Samaj par filmon ka prabhav
Upcoming SlideShare
Loading in...5
×
 

Samaj par filmon ka prabhav

on

  • 1,548 views

 

Statistics

Views

Total Views
1,548
Views on SlideShare
1,548
Embed Views
0

Actions

Likes
0
Downloads
7
Comments
0

0 Embeds 0

No embeds

Accessibility

Categories

Upload Details

Uploaded via as Microsoft Word

Usage Rights

© All Rights Reserved

Report content

Flagged as inappropriate Flag as inappropriate
Flag as inappropriate

Select your reason for flagging this presentation as inappropriate.

Cancel
  • Full Name Full Name Comment goes here.
    Are you sure you want to
    Your message goes here
    Processing…
Post Comment
Edit your comment

Samaj par filmon ka prabhav Samaj par filmon ka prabhav Document Transcript

  • कु छ बाते चलती भागती िजनदगी मे यूँ होती है िक उनहे भुलाना मुिशकल होता है | हमारे आस पास जो भीघटता है ,हम उस से पभािवत होते है |िफलमे समाज का आईना होती है इस िवषय पर मतभेद हो सकते है पर कोई भी िफलम अपने वक और समाज सेकट कर नही बन सकती. जरा याद कीिजये अना के समथरन esa o fujHk;k ds fy, balkQ dh xqgkj yxkrs gq ,कै डल माचर का आइिडया ‘रं ग दे बसनती’ िफलम ने हमे िदया िक हाँ हम भी दुिनया बदल सकते है. हम अपनीिफलमो को भले ही बहत गमभीरता से न लेते हो लेिकन सामािजक पिरवतरन मे इनकी एक बडी भूिमका रही है.लोगो की मानिसकता बदल ne ka काम िफलमो के दारा बेहतरीन तरीके से होता है. हमारे समाज और उसमेहोने वाली घटनाएँ हमेशा िफलमो के के द मे रही है . आजादी से पहले जब छु आ छू त पर बात करना मुिशकल था‘अछू त कनया’ जैसी िफलम ने बडे साथरक तरीके से इस समसया को लोगो के सामने रखा लोगो मे जागरकता भीिफलम की ही देन है।िसनेमा समाज का आईना है तो समाज भी इस से कही भीतर तक जुडा हआ है |agar kaha jaye ki aajhamari personality films se hi prerit hai to galat nai hoga.. hamare kapde, bolchal, rehan-sahan, sab par films ka prabhav dikhta hai. युवाओ मे फै शन को िफलमो ने ही बढावा िदया है। आजका युवावगर िफलमी दुिनया की चमक-दमक मे सवयं के मूलयो व आदशो को खोता जा raha hai िफर इंसानीिफतरत जलदी से बुरी बातो को िदमाग मे िबठा लेती है | aaj kal ki filme sab logon ke liye nahihoti hai .िहसा, अशीलता इतयािद की भरभार के कारण युवा इससे पभािवत हए है।हमे चािहए िक ऐसी िफलमे देखे जो हमारे जान को बढाएँ और अचछी बाते िसखाएँ। िफलमो का िवषय केतिवशाल है इसिलए इसके पभाव भी बहत ही सशक होता है।