. 8. THANK YOU! सीसैट ऩेऩर-2 : ऑनऱाइन कोच ग में सम्ममलऱत होने क लऱए यहां म्लऱक करें ं े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csat-paper-2-hindi सीसैट ऩेऩर-2 : If You want to Buy Hard Copy Click Here : http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csat-paper-2hindi More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com
  9. 9. UPSCPORTAL other online Courses Online Course For Civil Services Preliminary Examination सामान्य अध्ययन ऩेऩर-1 ऑनऱाइन कोच ग ं Online Coaching For CSAT Paper -1 (GS) 2014 Online Coaching For CSAT Paper -2 (CSAT) 2014 Online Course For Civil Services Mains Examination General Studies Mains (New Pattern Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration For Mains More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com

×