बेसिक Computer
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×

Like this? Share it with your network

Share
  • Full Name Full Name Comment goes here.
    Are you sure you want to
    Your message goes here
    Be the first to comment
    Be the first to like this
No Downloads

Views

Total Views
615
On Slideshare
615
From Embeds
0
Number of Embeds
0

Actions

Shares
Downloads
11
Comments
0
Likes
0

Embeds 0

No embeds

Report content

Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
    No notes for slide

Transcript

  • 1. कप्यटर - कायय प्रणाली ं ू े कप्युटर कल पर्जो से बना हु आ एक मशीन ;Uत्र है| कप्यटर क पास अपना स्वयं का कोई ं ं ू ु ै दिमाग या चेतना नहीं होता है| तो आद़िर वह इतने सारे कायय कसे कर लेता है? े े े े कप्यटर को कायय शील बनाने क दलए उसक कलपुर्जो क अलावा उसमें एक दवशेष प्रकार क संिेश ं ू े अर्ाय तय सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है| सॉफ्टवेयर क माध्यम से कप्यटर अपने से र्जडे हर ं ू ू े ै एक उपकरण से उनक दलए दनर्ाय ररत दकए गए कायय करवाता है| दकसी उपकरण को कसे कायय े में लाना है उसकी र्जानकारी सॉफ्टवेयर क अन्िर पहले से ही स्र्ादपत की हु ई होती है| कप्यटर ं ू े े े क प्रोसेसर में अपार शदि एवं क्षमता होती है परन्तु सॉफ्टवेयर क दनिेश क दबना वह कछ भी ु े े नहीं कर सकता, उसे चलाने क दलए एक दवशेष प्रकार क सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है े र्जो प्रोसेसर , मिरबोडय , रै म हाडय दडस्क, फ्लॉपी ड्राइव , सीडी रोम एवं अन्य सभी दडवाइसेस क दबच तालमे ल बनाकर कप्यटर को आत्मसार करता करता है अर्ाय त कप्यटर को र्जीवन प्रिान ं ू ं ू करता है| इस दवशेष सॉफ्टवेयर को दसस्टम सॉफ्टवेयर/ऑपरे दटंग दसस्टम कहा र्जाता है| े "कप्यटर उपयोगकताय द्वारा दिए गए कायय को उपलब्र् तथ्यों क आर्ार पर दनिेशानुसार दवश्ले षण ं ू कर अपेदछछत र्जानकारी उपलब्र् कराता है|" े यह परी प्रदिया एक चरणबद्ध तरीक से होती है| ु १) इनपुट (Input) - कर्जीपटल (KeyBoard) द्वारा कप्यटर में तथ्य भरना तर्ा अपेदछछत कायय ं ू ुं बताना| २) प्रोसेदसंग (Proccessing) - CPU द्वारा उपलब्र् तथ्यों का दनिेशानुसार दवश्ले षण करना| ३) आउटपट (Output) - दवश्ले षण द्वारा उपलब्र् र्जानकारी को दृश्यपटल (Screen) पर िशाय ना या ु मुद्रक यंत्र (Pinter) द्वारा मुद्रण DevLys 010 करना| 4) संरक्षण (Storage) - दवश्ले षण द्वारा उपलब्र् र्जानकारी को संरक्षण उपकरण (Storage Device) पर संरदक्षत करना
