Online coaching-csat-paper-2-decision-making-8 a
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×
 

Like this? Share it with your network

Share

Online coaching-csat-paper-2-decision-making-8 a

on

  • 200 views

Online coaching-csat-paper-2-decision-making-8 a

Online coaching-csat-paper-2-decision-making-8 a

Statistics

Views

Total Views
200
Views on SlideShare
195
Embed Views
5

Actions

Likes
0
Downloads
0
Comments
0

1 Embed 5

http://www3.upscportal.com 5

Accessibility

Categories

Upload Details

Uploaded via as Adobe PDF

Usage Rights

© All Rights Reserved

Report content

Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
  • Full Name Full Name Comment goes here.
    Are you sure you want to
    Your message goes here
    Processing…
Post Comment
Edit your comment

Online coaching-csat-paper-2-decision-making-8 a Presentation Transcript

  • 1. www.upscportal.com IAS सीसैट ऩेऩर-2 ननर्णयन ऺमता एवॊ समस्या समाधान तथा ऩारस्ऩररक कौशऱ (Decision Making & Problem Solving & Interpersonal Skills) अध्याय : ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ © UPSCPORTAL.COM IAS EXAM Online Coaching
  • 2. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ हभाये दै ननक जीवन भें कई फाय ऐसी साभान्म एवॊ असाभान्म ऩरयॊस्यमनिमाॉ ऩैदा हो जािी हैं, स्जनक सभाधान क लरए उचिि े े ननर्णमज को रेकय हभ द्वन्द्वग्रयि हो जािे हैं। ऐसी ऩरयॊस्यमनिमों से हभ फेहिय एवॊ प्रबावी ननर्णमन ऺभिा क फर ऩय ही द्वन्द्व से फाहय े ननकर सकिे हैं। ऩरयस्यिनि प्रनिक्रिमा ऩयीऺर् एक प्रकाय का साभान्म फौद्धिक ऩयीऺर् है । ऩरयस्यिनि ििा प्रनिक्रिमाओॊ ऩय आधारयि प्रश्न अभ्मिी की भनोवैऻाननक द्धवशेषिाओॊ वारे द्धवषम भें जानने क लरए सॊिालरि क्रकए े जािे हैं, जैसे क्रक, प्रत्मऺर्, सॊऻान एवॊ व्मवहाय स्जसे सॊघ रोक सेवा आमोग द्वाया अभ्मिी भें ननहहि अचधकारयमों जैसे गर्ों का भलमाॊकन ु ू कयने हे िु प्रमुक्ि क्रकमा जािा है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 3. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ इस ियह क प्रश्नों भें , अभ्मिी दी गई द्धवशेष ऩरयस्यिनि क सन्दबण भें े े अऩनी सहज प्रनिक्रिमा दे िा है औय मह सहजिा ही अभ्मिी क सम्ऩर्ण े ू व्मस्क्ित्व को उजागय कयिी है , ििा मू ऩी एससी को अभ्मिी का भलमाॊकन कयने भें सहामिा कयिी है । माद यखें, महाॉ ऩरयस्यिनिमों का ू सभाधान कयने क लरए क्रकसी द्धवशेष फौद्धिकिा ििा ऻान की े आवश्मकिा नहीॊ होिी है ।
  • 4. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ प्रत्यऺर्, बौद्धिकता, मनोभाव एवॊ इच्छाशस्लत की अवधारर्ा प्रत्मऺ ऻान कार/अनबनि कार मह वह सभम होिा है स्जसभें ु ू ऩरयस्यिनि को सभझा जािा है । मे हभायी मोग्मिा एवॊ अनबव क े ु आधाय ऩय आिी हैं। एक नागरयक सेवक क रूऩ भें आऩको इन े ऩरययिनिमों ऩय अनामास ही प्रनिक्रिमा दे नी होिी है । अि् सॊकि मह है े क्रक ऩवाणग्रह क साि प्रनिक्रिमा न दें । े ू  ऻान कार/द्धविायर्ा कार मह वह सभम होिा है , जो क्रकसी ऩरयस्यिनि अिवा घटना को सभझने भें रगिा है । मही वह सभम होिा है , जफ दसयों क द्धविायों की िरना की जािी है एवॊ भन भें नए द्धविाय े ू ु आिे हैं। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 5. