Your SlideShare is downloading. ×
Kavita Kosh Presentation
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×

Thanks for flagging this SlideShare!

Oops! An error has occurred.

×

Saving this for later?

Get the SlideShare app to save on your phone or tablet. Read anywhere, anytime - even offline.

Text the download link to your phone

Standard text messaging rates apply

Kavita Kosh Presentation

1,705
views

Published on

Published in: Technology, Business

0 Comments
1 Like
Statistics
Notes
  • Be the first to comment

No Downloads
Views
Total Views
1,705
On Slideshare
0
From Embeds
0
Number of Embeds
1
Actions
Shares
0
Downloads
9
Comments
0
Likes
1
Embeds 0
No embeds

Report content
Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
No notes for slide

Transcript

  • 1. हिन्दी काव्य का महासागर www.kavitakosh.org
  • 2. कविता कोश क्या है ?
    • यह इंटरनैट पर उपलब्ध हिन्दी काव्य का एक कोश है ( www.kavitakosh.org )
    • यह एक अव्यावसायिक प्रयास है जिससे किसी का कोई भी आर्थिक हित नहीं जुड़ा है
    • यह एक खुला और सामूदायिक कोश है –जिसकी वृद्धि में कोई भी योगदान दे सकता है
    • कविता कोश विकिपीडिया का हिस्सा नहीं है
  • 3. उद्देश
    • हिन्दी और विशेषकर हिन्दी काव्य को इंटरनैट पर इसका समुचित स्थान दिलाना
    • पुराने और भूले जा रहे कवियों / कविताओं को संरक्षित करना
    • विलुप्त हो रही लोक गीत सम्पदा को बचाना
    • स्तरीय हिन्दी काव्य को आने वाली पीढियों तक पँहुचाना
    • हिन्दी काव्य को इंटरनैट के ज़रिये विश्वभर में उपलब्ध कराना
    • हिन्दी के छात्रों , अध्यापकों व शोधकर्ताओं के लिये एक मानक स्रोत बनना
  • 4. शुरुआत और विकास
    • 05 जुलाई 2006 को स्थापित
    • इंटरनैट पर बहुत सा हिन्दी काव्य जहाँ - तहाँ बिखरा पड़ा था
    • कविता कोश ने इस सारे काव्य को एक छत के नीचे लाना और व्यवस्थित करना आरंभ किया
    • कोश की सामुदायिक प्रकृति के कारण इसका विकास तेज़ी से हुआ और इसमें उपलब्ध सामग्री की गुणवत्ता भी बढ़ी
  • 5. वर्तमान : कुछ आंकड़े
    • 500 से अधिक रचनाकार सूचीबद्ध
    • 15,000 से अधिक काव्य रचनाएँ संकलित
    • 20 से अधिक बोलियों के 200 से अधिक लोक गीत
    • 400 से अधिक अनूदित रचनाएँ
    • 500 से अधिक काव्य - पुस्तकें संकलित
    • हर महीने 30,000 से अधिक आगंतुक
    • हर महीने 5 लाख से अधिक पन्ने देखे जाते हैं
    • हर महीने करीब 150 नये लोग कविता कोश से जुड़ते हैं
  • 6. कविता कोश के अनुभाग
    • हिन्दी / उर्दू काव्य रचनाएँ
    • अनूदित रचनाएँ
    • लोक गीत संकलन
    • शिशु गीत संकलन
    • धार्मिक लोक रचनाएँ ( भजन , आरती इत्यादि )
    • शाश्वत काव्य ( धार्मिक ग्रंथ और ग्रंथानुवाद )
  • 7. नियंत्रण
    • कोश के विकास को कविता कोश टीम नामक एक समूह नियंत्रित करता है
    • प्रशासक के पास कोश से सम्बंधित सभी तकनीकी और नीति सम्बंधी अधिकार होते हैं
    • संपादक इस बात का निर्णय करता है कि किन रचनाकारों की रचनाएँ कोश में संकलित की जाएगी
    • अन्य सदस्य पूरी टीम द्वारा तय कार्यों में अपनी योग्यतानुसार योगदान करते हैं
    • टीम की दिशा और सदस्यों के कार्यों का हर 6 महीनों में मूल्यांकन किया जाता है और आवश्यकतानुसार बदलाव किये जाते हैं
  • 8. वर्तमान कविता कोश टीम प्रतिष्ठा शर्मा कविता कोश प्रशासक अनिल जनविजय कविता कोश संपादक द्विजेन्द्र द्विज सदस्य अनूप भार्गव सदस्य कुमार मुकुल सदस्य
  • 9. कॉपीराइट नीति
    • कविता कोश एक पूरी तरह से अव्यावसायिक प्रयास है। किसी के भी कॉपीराइट का उलंघन कविता कोश का उद्देश्य नहीं है
    • कविता कोश टीम के सदस्य कोश के विकास के लिये अपने धन , योग्यता , समय और श्रम का निस्वार्थ योगदान करते हैं
    • कोश के उद्देश्यों को देखते हुए हिन्दी काव्य के रचनाकार स्वयं चाहते हैं कि कोश में उनकी रचनाएँ संकलित हों
    • यदि फिर भी किसी रचनाकार को उनकी रचनाओं के संकलन पर आपत्ति हो तो उनकी रचनाएँ कोश से तुरंत हटा दी जाएंगी
    • अभी तक किसी भी रचनाकार ने कोश से अपनी रचनाएँ हटाने का आग्रह नहीं किया है
    • अधिक जानकारी के लिये देखें http://www.kavitakosh.org/copyright.htm
  • 10. भविष्य : योजनाएँ
    • कोश की वैबसाइट की रूप - सज्जा में और अधिक सुधार
    • रचनाओं की खोज और कोश में परिभ्रमण को और आसान बनाना
    • हिन्दी के प्रख्यात कवियों से सम्पर्क कर उनका मार्गदर्शन प्राप्त करना
    • कोश को और अधिक लोगों तक पँहुचाने के प्रयास करना
    • कविता कोश की तरह हिन्दी गद्य कोश भी स्थापित किया जा चुका है। गद्य कोश को भी आगे विकसित करने की योजना है गद्य कोश का पता : www.gadyakosh.org
  • 11. भविष्य : चुनौतियाँ
    • कविता कोश टीम के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती कोश के विकास की दर को बनाये रखना है
    • इसके लिये कोश को और अधिक योगदानकर्ताओं की हमेशा आवश्यकता रहती है
    • कोश को प्रचार की आवश्यकता है। बहुत से संभावित प्रयोक्ता अभी भी कविता कोश के बारे में नहीं जानते
    • कोश की अव्यावसायिक प्रकृति को बनाये रखते हुए प्रचार और प्रसार के लिये धन जुटाना भी बड़ी चुनौती है
  • 12. अपना समय और ध्यान देने के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद यदि आप कोई प्रश्न या टिप्पणी करना चाहें तो हमें प्रसन्नता होगी -- कविता कोश टीम --