  • 2. dEI;wVj %&dEI;qVj ,d bysDVªkfud e'khu gS] tks buiqV fMokbl ds ek/;e ls vk¡dM+ksa dks izkIr djds fo'kys"k.k vkSj x.kuk dj mUgsa lwpukvksa esa cnyrk gSA vko';drk iM+us ij dEI;wVj esa lwpukvksa dks laxzg dj ldrs gSaA ;s xf.krh; ¼esFksefVdy½ ,oa rkfdZd ¼ykWftdy½ x.kuk dj ldrk gSA blds nks eq[; rRo& gkMZos;j vkSj lkW¶Vos;j dgykrs gSaA Computer HARDWARE 1. Input Device 2. Output Device 3. CPU 4. Storage Device THE LIST OF INPUT DEVICES 1. Keyboard 2. Mouse 3. Trackballs 4. Joysticks 5. Pointing Sticks 6. Touch pads 7. Pen Input 8. Scanner 9. Light Pen 10. Touch Screen 11. Microphone 12. Video Cards 13. Electronic Whiteboard 14. Audio Cards 15. Graphics Tablet 16. Digitizer SOFTWARE
  • 3. THE LIST OF OUTPUT DEVICES Speaker(s) Plotters Monitor LCD Projection Panels Printers (all types) Computer Output Microfilm Facsimile (FAX) CPU कम्प्यूटर क विभिन्न हार्डिेयर े कम्प्यूटर क विभिन्न हार्डियर : े े सीपीयू (CPU) : सी.पी.य. का अर्थ है सैंट्रल प्रोसेससिंग युनिट यानि ऐसा भाग जिसमें कम्प्यूटर का प्रमुख ू काम होता है . हहन्दी में इसे कन्रीय विश्लेषक इकाई भी कहा िाता है .िैसा इसक िाम से ही स्पष्ट है , यह े े कम्प्यूटर का िह भाग है , िहािं पर कम्प्यूटर प्रा्त सूचिाओिं का विश्लेषण करता है.इसे हम कम्प्यूटर का हदल भी कह सकते हैं. कभी कभी सीपीयू को ससर् प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर ही कहा िाता है . थ माइक्रो प्रोसेसर: माइक्रोप्रोसेसर कम्प्यटर का इलेक्ट्ट्रोनिक भाग है िो हमारे ू निदे श तर्ा प्रोग्राम का पालि करक कायथ सम्पपन्ि करता है .कम्प्यूटर की े गनत उसक प्रोसेसर की क्षमता पर ही निभथर होती है .दनिया में मख्यत: दो े ु ु बड़ी कपनियािं है िो माइक्रोप्रोसेसर का उत्पादि करती हैं. ये हैं इन्टै ल िं (INTEL) और ए.एम. डी.(AMD) इिमें से इन्टै ल कपिी क प्रोसेसर ज्यादा इस्तेमाल ककये िाते हैं.प्रत्येक िं े कपिी प्रोसेसर की तकिीक और उसकी क्षमता क अिसार उन्हे अलग अलग कोड िाम दे ती हैं.िैसे इिंटेल िं े ु कपिी क प्रमख प्रोसेसर हैं पैजन्टयम -1, पैजन्टयम -2, पैजन्टयम -3, पैजन्टयम -4, सैलेरॉि,कोर टू डुयो िं े ु आहद.उसी तरह ए.एम.डी. कपिी क प्रमुख प्रोसेसर हैं क-5, क-6, ऐर्ेलॉि आहद. प्रोसेसर की क्षमता हटथ ि िं े े े में िापी िाती है . प्रोसेसर कम्प्यूटर की मैमोरी में रखे हुए सिंदेशों को क्रमबद्ध तरीक से पढता है े और कर्र उिक अिुसार काम करता है . सेन्ट्रल प्रोसेससिंग यूनिट (सी.पी.यू.) को े