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ प्रत्यऺर्, बौद्धिकता, मनोभाव एवॊ इच्छाशस्लत की अवधारर्ा प्रत्मेक ऩरयस्यिनि द्धवशेष होिी है औय आऩको उसी क अनसाय े ु प्रनिक्रिमा दे नी होिी है । क्रकसी ऩरयस्यिनि ऩय अऩने ननर्णम दे ने क लरए े रोगों, अधीनयिों एवॊ द्धवशेषाचधकारयमो क लरए मह जानना आवश्मक े है क्रक उन्हे एक सवणऻािा की ियह नहीॊ, अद्धऩिु एक साभान्म जन की ियह व्मवहाय कयना िाहहए औय आऩक ननर्णम का भख्म कन्र े े ु सयरीकयर् ऩय होना िाहहए। हो सकिा है क्रक क्रकसी द्धवशेष ऩरयस्यिनि भें क्रकसी ननष्कषण ऩय ऩहुॉिने क लरए आऩको क्रकसी े डाॅॎक्टय/इन्जीननमय की सराह की आवश्मकिा ऩडे । इस स्यिनि भें सराह रेना अननवामण है । © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 6. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ प्रत्यऺर्, बौद्धिकता, मनोभाव एवॊ इच्छाशस्लत की अवधारर्ा  बावनात्भक कार इस ऩरयस्यिनि कार भें भन भें िभाभ ियह की बावनाएॉ ऩैदा होने होने रगिी हैं। ऩरयस्यिनि क अनसाय मे डय चिन्िा, े ु गयसा, अन्धद्धवश्वास आहद से जडी हो सकिी है । अि् नागरयक सेवक ु ु क रूऩ भें आऩको इन्हें कभ कयना िाहहए। इसक साि ही आऩको े े यिानीम नागरयकों की आयिाओॊ एवॊ द्धवश्वासों क प्रनिकर बी नहीॊ े ू जाना होिा है । आऩको आभ रोगों की बावनाओॊ क खखराप नहीॊ जाना े िाहहए। © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 7. www.upscportal.com ऩररस्स्थनत(याॅ) एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ प्रत्यऺर्, बौद्धिकता, मनोभाव एवॊ इच्छाशस्लत की अवधारर्ा इच्छाशस्क्ि अिवा ननर्णमन कार मह वह सभम होिा है , जफ व्मस्क्ि को अस्न्िभ ननर्णम रेना होिा है । ‘ऩरयस्यिनि-प्रनिक्रिमा’ सम्फन्धी सभयमाओॊ को कसे सरझाएॉ? ै ु द्धवत्िीम औचित्म का िात्ऩमण ‘अचधकायी-जैसे’ गर् ु सॊगहिि एवॊ मोजनाफि साभास्जक सभामोजन © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 8. www.upscportal.com ऩररस्स्थनतयाॊ एवॊ आऩकी प्रनतक्रियाएॉ प्रत्यऺर्, बौद्धिकता, मनोभाव एवॊ इच्छाशस्लत की अवधारर्ा साभास्जक प्रबावकिा गनिशीरिा/ऊजाणवान © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 9. ‘स्माटण ’ उदाहरर् www.upscportal.com 1. बडौदा क ननवालसयों ने नगर ननगम द्वारा उऩऱब्ध कराए जाने े वाऱे जऱ में सॊदषर् तथा ननगम कमण ाररयों द्वारा इसका ननदान करने ू में बरती जाने वाऱी अकमणण्यता क द्धवरुि मेयर से लशकायत की है । े स्वयॊ को बडौदा का मेयर मानते हुए यह बताएॉ क्रक आऩको क्रकस तरह अऩनी प्रनतक्रिया दे नी ाहहए? a) कछ यिानीम ननवालसमों को सदयम क रूऩ भें शालभर कयिे हुए एक कभेटी गहिि े ु कयक भाभरे को ननऩटने का प्रमास कयें गे े b) ननगभ क वैसे कभणिारयमों को फयखायि कय दें गे जो क्रक दोषी हैं े c) सॊदषर् क यिय की जाॉि कयने क लरए द्धवशेषऻों को बेजेंगे औय महद जरूयि ऩडो े े ू िो इन्जीननमयों को बी नई ऩाइऩराइन बफछाने क लरए बेजेंगे े d) सम्फस्न्धि प्राचधकयर् को सभयमा को दय कयने का ननदे श दे िे हुए भाभरे को उस ू िक प्रेद्धषि कय दें गे © 2014 UPSCPORTAL .COM ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े
  • 10. THANK YOU! सीसैट ऩेऩर-2 : ऑनऱाइन कोच ग में सस्ममलऱत होने क लऱए यहाॊ स्लऱक करें ॊ े http://www.upscportal.com/civilservices/courses/ias-pre/csat-paper-2-hindi सीसैट ऩेऩर-2 : If You want to Buy Hard Copy Click Here : http://www.upscportal.com/civilservices/study-kit/ias-pre/csat-paper-2hindi More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com
  • 11. UPSCPORTAL other online Courses Online Course For Civil Services Preliminary Examination सामान्य अध्ययन ऩेऩर-1 ऑनऱाइन कोच ग ॊ Online Coaching For CSAT Paper -1 (GS) 2014 Online Coaching For CSAT Paper -2 (CSAT) 2014 Online Course For Civil Services Mains Examination General Studies Mains (New Pattern Paper 2,3,4,5) Contemporary Issues for Civil Services Main Examination Public Administration For Mains More IAS Online Coaching Courses http://www.upscportal.com/civilservices/courses www.upscportal.com