Kavita Kosh Presentation
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×
 

Kavita Kosh Presentation

on

  • 2,123 views

 

Statistics

Views

Total Views
2,123
Views on SlideShare
2,123
Embed Views
0

Actions

Likes
1
Downloads
4
Comments
0

0 Embeds 0

No embeds

Accessibility

Categories

Upload Details

Uploaded via as Microsoft PowerPoint

Usage Rights

© All Rights Reserved

Report content

Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
  • Full Name Full Name Comment goes here.
    Are you sure you want to
    Your message goes here
    Processing…
Post Comment
Edit your comment

    Kavita Kosh Presentation Kavita Kosh Presentation Presentation Transcript

    • हिन्दी काव्य का महासागर www.kavitakosh.org
    • कविता कोश क्या है ?
      • यह इंटरनैट पर उपलब्ध हिन्दी काव्य का एक कोश है ( www.kavitakosh.org )
      • यह एक अव्यावसायिक प्रयास है जिससे किसी का कोई भी आर्थिक हित नहीं जुड़ा है
      • यह एक खुला और सामूदायिक कोश है –जिसकी वृद्धि में कोई भी योगदान दे सकता है
      • कविता कोश विकिपीडिया का हिस्सा नहीं है
    • उद्देश
      • हिन्दी और विशेषकर हिन्दी काव्य को इंटरनैट पर इसका समुचित स्थान दिलाना
      • पुराने और भूले जा रहे कवियों / कविताओं को संरक्षित करना
      • विलुप्त हो रही लोक गीत सम्पदा को बचाना
      • स्तरीय हिन्दी काव्य को आने वाली पीढियों तक पँहुचाना
      • हिन्दी काव्य को इंटरनैट के ज़रिये विश्वभर में उपलब्ध कराना
      • हिन्दी के छात्रों , अध्यापकों व शोधकर्ताओं के लिये एक मानक स्रोत बनना
    • शुरुआत और विकास
      • 05 जुलाई 2006 को स्थापित
      • इंटरनैट पर बहुत सा हिन्दी काव्य जहाँ - तहाँ बिखरा पड़ा था
      • कविता कोश ने इस सारे काव्य को एक छत के नीचे लाना और व्यवस्थित करना आरंभ किया
      • कोश की सामुदायिक प्रकृति के कारण इसका विकास तेज़ी से हुआ और इसमें उपलब्ध सामग्री की गुणवत्ता भी बढ़ी
    • वर्तमान : कुछ आंकड़े
      • 500 से अधिक रचनाकार सूचीबद्ध
      • 15,000 से अधिक काव्य रचनाएँ संकलित
      • 20 से अधिक बोलियों के 200 से अधिक लोक गीत
      • 400 से अधिक अनूदित रचनाएँ
      • 500 से अधिक काव्य - पुस्तकें संकलित
      • हर महीने 30,000 से अधिक आगंतुक
      • हर महीने 5 लाख से अधिक पन्ने देखे जाते हैं
      • हर महीने करीब 150 नये लोग कविता कोश से जुड़ते हैं
    • कविता कोश के अनुभाग
      • हिन्दी / उर्दू काव्य रचनाएँ
      • अनूदित रचनाएँ
      • लोक गीत संकलन
      • शिशु गीत संकलन
      • धार्मिक लोक रचनाएँ ( भजन , आरती इत्यादि )
      • शाश्वत काव्य ( धार्मिक ग्रंथ और ग्रंथानुवाद )
    • नियंत्रण
      • कोश के विकास को कविता कोश टीम नामक एक समूह नियंत्रित करता है
      • प्रशासक के पास कोश से सम्बंधित सभी तकनीकी और नीति सम्बंधी अधिकार होते हैं
      • संपादक इस बात का निर्णय करता है कि किन रचनाकारों की रचनाएँ कोश में संकलित की जाएगी
      • अन्य सदस्य पूरी टीम द्वारा तय कार्यों में अपनी योग्यतानुसार योगदान करते हैं
      • टीम की दिशा और सदस्यों के कार्यों का हर 6 महीनों में मूल्यांकन किया जाता है और आवश्यकतानुसार बदलाव किये जाते हैं
    • वर्तमान कविता कोश टीम प्रतिष्ठा शर्मा कविता कोश प्रशासक अनिल जनविजय कविता कोश संपादक द्विजेन्द्र द्विज सदस्य अनूप भार्गव सदस्य कुमार मुकुल सदस्य
    • कॉपीराइट नीति
      • कविता कोश एक पूरी तरह से अव्यावसायिक प्रयास है। किसी के भी कॉपीराइट का उलंघन कविता कोश का उद्देश्य नहीं है
      • कविता कोश टीम के सदस्य कोश के विकास के लिये अपने धन , योग्यता , समय और श्रम का निस्वार्थ योगदान करते हैं
      • कोश के उद्देश्यों को देखते हुए हिन्दी काव्य के रचनाकार स्वयं चाहते हैं कि कोश में उनकी रचनाएँ संकलित हों
      • यदि फिर भी किसी रचनाकार को उनकी रचनाओं के संकलन पर आपत्ति हो तो उनकी रचनाएँ कोश से तुरंत हटा दी जाएंगी
      • अभी तक किसी भी रचनाकार ने कोश से अपनी रचनाएँ हटाने का आग्रह नहीं किया है
      • अधिक जानकारी के लिये देखें http://www.kavitakosh.org/copyright.htm
    • भविष्य : योजनाएँ
      • कोश की वैबसाइट की रूप - सज्जा में और अधिक सुधार
      • रचनाओं की खोज और कोश में परिभ्रमण को और आसान बनाना
      • हिन्दी के प्रख्यात कवियों से सम्पर्क कर उनका मार्गदर्शन प्राप्त करना
      • कोश को और अधिक लोगों तक पँहुचाने के प्रयास करना
      • कविता कोश की तरह हिन्दी गद्य कोश भी स्थापित किया जा चुका है। गद्य कोश को भी आगे विकसित करने की योजना है गद्य कोश का पता : www.gadyakosh.org
    • भविष्य : चुनौतियाँ
      • कविता कोश टीम के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती कोश के विकास की दर को बनाये रखना है
      • इसके लिये कोश को और अधिक योगदानकर्ताओं की हमेशा आवश्यकता रहती है
      • कोश को प्रचार की आवश्यकता है। बहुत से संभावित प्रयोक्ता अभी भी कविता कोश के बारे में नहीं जानते
      • कोश की अव्यावसायिक प्रकृति को बनाये रखते हुए प्रचार और प्रसार के लिये धन जुटाना भी बड़ी चुनौती है
    • अपना समय और ध्यान देने के लिये आपका हार्दिक धन्यवाद यदि आप कोई प्रश्न या टिप्पणी करना चाहें तो हमें प्रसन्नता होगी -- कविता कोश टीम --