  • 4. पुिः तीि भागों में बािंटा िा सकता है 1. कन्ट्रोल यूनिट 2. ए.एल.यू. 3. मैमोरी या स्मनत ृ कन्रोल यूननट कन्ट्रोल यूनिट कम्प्यूटर की समस्त गनतविधधयों को निदे सशत ि नियिंत्रित करता है . कन्ट्रोल यूनिट का कायथ कम्प्यूटर की इिपुट एििं आउटपुट युजक्ट्तयों को भी नियन्िण में रखिा है. कन्ट्रोल यूनिट क मुख्य े कायथ है – 1. सिथप्रर्म इिपुट युजक्ट्तयों की सहायता से सूचिा/डेटा को कन्ट्रोलर तक लािा. 2. कन्ट्रोलर द्िारा सूचिा/डेटा को मैमोरी/स्मनत में उधचत स्र्ाि प्रदाि करिा. ृ 3. स्मनत से सूचिा/डेटा को पुिः कन्ट्रोलर में लािा एििं इन्हें ए.एल.य. में भेििा. ू ृ 4. ए.एल.यू.से प्रा्त पररणामों को आउटपुट युजक्ट्तयों पर भेििा एििं स्मनत में उधचत स्र्ाि प्रदाि करिा. ृ ए.एल.यू. ए.एल.यू यानि अर्थमेहटक एण्ड लॉजिकल यूनिट. यह कम्प्यूटर की िह इकाई िहािं सभी प्रकार की गणिाएिं की िा सकती है , िैसे िोड़िा,घटािा या गुणा-भाग करिा. ए.एल.यू कट्रोल युनिट क निदे शों पर िं े काम करती है . मैमोरी/स्मनि ृ ककसी भी निदे श, सूचिा अर्िा पररणाम को सिंधचत करक रखिा ही स्मनत े ृ कहलाता है . कम्प्यूटर क सी.पी.य. में होिे िाली समस्त कक्रयायें सिथप्रर्म े ू स्मनत में िाती है . तकिीकी रूप में मेमोरी कम्प्यूटर का सिंग्रहदािी है . ृ मेमोरी कम्प्यूटर का अत्यधधक महत्िपूणथ भाग है िहािं डाटा, सूचिा और प्रोग्राम प्रकक्रया क दौराि जस्र्त रहते हैं और आिश्यकता पड़िे पर तत्काल े उपलब्ध होते हैं.मैमोरी मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है . 1. रै म (RAM) : रै म यानि रैंडम एक्ट्सैस मैमोरी.यह एक कायथकारी मैमोरी है यानि यह तभी काम करती है िब आप कम्प्यटर पर काम कर रहे होते हैं. कम्प्यटर क बन्द करिे पर रै म में सिंग्रहहत सभी सचिाऐिं िष्ट े ू ू ू हो िाती हैं. कम्प्यूटर क चालू रहिे पर प्रोसेसर रै म में सिंग्रहहत आिंकड़ों और सूचिाओिं क आधार पर काम े े करता है. इस मैमोरी पर सिंग्रहहत सूचिाओिं को प्रोसेसर पढ़ भी सकता है और उिको पररिनतथत भी कर सकता है .
  • 5. 2. रौम (ROM) : रौम यानि रीड ऑिली मैमोरी. िैसा कक िाम से ही स्पष्ट है कक इस मैमोरी में सिंग्रहहत सूचिा को किल पढ़ा े िा सकता है उसे पररिनतथत िहीिं ककया िा सकता.कम्प्यूटर क े बिंद होिे पर भी रौम में सूचिाऐिं सिंग्रहहत रहती हैं िष्ट िहीिं होती. मदरबोर्ड : यह एक तरह से कम्प्यूटर की बुनियाद है .कम्प्यूटर का प्रोसेसर, विसभन्ि प्रकार क काडथ िैसे डडस््ले काडथ, साउिं ड े काडथ आहद मदरबोडथ पर ही स्र्ावपत ककये िाते हैं. पैररफरल्स : पैररर्रल्स हाडथिेयर क िह इलेक्ट्ट्रो-मैकनिकल भाग हैं िो सीपीयू में बाहर से िोड़े िाते हैं. ये े ै े सीपीयू को प्रोग्राम्पड निदे श या आिंकड़े उपलब्ध कराते हैं और सीपीयू द्िारा प्रोसेस्ड िािकारी को ग्रहण करते हैं. पैररर्रल्स को भी अलग अलग श्रेणणयों में विभाजित ककया िा सकता है . ै कम्प्यूटर क मुख्यत: दो हहस्से होते हैं. े 1. हाडथिेयर (Hardware) 2. सॉफ्टिेयर (Software) हार्डिेयर : कम्प्यूटर क भौनतक हहस्से जिन्हे हम दे ख या छ े ू सकते हैं िो हाडथिेयर कहलाते हैं. ये भाग मशीिी (मैकनिकल),इलेक्ट्ट्रीकल (electrical) या इलेक्ट्ट्रोनिक े (electronic) हो सकते हैं. हर कम्प्यूटर का हाडथिेयर अलग अलग हो सकता है . यह इस बात पर निभथर करता है कक कम्प्यूटर ककस उद्दे श्य क सलये प्रयोग में लाया े िा रहा है और व्यजक्ट्त की आिश्यकता क्ट्या है . एक कम्प्यूटर में विसभन्ि तरह क हाडथिेयर होते है जििमें े मख्य हैं.सी.पी.य. (CPU), हाडथ डडस्क (Hard Disk) , रै म (RAM), प्रोसेसर (Processor) , मॉिीटर ु ू (Monitor) , मदर बोडथ (Mother Board) ,फ्लॉपी ड्राइि आहद. इिकी हम विस्तार से चचाथ आगे करें गें. कम्प्यटर क कबल, पािर स्लाई यनिट,की बोडथ (Keyboard) , माउस (Mouse) आहद भी हाडथिेयर क े े े ू ु अिंतगथत आते हैं. की बोडथ , माउस , मॉिीटर , माइक्रोर्ोि , वप्रिंटर आहद को कभी कभी पेररर्रल्स े (Peripherals) भी कहा िाता है .
  • 6. सॉफ्टिेयर : कम्प्यूटर हमारी तरह हहन्दी या अिंग्रेिी भाषा िहीिं समझता.हम कम्प्यूटर को िो निदे श दे ते हैं उसकी एक नियत भाषा होती है . इसे मशीि लैंग्िेि या मशीि की भाषा कहा िाता है . इसी मशीि की भाषा में हदये िािे िाले निदे शों को प्रोग्राम (Program) कहते हैं. ‘सॉफ्टिेयर’ उि प्रोग्रामों को कहा िाता है , जििको हम हाडथिेयर पर चलाते हैं और जििक द्िारा हमारे सारे काम कराए िाते हैं त्रबिा सॉफ्टिेयर क े े कम्प्यूटर से कोई भी काम करा पािा असिंभि है . मुख्यत: सॉफ्टिेयर दो प्रकार क होते हैं । े 1. भसस्टम सॉफ्टिेयर “भसस्टम सॉफ्टिेयर” ऐसे प्रोग्रामों को कहा िाता है , जििका काम ससस्टम अर्ाथत कम्प्यूटर को चलािा तर्ा उसे काम करिे लायक बिाए रखिा है .ससस्टम सॉफ्टिेयर की सहायता से ही हाडथिेयर अपिा निधाथररत काम करता है . ऑपरे हटिंग ससस्टम, कम्पपाइलर आहद ससस्टम सॉफ्यिेयर क मुख्य भाग हैं । े 2. ए्लीकशन सॉफ्टिेयर े “ए्लीकशन सॉफ्टिेयर” ऐसे प्रोग्रामों को कहा िाता है , िो हमारे रोिमराथ क कामों को कम्प्यूटर में े े अधधक तेिी और सरलता से करिे में मदद करते हैं.आिश्यकतािुसार सभन्ि-सभन्ि उपयोगों क सलए े सभन्ि-सभन्ि ए्लीकशि सॉफ्टिेयर होते हैं. िैसे सलखिे क सलये, आिंकड़े रखिे क सलये, गािा ररकॉडथ े े े करिे क सलये, िेति की गणिा, लेि-दे ि का हहसाब, िस्तुओिं का स्टाक आहद रखिे क सलये सलखे गए े े
  • 7. प्रोग्राम ही ए्लीकशि सॉफ्टिेयर हैं. े